• Hindi News
  • Bihar
  • Nawada
  • Rajuli News minor vehicles running in the streets of the market and on the main roads there are accidents

बाजार की गलियों में और मुख्य सड़कों पर नाबालिग दौड़ा रहे वाहन, होते रहते हैं हादसे

Nawada News - रजौली मुख्यालय में अभिभावकों की जरा सी लापरवाही और बच्चों के प्रति उनका प्यार सड़कों पर हादसों का कारण बन सकता...

Feb 15, 2020, 09:36 AM IST
Rajuli News - minor vehicles running in the streets of the market and on the main roads there are accidents

रजौली मुख्यालय में अभिभावकों की जरा सी लापरवाही और बच्चों के प्रति उनका प्यार सड़कों पर हादसों का कारण बन सकता है। इसलिए अभिभावकों को अपने बच्चों को यातायात नियमों की जानकारी और नियमों के प्रति जागरूक करना चाहिए ताकि बेहतर सुरक्षित यात्रा हो सके। लेकिन रजौली शहर के गलियों व मुख्य मार्गों पर 12 से 17 साल के कई नाबालिग बच्चे बाइक चलाते हुए देखे जा सकते हैं।भीड़भाड़ वाले इलाकों में भी हॉर्न बजाते हुए इतनी स्पीड व रेस देकर चलते हैं कि पैदल चलने वाले राहगीर डर से सिहर उठते है।प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा सड़क व अन्य माध्यमों से अपने स्तर पर लगातार स्कूलों में जाकर जागरूक कार्यक्रम और कार्रवाई के दौरान यातायात नियमों की जानकारी लोगों को दे रही है। इसे अपना ले तो 50% तक हादसों को रोका जा सकता है। हालत यह है कि इन दिनों सड़कों पर कम उम्र के बच्चों व किशोर बेधड़क होकर तेज गति से वाहन चला रहे हैं।

न लाइसेंस न हेलमेट

इनके पास न तो वाहन चलाने का लाइसेंस होता है और न ही हेलमेट। वाहन चलाने की परिपक्वता की जानकारी भी नहीं है। यही नहीं यातायात नियमों की अनदेखी कर बिना हेलमेट वाहन चलाने वाले किशोर भीड़भाड़ वाले स्थानों पर भी तेज गति से वाहन दौड़ा रहे हैं। जिससे अनहोनी की आशंका बनी रहती है। यही नहीं यह किशोर सड़क पर तीन व तीन से अधिक लोगों को बैठा कर वाहन चलाते हैं। जिससे अनहोनी से इनकार नहीं किया जा सकता है। पुलिस या नागरिकों द्वारा समझाने पर उनको अपने अभिभावकों की पहुंच का रौब झाड़ते हैं। इस रौब के कारण पुलिस भी कार्रवाई करने से बचती है।

हड़बड़ी में दौड़ा रहे दो पहिया वाहन

नाबालिगों की इस हरकत के कारण पैदल चलने वालों को दुर्घटना का भी भय बना रहता है। दरअसल इन बच्चों को स्कूल व कोचिंग जाने की भी इतनी हड़बड़ी रहती है कि अपने आगे पीछे का कुछ भी नहीं सोचते हैं और तेज गति से वाहन चलाकर आगे बढ़ जाते हैं।

क्या कहते हैं,जिला परिवहन पदाधिकारी

इस संबंध में जिला परिवहन पदाधिकारी अभियेंद्र मोहन सिंह से बातचीत हुई।उन्होंने कहा कि अभिभावक जरा से लाड़ प्यार में बच्चों की जिंदगी खुद संकट में डाल देते हैं।जब बच्चे के साथ होता है तो जीवन भर पछताना पड़ता है।इसके लिए अभिभावकों का जागरूक होना जरूरी है।हम जगह जगह लगातार कैम्प लगाकर बच्चों को यातायात नियमों की जानकारी देते हैं और आगे की कार्रवाई भी कर रहे हैं।

सड़कों पर वाहन दौड़ा रहे नाबालिग।

X
Rajuli News - minor vehicles running in the streets of the market and on the main roads there are accidents

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना