--Advertisement--

गागन नदी में आई उफान से टूटा एनएच 227 लदनियां के दर्जन भर गांवों में फैला पानी

गांवों में बाढ़ का पानी सड़कों पर आ जाने के कारण लोगों को आने-जाने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

Dainik Bhaskar

Jul 03, 2018, 03:14 PM IST
Water spread in dozen villages of broken

मधुबनी. लदनियां प्रखंड के दर्जन भर गांवों में गागन नदी का पानी फैल गया है। गांवों में बाढ़ का पानी सड़कों पर आ जाने के कारण लोगों को आने-जाने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। प्रखंड के तेनुआही चौक पर एनएच 227 पानी के दबाव के कारण टूट गया है। यह सड़क लदनियां को जयनगर से जोड़ती है।

दोनबारी, पथलगाढ़ा, जानकीनगर, कमतोलिया व तेनुआही के साथ साथ आस पास के क्षेत्र डलोखर, खोजा व मिरजापुर समेत अन्य गांवों में गागन नदी का पानी भरा हुआ है। इन गांवों में तीन हजार एकड़ में लगे धान के बिचड़े को नुकसान पहुंचा है। इन गांवों में बाढ़ से निपटने के लिए प्रशासन की ओर से कोई व्यवस्था नहीं की गई है। इधर एसडीओ जयनगर शंकर शरण ओमी ने कहा कि स्थिति पर नजर रखी जा रही है। स्थिति अभी नियंत्रण में है। किसानों की हुई क्षति का जायजा लिया जाएगा।

सुरक्षित जगह किए गए चिह्नित
प्रशासन ने बाढ़ पूर्व की तैयारी में जुट गया है। बाढ़ पीड़ितों के लिए ऊंची जगह चिह्नित की जा रही है। अनाज से लेकर मेडिसिन एवं अन्य जरूरी सामान की व्यवस्था में कर्मी जुटे हुए हैं। नाव के भी इंतजाम किए गए हैं। लेकिन बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में बाढ़ से बचाव के लिए किसी प्रकार की ठोस व्यवस्था नहीं किए जाने से लोगों मे प्रशासन के विरुद्ध काफी नाराजगी है।

जनकपुर जाने वाली सड़क पर चार फीट पानी, टूटा संपर्क
एनएच 104 से हरलाखी से जनकपुरधाम नेपाल जाने वाली मुख्य सड़क के हरिणे गांव में 3 से चार फुट पानी लग गया है। इस गांव का नजारा किसी बाढ़ से कम नहीं है। उमगांव से हरिणे 40 से ज्यादा ऑटो प्रतिदिन चलते हैं लेकिन अत्यधिक जलजमाव हो जाने के कारण इन दिनों इस रूट पर ऑटो का परिचालन बंद हो गया है। जिस कारण भारत-नेपाल के सैकड़ों यात्री की परेशानी बढ़ गई है।

नेपाल में रुक-रुक हो रही है बारिश, कमला के जलस्तर में 1.6 मीटर की हुई वृद्धि
कमला नदी के जलस्तर में उतार-चढ़ाव जारी है। सोमवार की सुबह कमला के जल स्तर 1.6 मीटर अधिक आंका गया। जल स्तर बढ़ने एवं घटने का सिलसिला जारी है। रविवार को ही कमला की जल स्तर में 1.5 मीटर उछाल आई थी। नेपाली सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नेपाल के जल अधिग्रहण क्षेत्र में रुक-रुक भारी बारिश हो रही है। इस स्थिति में कमला के जल स्तर में और बढ़ोतरी हो सकती है। बारिश के मौसम में नेपाल के जल अधिग्रहण क्षेत्र में भारी बारिश होने पर कमला उफान पर होती है। कमला के जल स्तर में लगातार उतार-चढ़ाव के कारण सीमावर्ती क्षेत्र के एक लाख से अधिक लोगों को बाढ़ से तबाही का डर सताने लगे है। 2 सप्ताह पूर्व भी 17 जून को नेपाल के जल अधिग्रहण क्षेत्र में भारी बारिश होने से जयनगर स्थित कमला नदी के जल स्तर में करीब 2 मीटर की बढ़ोतरी हुई थी।

X
Water spread in dozen villages of broken
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..