लूट के 35 घंटे बाद भी पुलिस के हाथ खाली, एसपी ने की जांच

Nawada News - रजौली में निजी फायनेंस कंपनी के कर्मचारी से हुई बड़ी लूट की घटना में पुलिस के हाथ 35 घंटे बाद भी खाली है। लूट के बाद...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:25 AM IST
Nawada News - 35 hours after the robbery the police hands empty sp investigates
रजौली में निजी फायनेंस कंपनी के कर्मचारी से हुई बड़ी लूट की घटना में पुलिस के हाथ 35 घंटे बाद भी खाली है। लूट के बाद पुलिस शुक्रवार की रात को इधर-उधर दौड़ती रही। शनिवार की शाम को एसपी हरि प्रसाथ एस ने भी रजौली पहुंचकर मामले की जांच की। उन्होंने घटना स्थल, घटना की सीसीटीवी फुटेज देखने के अलावे लूट के शिकार हुए कर्मचारियों से भी पूछ-ताछ की। उन्होंने कई अन्य कर्मचारियों से जानकारी ली। इसके अलावा एएसपी अभियान कुमार आलोक और डीआईयू की टीम भी जांच में जुटी है। बता दें कि शुक्रवार को बेखौफ लुटेरों ने डीएसपी आवास के सामन वारदात को अंजाम देकर भागे पुलिस को खुली चुनौती दे दी है। पुलिस इसके उद्भेदन की कोशिश में है लेकिन अब तक किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है। कुछ लोग इसमें किसी बड़े गिरोह तो कई लोग स्थानीय अपराधियों के शामिल होने की आशंका जता रहे हैं। इसके अलावा लूट कांड में लाइजर की भूमिका के तौर पर फायनेंस कंपनी के कर्मचारियों पर भी शक हो रहा है।

दिनदहाड़े हुई थी लूट

बता दें कि शुक्रवार को बाइक सवार तीन लूटेरों ने एक निजी फायनेंस कंपनी के सहायक प्रबंधक से 14 लाख रुपए से अधिक की राशि लूट ली थी। हथियार के बल पर लूट की घटना को अंजाम देने के बाद लूटेरे हथियार लहराते ही बाइक से ही भाग निकले थे। कई जगहों पर पुछ-ताछ की गई लेकिन नतीजा नहीं निकला। हालांकि पुलिस इसे जल्द सुलझाने की बात कह रही है।

एसआईटी कर रही काम, जल्द खुलासे की कोशिश| एसपी हरि प्रसाथ एस ने बताया कि मामले की गंभीरता से जांच हो रही है। इस कांड के उदभेदन के लिए एसआईटी बनाई गई है। अलग-अलग टीमें इसमें काम कर रही है। जांच तेजी से हो रही है, बहुत जल्द ही अपराधियों को दबोच लिया जाएगा ।

क्राइम रिपोर्टर | नवादा

रजौली में निजी फायनेंस कंपनी के कर्मचारी से हुई बड़ी लूट की घटना में पुलिस के हाथ 35 घंटे बाद भी खाली है। लूट के बाद पुलिस शुक्रवार की रात को इधर-उधर दौड़ती रही। शनिवार की शाम को एसपी हरि प्रसाथ एस ने भी रजौली पहुंचकर मामले की जांच की। उन्होंने घटना स्थल, घटना की सीसीटीवी फुटेज देखने के अलावे लूट के शिकार हुए कर्मचारियों से भी पूछ-ताछ की। उन्होंने कई अन्य कर्मचारियों से जानकारी ली। इसके अलावा एएसपी अभियान कुमार आलोक और डीआईयू की टीम भी जांच में जुटी है। बता दें कि शुक्रवार को बेखौफ लुटेरों ने डीएसपी आवास के सामन वारदात को अंजाम देकर भागे पुलिस को खुली चुनौती दे दी है। पुलिस इसके उद्भेदन की कोशिश में है लेकिन अब तक किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है। कुछ लोग इसमें किसी बड़े गिरोह तो कई लोग स्थानीय अपराधियों के शामिल होने की आशंका जता रहे हैं। इसके अलावा लूट कांड में लाइजर की भूमिका के तौर पर फायनेंस कंपनी के कर्मचारियों पर भी शक हो रहा है।

प्लानिंग करके दिया वारदात को अंजाम

जिस तरह लूट की घटना को अंजाम दिया गया उससे साफ जाहिर होता है कि लूटेरों ने पहले फायनेंस कंपनी के कर्मचारी और आॅफिस की रेकी की थी। कयास लगाए जा रहे हैं कि लूटेरों ने लूट की जगह की भी रेकी कर रखा था और डीएसपी आवास से 100 मीटर पहले ही कर्मचारियों को रोकने की कोशिश की। हालांकि कंपनी के कर्मचारी आगे बढ गए और घटना डीएसपी आवास के पास हुई।

X
Nawada News - 35 hours after the robbery the police hands empty sp investigates
COMMENT