• Hindi News
  • Bihar
  • Muzaffarpur
  • Muzaffarpur News university sent a ruckus to science college for forcibly selling prospectus to 143 lakh students sent to colleges

विवि ने कॉलेजों को भेजी 1.43 लाख छात्रों की सूची जबरन प्रोस्पेक्टस बेचने पर साइंस कॉलेज में हंगामा

Muzaffarpur News - एजुकेशन रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर बीआरएबीयू में यूजी में नामांकन के लिए आवेदन करने वाले छात्र-छात्राओं का रिकॉर्ड...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 08:51 AM IST
Muzaffarpur News - university sent a ruckus to science college for forcibly selling prospectus to 143 lakh students sent to colleges
एजुकेशन रिपोर्टर | मुजफ्फरपुर

बीआरएबीयू में यूजी में नामांकन के लिए आवेदन करने वाले छात्र-छात्राओं का रिकॉर्ड नहीं होने से विवि ने शुक्रवार को शुरू हुए एडमिशन प्रोसेस के दौरान सभी कॉलेजों में 1.43 लाख स्टूडेंट्स का लिस्ट भेज दिया। विवि ने कहा कि अपने स्तर से छांटकर छात्र-छात्राओं का आवेदन स्वीकार करने के बाद मेरिट लिस्ट निकालकर नामांकन की प्रक्रिया पूरी की जाए। स्नातक में नामांकन के लिए ऑनलाइन आवेदन होने से छात्रों का रिकॉर्ड निजी एजेंसी के पास है और उसने विवि को नहीं सौंपा है। निजी एजेंसी से काम नहीं कराए जाने का फैसला विवि पहले ही ले चुका है। आवेदन छांटकर नहीं भेजे जाने से कॉलेजों में पहले दिन काफी अफरातफरी का माहौल रहा। इस कारण कर्मचारियों व छात्रों के बीच नोकझोंक भी हुई। एमपीएस साइंस कॉलेज में छात्रों को जबरन प्रॉस्पैक्टस बेचे जाने का मामला सामने आया है। एडमिशन के लिए पहुंचने वाले छात्रों ने इसको लेकर हंगामा किया। जेवीएस छात्र संगठन के केशव सिंह व आशुतोष ठाकुर ने इसे लेकर विरोध किया। इसकी जानकारी डीएसडब्ल्यू को हुई, तो उन्होंने फोन कर मामले की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि छात्रों से किसी तरह का अतिरिक्त शुल्क नहीं लेना है। वहीं विवि ने कॉलेजों को भेजी गई जानकारी में स्पष्ट कर दिया था कि छात्रों से प्रॉस्पैक्टस और आवेदन फॉर्म के नाम पर शुल्क की वसूली नहीं करनी है।

डीएसडब्ल्यू ने फोन कर ली मामले की जानकारी, बोले- अतिरिक्त शुल्क नहीं लेना है

हंगामा कर रहे छात्रों को समझाते अधिकारी।

प्राचार्य ने विवि से भेजे आवेदन को लेने से किया इनकार

विवि की ओर से भेजे गए आवेदन में छात्रों के चॉइस का ख्याल नहीं रखा गया था। इस कारण छात्रों की भीड़ बढ़ गई थी। प्राचार्यों ने छात्रों का आवेदन लेने से इनकार कर दिया। इसके बाद उन्होंने डीएसडब्ल्यू से संपर्क कर जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हर छात्र का आवेदन लेना है।

रिकॉर्ड सौंपने के लिए पूर्व वीसी को राजभवन ने दिया था निर्देश

पिछले दिनों राजभवन में हुई बैठक में पूर्व वीसी प्रो. राजेश सिंह को छात्रों का रिकॉर्ड विवि को दिए जाने को लेकर निर्देश दिया गया था। लेकिन अब तक ऐसा नहीं होने से विवि को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में यह सवाल उठता है कि क्या विवि व्यवस्था व्यक्ति केंद्रित हो गई थी। इस कारण नामांकन की प्रक्रिया में इतनी अफरातफरी का आलम है।

एलएस काॅलेज के काॅमर्स विभाग में नामांकन के लिए लगी स्टूडेंट्स की लंबी कतार।

आरडीएस कॉलेज छात्रसंघ की ओर से लगाया गया आई हेल्प यू काउंटर

उधर, आरडीएस कॉलेज छात्रसंघ की ओर से यूजी में नामांकन के लिए पहुंचे स्टूडेंट्स की मदद को आई हेल्प यू काउंटर लगाया गया। अध्यक्ष राजाबाबू ने बताया, कम समय देने का कारण अफरातफरी का माहौल है। ऐसे में छात्रों की सहायता के लिए काउंटर लगाया गया है। इसमें फॉर्म भरने मे परेशानी का समाधान हुआ। मौके पर आफताब आलम सोने, गौतम सिंह, निखिल सिंह, अभिजीत सिंह थे।

Muzaffarpur News - university sent a ruckus to science college for forcibly selling prospectus to 143 lakh students sent to colleges
X
Muzaffarpur News - university sent a ruckus to science college for forcibly selling prospectus to 143 lakh students sent to colleges
Muzaffarpur News - university sent a ruckus to science college for forcibly selling prospectus to 143 lakh students sent to colleges
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना