एक बार फिर हिंदी में ही सारे कामकाज करने अाैर इससे नजदीकी बढ़ाने का संकल्प

Muzaffarpur News - सिटी रिपाेर्टर | मुजफ्फरपुर हिंदी विश्व की सबसे समृद्ध अाैर सरल भाषा है। हम इसका जितना इस्तेमाल करेंगे, यह उतनी...

Sep 15, 2019, 08:56 AM IST
सिटी रिपाेर्टर | मुजफ्फरपुर

हिंदी विश्व की सबसे समृद्ध अाैर सरल भाषा है। हम इसका जितना इस्तेमाल करेंगे, यह उतनी ही समृद्ध हाेगी। ये बातें हिंदी दिवस पर शनिवार काे अायाेजित विभिन्न कार्यक्रमाें में वक्ताअाें ने कहीं। दिवस पर हिंदी काे बढ़ावा देने काे लेकर विश्वविद्यालय-काॅलेज-स्कूल व जिले के विभिन्न शैक्षणिक-वित्तीय संस्थानाें, बार लाइब्रेरी समेत कमिश्नर, डीएम अाैर अन्य कार्यालयों में अलग-अलग कार्यक्रम हुए। प्रमंडलीय आयुक्त कार्यालय के सभागार में आयोजित कार्यक्रम में कमिश्नर पंकज कुमार ने कहा कि हिंदी पूरे देश काे एक कड़ी में बांधती है। इसका अधिक से अधिक इस्तेमाल करें। कहा कि किताबाें के अध्ययन से भाषा व व्याकरण का ज्ञान बढ़ता है अाैर इससे व्यक्तित्व का भी विकास हाेता है। सरल भाषा हाेने के कारण भी तुलसीदास रचित रामायण काफी लोकप्रिय हुई। उन्होंने हिंदी समाचार पत्राें में काफी पठनीय सामग्री दिए जाने काे लेकर पत्रकाराें की सराहना की। मौके पर आयुक्त के सचिव श्याम किशोर, उप जनसंपर्क निदेशक विदुभूषण प्रसाद अादि ने भी विचार रखे। उधर, कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित कार्यक्रम में डीएम अालाेक रंजन घाेष ने अधिकारियाें-कर्मचारियों काे हिंदी में कामकाज करने की शपथ दिलाई। कहा कि हिंदी विश्व की सबसे अच्छी भाषा है। बाेलने के साथ-साथ लिखने में भी इसका प्रयोग करें। मौके पर डीडीसी उज्ज्वल सिंह, अपर समाहर्ता राजेश कुमार, अपर समाहर्ता अापदा प्रबंधन अतुल वर्मा, एसडीआे पूर्वी डाॅ. कुंदन कुमार, एसडीआे पश्चिमी अनिल दास, डीपीआरओ कमल सिंह समेत सभी अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।


हिंदी दिवस पर आयोजित संगाेष्ठी काे संबाेधित करते प्रमंडलीय आयुक्त।

बार लाइब्रेरी में हिंदी दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में अधिवक्तागण।

कवि सम्मेलन में गूंजती रहीं तालियां

मुजफ्फरपुर | हिंदी दिवस पर राष्ट्रीय कवि संगम व राष्ट्रीय रंगलाेक संस्था की अाेर से दामूचक स्थित कार्यालय मेंे अायाेजित कवि सम्मेलन में प्रस्तुत कविता पर तालियां गूंजती रहीं। कवि केदार अाेझा ने “जिंदगी तेरे ही सांचे में ढल रहा हूंं...’, कुमार सागर ने “हर अादमी मुकम्मल हाे, यह जरूरी ताे नहीं...’, गाैतम ने “दरिया प्रेम से मीठा लगता अाैर सागर खाड़ लगते हैं...’ ने काव्य पाठ से भरपूर मनाेरंजन किया। अध्यक्षता करते हुए वरिष्ठ साहित्यकार प्राे. डाॅ. कुमार िवरल ने कहा कि हमारे घर के चूल्हे भी हिंदी के कारण ही जलते हैं। इसकी रक्षा के लिए लाेगाें काे जागरूक करना हाेगा। माैके पर गीतकार अमिर हमज़ा, रंगकर्मी सुमन वृक्ष ने हिंदी की महत्ता पर प्रकाश डाले। जबकि बाल कवि साैरव ठाकुर, श्रवण कुमार, सुदर्शन प्रकाश, शाैर्यानंद, राजेश कुमार, मुन्ना कुमार अादि ने भी काव्य पाठ किया।

हिंदी विश्व की सबसे समृद्ध और सरल भाषा; हम जितना करेंगे इस्तेमाल, यह उतनी लोकप्रिय होगी

कलेक्ट्रेट सभागार में हिंदी में काम करने की शपथ लेते डीएम समेत अन्य अधिकारी अाैर कर्मचारी।

एलएस काॅलेज में 15 दिनाें तक विभिन्न विभागाें में हाेगी हिंदी लेखन कार्यशाला

हिंदी अपने बूते वैश्विक पहचान बना चुकी है, लेकिन दुर्भाग्यवश देश में ही यह राष्ट्रभाषा का रूप नहीं ले सकी। हमें ताे हिंदी पर गर्व हाेना चाहिए। ये बातें डीसी काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. रामनेरश पंडित ने एलएस काॅलेज में हिंदी दिवस पर अायाेजित समाराेह में कहीं। उन्हाेंने कहा कि विदेशाें में हिंदी में काफी शाेध हाे रहे हैं। लेकिन यह राष्ट्रभाषा का रूप ले सके, इसके लिए शिक्षकाें, साहित्यकाराें व शिक्षाविदाें काे अागे अाना हाेगा। एलएस काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. अाेपी राय ने कहा कि हिंदी पखवाड़ा के तहत काॅलेज के विभिन्न विभागाें में 15 दिनाें तक हिंदी लेखन कार्यशाला हाेगी। इसमें लेखक व रचनाकार बुलाए जाएंगे। इस माैके पर प्राे. नारायण दास, प्राे. अजीत कुमार, प्राे. श्यामनंदन, प्राे. अालाेक श्रीवास्तव, प्राे. राकेश कुमार, प्राे. एनएन मिश्रा, प्राे. अवधेश कुमार, प्राे. रितुराज, डाॅ. ललित किशाेर अादि ने भी विचार रखे।

कलेक्ट्रेट में निबंध प्रतियोगिता, बेहतर लिखनेवाले अधिकारी-कर्मी पुरस्कृत

कलेक्ट्रेट सभागार में सही पोषण-देश राेशन विषय पर हिंदी में निबंध प्रतियोगिता कराई गई। इसमें बेहतर निबंध लिखने वाले अधिकारी व कर्मचारी पुरस्कृत किए गए। डीएम ने वरीय उप समाहर्ता शिवशंकर प्रसाद काे प्रथम तथा जिला लेखा अधिकारी विजय सिंह को द्वितीय पुरस्कार प्रदान किया। कर्मचारियों में अमरेंद्र कुमार काे प्रथम, अरविंद तिवारी काे द्वितीय व कमलेश कुमार को तृतीय पुरस्कार तथा अरुण मिश्रा और आलोक द्विवेदी को सांत्वना पुरस्कार मिला। इस दाैरान डीडीसी उज्ज्वल सिंह, अपर समाहर्ता राजेश कुमार, अतुल वर्मा अादि उपस्थित थे।


इनरव्हील क्लब ने हेरिटेज गर्ल्स स्कूल में कराई निबंध प्रतियाेगिता

हिंदी दिवस पर छात्राओं को पुरस्कृत करती इनरव्हील क्लब अाॅफ मुजफ्फरपुर की टीम।

जिला शिक्षा कार्यालय में हिंदी को प्रोत्साहित करने का संकल्प दिलाते डीईओ।

हिंदी में कामकाज करने के लिए शिक्षा

विभाग कार्यालय में दिलाई गई शपथ

मुजफ्फरपुर | कंंबाइंड बिल्डिंग स्थित जिला शिक्षा विभाग कार्यालय में हिंदी दिवस पर अधिकारियाें व कर्मचारियाें काे सभी कामकाज हिंदी में करने की शपथ डीर्इअाे डाॅ. विमल ठाकुर ने दिलार्इ। उन्हाेंने कहा कि िंहंदी राजभाषा व हमारी पहचान है। इसे बढ़ावा देने के लिए सबकाे मिलकर मुहिम चलानी हाेगी। विद्यालय व काॅलेज समेत सभी शिक्षण संस्थानाें में स्टूडेंट्स काे इसके महत्व बताने हाेंगे। शिक्षकाें काे भी इस पर ध्यान देना हाेगा। वे वर्ग में बच्चाें से ज्यादा से ज्यादा हिंदी में बात करें। साथ ही विभाग के अधिकारी-कर्मचारी बाेलचाल के साथ-साथ कामकाज भी हिंदी में निपटाएं। माैके पर माे. फारूक समेत अन्य ने भी संबाेधित किया। जबकि राजेश कुमार, रविकांत, विनाेद तिवारी, राजेंद्र कुमार, सुबाेध कुमार अादि उपस्थित थे।

मुजफ्फरपुर | हिंदी दिवस पर इनरव्हील क्लब अाॅफ मुजफ्फरपुर की अाेर से हेरिटेज गर्ल्स स्कूल में निबंध प्रतियाेगिता का अायाेजन किया गया। छात्राअाें ने मां की ममता विषय पर अपनी भावनाअाें काे लेख के रूप में प्रस्तुत किया। बाद में सर्वश्रेष्ठ लेखन के लिए छात्राअाें काे पुरस्कृत किया गया। इस माैके पर अध्यक्ष लिली साहू, सचिव गार्गी, संगीता वर्मा, अर्चना वर्मा, विनीता चाैधरी, रेखा साेनी, एसडी राॅय अादि ने विचार रखे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना