पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आस्था की बयार, कहीं प्रवचन तो कहीं महायज्ञ

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सूर्यमंदिर परिसर में पूजन करते श्रद्धालु।

स्थानीय लोग बोले-पहली बार हुआ ऐसा आयोजन

सिटी रिपोर्टर। नवादा

शहर के गढ़पर स्थित सूर्यमंदिर परिसर में चल रहे रुद्राभिषेक महायज्ञ एवं शिव महापुराण कथा का शुक्रवार को पार्थिव शिवलिंग विसर्जन के साथ समापन होगा। इसकी जानकारी देते हुए आयोजन समिति के महामंत्री शैलेश कुमार सिन्हा ने बताया कि रुद्राभिषेक का नेतृत्व कर रहे मुख्य पुरोहित कुंदन महाराज के अनुसार शुक्रवार काे पार्थिव शिवलिंग के विसर्जन के साथ समाप्ति होगी। शैलेश कुमार सिन्हा ने बताया शनिवार काे महायज्ञ एवं कथा समाप्ति के पश्चात महाभंडारे का आयोजन किया जाएगा। इसमें समस्त श्रद्धालु महाप्रसाद को पाएंगे।

स्थानीय नागरिक प्रकाश कुमार ने बताया कि इतने भव्य पैमाने पर पहली बार नवादा में कथा के साथ-साथ रुद्राभिषेक का कार्यक्रम किया गया है। मुख्य पुरोहित कुंदन महाराज के नेतृत्व में 21 ब्राह्मणों की टोली नवादा के सूर्यमंदिर को अपने मंत्रों से गुंजायमान कर दिया। नौ दिनों से गढ़पर मोहल्ले का नजारा मानो संस्कृत विद्यालय सा दिख रहा है। आयोजन में नवादा के साथ साथ रांची एवं बाहर के भी कई यजमानों ने शिरकत की। इस कार्यक्रम की सफलता में अध्यक्ष पवन कुमार सिन्हा, सचिव हेमंत कुमार, सदस्य चुनचुन सिंह, बबलू सिंह, गुड्डू सिन्हा, गौतम कुमार आदि लगे है।

मानव कर्म के लिए स्वतंत्र फल भोगने के लिए बाध्य
गांधी स्कूल में आयोजित प्रवचन के तीसरे दिन मानव कर्म का साध्वी अमृता भारती ने किया वर्णन
प्रवचन में कई महापुरुषों के जीवन का किया वर्णन

सिटी रिपोर्टर। नवादा

मनुष्य कर्म करने के लिए स्वतंत्र है लेकिन फल भोगने के लिए बाध्य है। इसलिए महापुरुषों ने कहा है कि जैसी करनी-वैसी भरनी के आधार पर उन्हें सुख या दुख मिलता है। यह बातें दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की साध्वी अमृता भारती ने शहर के गांधी इंटर स्कूल में रामचरितमानस एवं गीता ज्ञानयज्ञ के दौरान सत्संग में कही गई। साध्वी अमृता ने मानव को अच्छे कर्म मार्ग पर चलने हेतु कई महापुरुषों की जीवनी का वर्णन करते हुए प्रेरित किया।

परिवार के साथ पहुंचीं नगर परिषद् चेयरमैन

संस्थान के सत्संग में सपरिवार शिरकत करने पहुंची नवादा नगर परिषद् चेयरमैन पूनम चंद्रवंशी पहुंची। चेयरमैन ने पूरे परिवार के साथ दीप प्रज्ज्वलन कर आशुतोष महाराज का पूजन किया। उनके साथ रवि चंद्रवंशी, आयुषी, लक्की आदि ने भी पूजन किया।

इस दौरान अमित कुमार विश्वास, विपिन कुमार शाही, रौशन कुमार, उमेश सिंह, बुन्दु सिंह ने व्यवस्था में जुटे रहे।

भौतिकता की वजह से लोग शांति के लिए भटक रहे हैं
प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय का वार्षिकोत्सव

सिटी रिपाेर्टर| नवादा

विश्व में बंधुत्व एवं सामाजिक समरसता को लेकर कर रहे कार्य प्रजापति ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के नवादा शाखा के 12वें वर्ष पूरे होने पर वार्षिकोत्सव मनाया गया। वार्षिकोत्सव में विश्वविद्यालय से जुड़े लोग एवं कई बुद्धिजीवियों ने श्रद्धापूर्वक शिरकत की। कार्यक्रम में ब्रह्माकुमारी विश्वविद्यालय की स्थानीय मुख्यालय बिहारशरीफ से कार्यक्रम में शिरकत करने बहन पूनम एवं सहयोगी बबीता नवादा पहुंची। वार्षिकोत्सव में बहन पूनम ने अपने संबोधन में कहा कि प्रजापति ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की स्थापना दादा लेखराज द्वारा किया गया था।

विश्व के समस्त धर्मों में है शांति : बहन पूनम

आज समाज में बढ़ती भौतिकतावाद के वजह से लोग शांति की तलाश में इधर-उधर भटक रहे है। लेकिन शांति व्यक्ति के अंदर है। बहन पूनम ने कहा कि शांति के लिए किसी अन्य धर्म की नहीं, बल्कि विश्व में व्याप्त धर्मों को आत्मसात करने में ही असली शांति है और ब्रह्राकुमारी विवि की स्थापना का उद्देश्य भी यही है। वार्षिकोत्सव कार्यक्रम में जिला निर्वाचन पदाधिकारी श्रीनिवास, प्रोजेक्ट कन्या विद्यालय के पूर्व प्रधानाध्यापक सुरेश प्रसाद सिंह, डाॅ मनोज कुमार, डाॅ पिंकी वर्णवाल, विजय शंकर पाठक, विवि के नवादा शाखा की प्रबंधक बहन अनुपमा देवी, आनंदी देवी आदि थे।

खबरें और भी हैं...