जिले के 530 प्राइमरी व मिडिल स्कूलों में बनेगी पोषण वाटिका

Nawada News - जिले के 530 स्कूलों में जैविक खेती द्वारा उपजाए गए हरी सब्जियां का स्वाद स्कूलों में पढ़ने वाले लेंगे। इसके लिए...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 09:00 AM IST
Nawada News - nutrition vatas to be built in 530 primary and middle schools of the district
जिले के 530 स्कूलों में जैविक खेती द्वारा उपजाए गए हरी सब्जियां का स्वाद स्कूलों में पढ़ने वाले लेंगे। इसके लिए शिक्षा विभाग द्वारा वकायदा स्कूल परिसर में ही जैविक खेती की तैयारी की जा रही है। स्कूलों में जैविक खेती शुरू करने के लिए मध्याह्न भोजन निदेशक के आदेश पर मध्याह्न भोजन योजना के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी द्वारा जिले के प्राइमरी व मिडिल स्कूलों में जमीन उपलब्धता की सूची मांगी है। डीपीओ रामनरेश सिंह ने कहा स्कूली बच्चे रासायनिक खाद की जगह जैविक विधि से उपजाए गए हरी सब्जी ही स्कूलों में खाएंगे। स्कूलों में हरी सब्जी उपलब्ध होने से मिड डे मील में बच्चों को हरी सब्जी मिल पाएगी। उन्होंनें बताया स्कूलों में जैविक खेती के लिए पोषण वाटिका तैयार किया जाएगा। पोषण वाटिका तैयार करने के लिए चिन्हित स्कूलों में 5 हजार रुपए अनुदान मिलेगा जिससे स्कूल प्रबंधक कुदाल,खुरपी,बाल्टी,मग,सिंचाई के लिए जरूरी सामग्री एवं घेराबंदी की सामग्री खरीद सकेंगे।

पोषण वाटिका का उद्देश्य

स्कूलों में पोषण वाटिका स्थापित होने से बच्चों एवं किशेर/किशोरियों को मध्याह्न भोजन में हरी सब्जी एवं फल पर्याप्त मात्रा में मिलेंगे। विद्यालय में पोषण वाटिका के माध्यम से बच्चों एवं किशोर/किशोरियों में सूक्ष्मपोषक तत्व युक्त साग सब्जियों के माध्यम से स्थानीय भोजन का आदतन प्रयोग करना सीखेंगे। विद्यालय के किशोर/किशोरियों के बीच बाल संसद एवं मीना मंच के नेतृत्व में पोषण स्वास्थ्य एवं स्वच्छता की शिक्षा के प्रति जागरुकता को बढ़ाया जाएगा,पोषण वाटिका से संबंधित जागरूकता गतिविधियों के माध्यम से विद्यालय में बच्चों,अभिभावकों के बीच व्यापक स्तर पर जागरूकता बढ़ाया जाएगा एवं पोषण वाटिका में उत्पादित सूक्ष्म पोषक तत्वों को मध्याह्न भोजन में शामिल कर अतिरिक्त तत्वों का सेवन का आदतन अभ्यास,अच्छे स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता को बढ़ावा दिया जाएगा।

खुद से उपजाई हरी सब्जियां व फलों का स्वाद लेंगे बच्चे

पोषक वाटिका।

पोषण वाटिका में तैयार फलों,सब्जियों से मिलेगा बच्चों को पौष्टिक खाना

स्कूलों में पोषण वाटिका तैयार कर फलों व सब्जियों से बच्चों को पौष्टिक खाना दिया जाएगा। इसके तहत विद्यालयों में पोषण वाटिका का निर्माण के साथ जैविक खेती, साग-सब्जिी उगाने, पोषण एवं स्वच्छता के प्रति बच्चों को जागरूक किया जाएगा। प्रथम चरण में जिले के 530 स्कूलों को पोषण वाटिका के लिए चयन किया गया है। पोषण वाटिका में केला, अमरूद, नींबू, पपीता और मुनगा के पौधे लगाए जाएंगे, जिसे मध्याह्न भोजन में परोसा जाएगा। पौष्टिक फल व सब्जी खाने से बच्चों में ऊर्जा रहेगी, तो वे अच्छे से खेल और पढ़ पाएंगे। इसके अलावा पालक,गोभी,धनिया,पुदिना,मिर्च,बैगन,लौकी आदि की खेती कर बच्चों को मध्याह्न भोजन में हरी सब्जी परोसा जाएगा। पोषण वाटिका की देखरेख स्कूल के बच्चे और विद्यालय के शिक्षक एवं विद्यालय शिक्षा समिति के लोग करेंगे।

400 वर्ग फीट में होगी पोषण वाटिका

डीपीओ ने बताया अंकुरण परियोजना के तहत किशोर/किशोरियों के बेहतर पोषण एवं बेहतर स्वास्थ्य के लिए स्कूलों में पोषण वाटिका तैयार करने की योजना है। पोषण वाटिका के लिए कम से कम 400 वर्गफीट जमीन की आवश्यकता होगी। पोषण वाटिका में खेती मुख्यत जैविक होगी। इसमें रासायनिक खाद की जगह जैविक खाद,जैविक कीटनाशक का छिड़काव फलों और सब्जियों में होगा। पोषण वाटिका में खेती स्कूली बच्चे और शिक्षक करेंगे।

X
Nawada News - nutrition vatas to be built in 530 primary and middle schools of the district
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना