कहीं पानी की बर्बादी तो कहीं सूखे पड़े चापाकल

Nawada News - कहीं पानी की बर्बादी तो कहीं चापाकल के लेयर भाग जाने से चापाकल सूख जाने से पानी नहीं गिर रहा है। दूसरी ओर पीने के...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 07:25 AM IST
Gobindapur News - somewhere in the waste of water some dried papal
कहीं पानी की बर्बादी तो कहीं चापाकल के लेयर भाग जाने से चापाकल सूख जाने से पानी नहीं गिर रहा है। दूसरी ओर पीने के लिए नहीं, गाय-भैंस धोने के लिए काम आ रहे हैं पानी। देखा जाय तो इसका मुख्य कारण पीएचईडी की लापरवाही है। जिसका दंश झेलने को मजबूर दिख रहे है गोविंदपुर के बाजारवासी। मामला गोविंदपुर प्रखंड में गिरते जल स्तर का है। जिसके चपेट में कई गांव समा रहे है। बाजारवासियों की मानें तो बाजार के चापाकल समेत कुआं, नदी, अहरा-पोखरा सब सूख गए हैं। ग्रामीण पानी के लिए सैकड़ों मील जाने के लिए मजबूर हैं। लोग पानी के लिए तरस रहे हैं। कई गांवों के ग्रामीण बासी पानी पीने को मजबूर हैं। जिस कारण कई बीमारी के शिकार हो रहे है। प्रखंड के कई ऐसे गांव हैं, जहां खेतों में डीजल द्वारा पटवन होने के लोग इंतजार करते नजर आते है ताकि पीने के लिए पानी की व्यवस्था कर सके। सड़कों पर पानी के फटे पाइप से कहीं गाय-भैंस जैसे जानवरों को धोने का काम किया जा रहा है। बढ़ती गर्मी, तपती धरती एवं पिछले कई वर्षों से बरसात नहीं होने से पानी का जलस्तर काफी तेजी से भागता जा रहा है। लोग खेत पटाने के लिए डीप बोरिंग करा कर सबमरसिबल से सिंचाई कर रहे हैं।

स्थानीय बाजार के नेपी सिंह श्रीकांत चौधरी, शिक्षक सुधीर कुमार, राजेश कुमार, मुकेश कुमार ने बताया पीएचईडी के द्वारा बनाया गया जल मीनार 7 से 8 साल पुराना है। वहीं किसान और महादलित बस्ती के राम अवतार रजवंशी, विजय रजवार, अर्जुन राजवंशी, कलवा देवी ने बताई पानी के लिए सैकड़ों मिल जाना पड़ता है। विभाग की लापरवाही के कारण पानी खुले आम बहने के बाद भी उसके रोकथाम के लिए उपाय नहीं है।

ऐसे हो रही है पानी की बर्बादी।

X
Gobindapur News - somewhere in the waste of water some dried papal
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना