पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्काॅर्पियाे के उड़े पुर्जे-पुर्जे, चदरा काट घायलों व शवाें काे ग्रामीणों ने निकाला

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

एनएच-28 पर कांटी के टरमा में भीषण दुर्घटना में टक्कर इतनी जोरदार थी कि स्काॅर्पियो का सामने वाला हिस्सा चकनाचूर हाे गया। एक तरह से वाहन के परखचे उड़ गए। ट्रैक्टर के पीछे से इतनी तेज गति में टक्कर हुई कि ट्रैक्टर की ट्रॉली फट गई। ट्रेलर पर लदे ईंट उड़ कर 50 मीटर तक फैला गए। ट्रॉली की धुरी के साथ बड़े पहिए अलग हाे गए। ट्रेलर पर बैठा मजदूर गोकुल माझी ईंट के साथ उड़ कर 30 मीटर दूर जा गिरा। उसका शव रेलिंग के किनारे ईंट के पास मिला। आसपास के गांव के लाेग जब पहुंचे, ताे घायल व मृतक स्काॅर्पियो में फंसे थे। घायल कराह रहे थे। फंसे हुए घायलों काे ग्रामीणों ने चदरा काट कर निकाला। चीख-पुकार के बीच काेई राॅड, ताे काेई बांस से चदरे काे उनाह कर घायलों काे निकाल रहे थे। दुर्घटनास्थल टरमा से लेकर एसकेएमसीएच अाैर डीहजीवर तक कोहराम मचा रहा। डीएम डाॅ. चंद्रशेखर सिंह, प्रशासनिक अाैर पुलिस अधिकारी दाैड़-भाग करते रहे। माैके पर अापदा प्रबंधन के एडीएम अतुल कुमार वर्मा, एसडीअाे पूर्वी डाॅ. कुंदन कुमार, एसडीअाे पश्चिमी अनिल कुमार दास, डीएसपी टाउन सहित अन्य अधिकारी कैंप कर रहे हैं। डीएम ने कहा कि मृतकाें के आश्रितों काे प्रावधान के अनुसार चार-चार लाख रुपए का चेक उपलब्ध कराया गया है। प्रावधान के अनुसार सभी सरकारी सहायता उपलब्ध कराए जाएंगे। दाे घायलों काे नाेबल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था अाैर एक काे पटना रेफर किया गया था। डीएम चिकित्सा व्यवस्था की हर गतिविधि की जानकारी लेते रहे। पटना रेफर किए गए राेहित कुमार का बेहतर इलाज हाे इसके लिए भी प्रशासनिक स्तर पर पहल की गई। गांव व परिवार की महिलाओं के राेने से अस्पताल का माहाैल भी गमगीन हाे गया। पोस्टमार्टम की प्रक्रिया शीघ्र पूरी हाे जाए इसके लिए एसडीआे पूर्वी कुंदन कुमार अाैर डीएसपी पश्चिमी कृष्णमुरारी प्रसाद एसकेएमसीएच में डटे रहे। मीनापुर के चैनपुर के मुखिया व जुब्बा सहनी के पाैत्र अजय सहनी, जदयू महादलित प्रकोष्ठ के प्रखंड अध्यक्ष अशोक राम समेत कई जनप्रतिनिधि अस्पताल से लेकर मृतकों के गांव डीहजीवर तक पहुंचे।

स्काॅर्पियाे मंे इस तरह फंसे थे लाेग
खबरें और भी हैं...