12 आरोपितों के खिलाफ आरोप गठन के बिंदु पर सुनवाई पूरी, अन्य के खिलाफ सुनी जा रहीं दलीलें

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
क्राइम रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर

दिल्ली के साकेत स्थित विशेष पॉक्सो कोर्ट में गुरुवार को बालिका गृह कांड में आरोपितों के खिलाफ आरोप गठन के बिंदु पर सुनवाई हुई। इसमें आरोप गठन पर 5 आरोपितों ने सीबीआई द्वारा लगाए गए आरोपों से इनकार किया। कहा कि उनके खिलाफ मुकदमा चलाने के लिए पर्याप्त सबूत नहीं हैं। मामले से जुड़े एक आरोपित के वकील के अनुसार, मामले की सुनवाई कर रहे अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सौरभ कुलश्रेष्ठ के समक्ष दलील पेश की गई। अधिवक्ता शिविका सिंह ने कहा कि उन्होंने अदालत को बताया कि उनके खिलाफ सीबीआई के आरोप झूठे थे और उन्हें प्रमाणित करने के लिए कोई सबूत नहीं था। न्यायालय में अब तक 12 आरोपितों पर आरोप गठन के बिंदू पर सुनवाई पूरी हो चुकी है। सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली के साकेत कोर्ट में मामला स्थानांतरित किया था। इसमें छह माह के अंदर सुनवाई पूरी करते हुए फैसला सुनाया जाएगा। बता दें कि सीबीआई ने बालिकागृह के 33 पीड़ित बच्चियों समेत 102 लोगों की गवाही के आधार पर मामले में ब्रजेश ठाकुर समेत 21 आरोपितों के खिलाफ चार्जशीट दायर किया था। इसमें 21 आरोपित गिरफ्तार हो चुके हैं, एक महिला चिकित्सक का पता सत्यापन नहीं होने के कारण उसकी गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। इसी आधार पर फिलहाल साकेत कोर्ट में आरोप गठन की सुनवाई चल रही है।

बालिका गृह कांड के खिलाफ आज ऐपवा की हड़ताल
बालिका गृह कांड के खिलाफ शुक्रवार को ऐपवा ने महिला हड़ताल की घोषणा की है। कामगार महिलाएं शहर में मार्च निकाल कर महिला शोषण के विरुद्ध आवाज बुलंद करेंगी। गुरुवार को हरिसभा चौक स्थित कार्यालय में इस बाबत बैठक हुई। भाकपा माले के सचिव शत्रुघ्न सहनी ने कहा कि बिहार में महिलाएं सुरक्षित नहीं रह गई हैं। बालिका गृह कांड के बाद शासन-प्रशासन की विफलता उजागर हो चुकी है।

खबरें और भी हैं...