उर्स शेरे बिहार के अंतिम दिन मजार पर चादरपोशी

Muzaffarpur News - मकसुदपुर गांव स्थित मदरसा जामिया कादरिया के प्रांगण में शेरे बिहार मुफ्ती असलम रिजवी की आठवीं बरसी पर लगने वाले...

Oct 12, 2019, 08:30 AM IST
मकसुदपुर गांव स्थित मदरसा जामिया कादरिया के प्रांगण में शेरे बिहार मुफ्ती असलम रिजवी की आठवीं बरसी पर लगने वाले तीन दिवसीय उर्स शेरे बिहार का समापन शुक्रवार की अलस्सुबह उनके मजार पर चादरपोशी व दुआ के साथ ही हो गया। गुरुवार की रात उर्स को संबोधित करते हुए छत्तीसगढ़ से आए मौलाना कमरुज्जमां ने कहा कि शेरे बिहार मुफ्ती असलम रिजवी की तरजे जिंदगी पर चलना उनकी सच्ची श्रद्धांजलि होगी। वहीं यूपी के बरेली से आए मौलाना अर्सलान मियां ने कहा कि शेरे बिहार ने अंधकार में तालीम का चिराग जला कर लोगों को राह दिखाई है, जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता। मौलाना डॉक्टर नजमुल कादरी ने कहा कि जब जब लोग अंधकार में जाते हैं, तब समाज को रौशनी दिखाने के लिए शेरे बिहार जैसे महापुरुष का दुनिया में आगमन होता है। रात भर चले तकारीर, शेरो शायरी के उपरांत मदरसे से फारीग 30 बच्चों के सर पर मौलाना अर्सलान मियां व सदारत कर रहे सज्जादानशीं हजरत मौलाना अरसद रजवी ने दस्तारबंदी की। उर्स काे मुख्य रूप से शायर उल्फत नूरी, नसीर रजा, तौकीर इलाहाबादी, रजा हुसैन, जौहर मुजफ्फरपुरी, असलम समेत कई लोगों ने संबोधित किया। विधायक डॉ. सुरेंद्र कुमार, इंसाफ मंच के राज्य पार्षद आफताब आलम, छात्र राजद नेता फैसल अनवर आदि ने चादरपोशी की।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना