खुदकुशी / ट्रेन से कटकर युवक ने दी जान, ग्रामीण बोले- प्रेमिका ने दूसरी जगह रचा ली थी शादी, इस कारण वह सदमे में था



नानपुर में घटना के बाद विलाप करते परिजन। नानपुर में घटना के बाद विलाप करते परिजन।
X
नानपुर में घटना के बाद विलाप करते परिजन।नानपुर में घटना के बाद विलाप करते परिजन।

  • 13 को हुई युवती की शादी और 14 को ट्रेन से कटकर युवक ने की खुदकुशी
  • शव की पहचान उसकी जेब से बरामद आधार कार्ड से की गई

Dainik Bhaskar

Mar 16, 2019, 11:21 AM IST

सीतामढ़ी.  सीतामढ़ी जिले के पुपरी थाना क्षेत्र के बिरौल गुमटी के समीप गुरुवार की रात प्रेम-प्रसंग में असफल होने पर एक युवक ने ट्रेन से कटकर जान दे दी। घटना के बाद युवक के शरीर चिथड़े-चिथड़े हो गए। शुक्रवार की सुबह टहलने निकले लोगों ने युवक के शव को देखा। मौत की खबर फैलते ही ग्रामीणों में अफरा-तफरी मच गई। 

 

लोग घटनास्थल की ओर दौड़ पड़े। देखते-ही-देखते घटनास्थल पर लोगों की भीड़ जुट गई। लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। एसआई शांति प्रकाश कुजूर ने घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की छानबीन की। वहीं, शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। यहां पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। मृतक की पहचान नानपुर थाना क्षेत्र के भदिहन निवासी एसपी कार्यालय के क्राइम शाखा में पदस्थापित चौकीदार मैनेजर दास के 18 वर्षीय पुत्र विक्की कुमार के रूप में हुई है। शव की पहचान उसकी जेब से बरामद आधार कार्ड से की गई।

 

क्षत-विक्षत शव को बोरी में बंद कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया
ट्रेन से कटने के कारण युवक के शव चिथड़े-चिथड़े हो गए थे। इस कारण उसके शव को बोरी में बंद कर सदर अस्पताल भेजा गया। यहां शव का पोस्टमार्टम करने में डॉक्टर को परेशानियों से जूझना पड़ा। वहीं उसके शव का अंतिम संस्कार उसी स्थिति में किया गया। 

 

'कोई हमरा बऊआ के बुला दा'
घटना के बाद मृतक के परिजनों में कोहराम मच गया। मां उर्मिला देवी, दादा राम अयोध्या दास, भाई खलेन्दर कुमार, बहन गुड़िया कुमारी का रो-रोकर बुरा हाल हो गया था। मां उर्मिला देवी कह रही थी। "हमर बऊया कहां गेल हो लोक सब, कोई हमरा बऊआ के बुला दा, हमर बऊआ हमरा छोड़ के कैसे चल गेल।'

 

वहीं वह पुत्र के वियोग में बार-बार बेहोश हो जा रही थी। मौजूद महिलाएं उसके शरीर पर पानी का छींटा मारकर होश में लाती थी। फिर वह बेहोश हो जाती थी। मृतक के दादा राम अयोध्या दास ने बताया कि उसका पोता इस साल 18 वर्ष का हुआ था। इंटर की परीक्षा दी थी। बताया कि विक्की फौज में जाना चाहता था। उसने सेना बहाली के लिए आवेदन भी दिया था।

 

गुरुवार को निकला था घर से
दादा ने बताया कि विक्की हमेशा उसी के साथ सोता था। गुरुवार की रात खाना खाने के बाद उसके साथ टीवी देख रहे थे। अचानक वह उठा और अपने बैग में कुछ ढूंढ़ने लगा। पूछने पर बोला कि एक कागज निकाल रहे हैं। इसके बाद सोने चले गये। दस बजे के करीब बेड पर जाकर देखा तो वह वहां नहीं था। उन्होंने बताया कि विक्की घर का प्यारा था। उसकी सभी मांग को पूरा किया जाता था। उसे पढ़ाई करने जाने के लिए बाइक दी गई, जिससे वह पढ़ने जाता था।

 

लड़की से फोन पर घंटों करता था बात
ग्रामीणों के अनुसार, युवक एक लड़की से दो साल से प्रेम करता था। उस लड़की से वह घंटों मोबाइल पर बातचीत किया करता था। उसके साथ शादी करना चाहता था। युवती उसे घर से भागकर शादी करने का दबाव दी थी। लेकिन वह परिजनों की सहमति से शादी कराना चाह रहा था। इसी बीच युवती की शादी 13 मार्च को हो गई। इस बात का सदमा विक्की बर्दाश्त नहीं कर सका और 14 की रात ट्रेन से कटकर अपनी जान दे दी।

 

मृतक के पिता के बयान पर यूडी केस दर्ज कर लिया गया है। पिता ने घटना में किसी के संलिप्त होने की बात नहीं कही है। मामले की विभिन्न पहलुओं की जांच की जा रही है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।  प्रवीण कुमार, थानाध्यक्ष

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना