खुलासा / पैतृक संपत्ति के लिए सौतेले बेटे ने ही रची थी मां की हत्या की साजिश, बेटा और पति गिरफ्तार



गिरफ्तार आरोपी के बारे में जानकारी देते एसपी डॉ. सत्य प्रकाश। गिरफ्तार आरोपी के बारे में जानकारी देते एसपी डॉ. सत्य प्रकाश।
X
गिरफ्तार आरोपी के बारे में जानकारी देते एसपी डॉ. सत्य प्रकाश।गिरफ्तार आरोपी के बारे में जानकारी देते एसपी डॉ. सत्य प्रकाश।

  • सुगिया देवी हत्याकांड का खुलासा, मां की हत्या के लिए शूटर को 40 हजार रुपए की दी थी सुपारी
  • एसपी ने कहा-शूटरों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस कर रही छापेमारी

Dainik Bhaskar

Sep 15, 2019, 12:49 PM IST

मधुबनी. लौकही में चार दिन पूर्व गोली मारकर सुगिया देवी की हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड का खुलासा शनिवार को हो गया। पुश्तैनी संपत्ति के लिए पुत्रों ने ही अपने सौतेली मां के हत्या की सुपारी शूटर को दिया था। इसके बाद शूटर रविंद्र मेहता ने सुगिया देवी की गोली मारकर हत्या कर दी। उक्त जानकारी देते हुए एसपी डॉ. सत्य प्रकाश ने इस हत्या मामले में सुगिया देवी के बेटे कृष्ण देव मेहता व पिता लक्ष्मी मेहता को गिरफ्तार किया गया है।

 

गिरफ्तार कृष्ण देव ने बताया कि हमारे पिता लक्ष्मी मेहता ने दो शादी की है। इससे एक मां से हम चार भाई व दूसरी से चार पुत्री हैं। इसी दौरान पैतृक घर को लेकर विवाद चल रहा था। इसी दौरान मृतिका सुगिया देवी के नाम पर उसके पिता ने आवासीय पुस्तैनी जमीन रजिस्ट्री कर दी। इसके बाद सुगिया देवी ने अपने सौतेले बेटा को घर खाली कराने को लेकर दबाव बनाने लगी। इसके बाद संपत्ति पर कब्जा करने को लेकर सुगिया देवी की हत्या का साजिश की गई। 

 

एसपी डॉ. सत्य प्रकाश ने बताया कि सुगिया देवी के सौतेले बेटे कृष्णदेव मेहता के सौतेले बेटा की गिरफ्तारी के बाद हत्या का खुलासा कर लिया गया है। साथ फरार दूसरा बेटा रमेश मेहता व दो बाइक सवार सवार होकर गोली मारने आए चार शूटर रविन्द्र कुमार के साथ अन्य की भी पहचान कर ली गई है। इसके छापेमारी को लेकर लगातार छापेमारी की जा रही है। एसपी ने बताया कि वहीं दूसरी ओर लौकही क्षेत्र से 9 सितंबर को चॉननपट्टी में अपराधियों ने मोबाइल, बाइक व सात हजार रुपए लूट लिया था।

 

ओझा की बातों में आकर रची हत्या की साजिश
जब सुगिया देवी ने बेटे पर घर खाली कराने का दबाव बनाने लगी। तो बेटा कृष्णदेव मेहता व रमेश मेहता घर खाली कराने से इंकार कर दिया। साथ ही उसे जान से मार देने की धमकी देने लगा। इसी दौरान दो माह पूर्व संजय मेहता की तबीयत खराब हो गई। जिसे ओझा से दिखाने के बाद ओझा ने बताया कि घर में ही सौतेली मां डायन है। जबतक ये रहेंगी तबतक सभी बेटा इसी तरह बीमार पड़ता रहेगा। इसके बाद रमेश मेहता, लक्ष्मी मेहता व कृष्णदेव मेहता अापस में बैठकर मृतका सुगिया देवी की हत्या की साजिश रची। 

 

वहीं रमेश मेहता ने अपराधी रविन्द्र को 40 हजार में सुगिया देवी को गोली मारने की सुपारी दी। अग्रिम 20 हजार देकर 20 हजार गोली मारने के बाद देने का बात तय की थी। इसके बाद 11 सितंबर को शूटर रविन्द्र कुमार ने दो बाइक पर चार लोगों के साथ आकर सुगिया देवी को गोली मारकर फरार हो गया।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना