विज्ञापन

यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट इंफॉर्मेशन सिस्टम लागू होने पर मिलेगी छात्रों को सुविधा

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 04:15 AM IST

Muzaffarpur News - एजुकेशन रिपोर्टर|मुजफ्फरपुर बीआरए बिहार विवि में यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट इंफॉर्मेशन सिस्टम के लागू होते ही...

Muzaffarpur News - university management information system will be available to students
  • comment
एजुकेशन रिपोर्टर|मुजफ्फरपुर

बीआरए बिहार विवि में यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट इंफॉर्मेशन सिस्टम के लागू होते ही छात्र-छात्राओं को एडमिशन से लेकर डिग्री हासिल करने में सहूलियत होगी। दूसरी ओर नई व्यवस्था लागू होते ही छात्रों की जेब पर फीस बढ़ोतरी का थोड़ा बोझ भी पड़ सकता है, लेकिन विवि की ओर से बताया जा रहा है कि यह बढ़ोतरी काफी कम होगी। ऐसे में कोर्सों की फीस में बढ़ोतरी होना लगभग तय माना जा रहा है। फीस में बढ़ोतरी कितनी होगी इसको लेकर विवि के अधिकारियों में मंथन चल रहा है। यूएमआईएस से यूजी, पीजी से लेकर सभी वोकेशनल कोर्सों में छात्रों का नामांकन होगा। उसी वक्त छात्रों से वसूली गई फीस से ही उन्हें एडमिट कार्ड से लेकर रजिस्ट्रेशन और यहां तक डिग्री के लिए किसी अन्य प्रकार का शुल्क नहीं देना होगा। राजभवन ने विवि को दोबारा सख्ती से निर्देश दिए हैं कि 31 मार्च तक हर हाल में यूएमआईएस को विवि स्तर पर लागू कर दिया जाए। बताया जा रहा है कि इसके लिए विवि ने एजेंसी का भी चयन कर लिया है। वहीं इसके लिए पिछले दिनों संबंधित एजेंसी ने विवि को अपना प्रजेंटेशन भी दिखाया है।

बढ़ेगी फीस, नामांकन से लेकर डिग्री तक एक ही शुल्क में होगी पूरी

पेंडिंग रिजल्ट से भी मिलेगा छुटकारा, चक्कर लगाने से बचेंगे

यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट इंफॉर्मेशन सिस्टम लागू होने से छात्रों को यूनिक रजिस्ट्रेशन आईडी मिलेगा। इसमें उसकी पूरी जानकारी आसानी से मिलेगी। इसमें कॉलेज, सत्र, क्रमांक, रजिस्ट्रेशन और कोर्स की जानकारी मिलेगी। इसके लागू होने से सबसे अधिक फायदा छात्र-छात्राओं को होगा। हर वर्ष टीडीसी की हर परीक्षा में पेंडिंग रिजल्ट से छात्र-छात्राओं को परेशानी का सामना करना पड़ता है। विवि में दूसरे जिलों से छात्र-छात्राएं पहुंचकर समस्याएं से निजात पाने के लिए चक्कर काटते रहते हैं।

बीएससी एंवायरन्मेंटल साइंस के रेगुलेशन को नहीं मिली राजभवन से मंजूरी

मुजफ्फरपुर | बीएससी एंवायरन्मेंटल साइंस के ऑर्डिनेंस रेगुलेशन को राजभवन से मंजूरी नहीं मिली है। इसको लेकर गठित एडवाइजरी कमेटी ने कहा है कि विवि की ओर से भेजा गया प्रस्ताव की ड्राफ्टिंग सही तरीके से नहीं की गई थी। यह जानकारी राजभवन के ओएसडी ने विवि के रजिस्ट्रार को पत्र भेजकर दी है। उन्होंने कहा है कि 6 मार्च को एडवाइजरी कमेटी की बैठक में कोर्स के प्रस्ताव पर चर्चा की गई। उस दौरान कुछ कमियां पाई गईं थीं। ऐसे में विवि के कुछ वरिष्ठ पदाधिकारियों को संबंधित दस्तावेज लेकर राजभवन पहुंचकर एडवाइजरी कमेटी की अगली बैठक में इस पर चर्चा करनी चाहिए। उल्लेखनीय है कि यूजीसी की ओर से बीआरए बिहार विवि को पिछले दिनों पत्र भेजकर यह निर्देश दिया गया था कि शैक्षणिक सत्र 2019-20 से एंवायरन्मेंटल साइंस की पढ़ाई शुरू करने का निर्देश दिए थे। इसी आधार पर विवि ने कोर्स का ऑर्डिनेंस-रेगुलेशन तैयार कर अनुमति के लिए राजभवन भेजा था।

थर्ड सेमेस्टर की परीक्षा से दो स्टूडेंट्स निष्कासित

मुजफ्फरपुर | बीआरए बिहार विवि की पीजी थर्ड सेमेस्टर की परीक्षा में शनिवार को नकल के आरोप में 2 स्टूडेंट्स को निष्कासित कर दिया गया। एक छात्रा इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग और दूसरी बॉटनी की छात्रा है। केंद्राधीक्षक डॉ. बीके राय ने बताया कि बाकी परीक्षा पूरी तरह शांतिपूर्ण रही।

X
Muzaffarpur News - university management information system will be available to students
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन