• Hindi News
  • Bihar
  • Nawada
  • Nawada News there was a shake up on the funding of litterateur khagendra thakur people said proletarian men of literature were

साहित्यकार खगेन्द्र ठाकुर के िनधन पर शाेकसभा हुई, लोगों ने कहा-साहित्य के सर्वहारा पुरूष थे

Nawada News - साहित्य में सर्वहारा के शिखर पुरुष और वर्तमान झंझावातों का प्रकाश स्तम्भ कॉमरेड खगेन्द्र ठाकुर के आकस्मिक निधन...

Jan 16, 2020, 08:35 AM IST
Nawada News - there was a shake up on the funding of litterateur khagendra thakur people said proletarian men of literature were
साहित्य में सर्वहारा के शिखर पुरुष और वर्तमान झंझावातों का प्रकाश स्तम्भ कॉमरेड खगेन्द्र ठाकुर के आकस्मिक निधन की समाचार से नवादा प्रलेस के रचनाकार हतप्रभ और शोकसंतप्त हैं । आज 14 फ़रवरी को जिले के लेखकों बुद्धिजीवियों ने नवादा रेलवे स्टेशन स्थित दुर्गा मंडप परिसर में एक शोकसभा का आयोजन किया जिसमें खगेन्द्र ठाकुर के विशाल व्यक्तित्व और कृतित्व की चर्चा की गई। शोकसभा की अध्यक्षता करते हुए नवादा प्रलेस के महामंत्री अशोक समदर्शी ने कहा कि हिंदी आलोचना के क्षेत्र में नामवर सिंह के बाद इन्हें ही ऊंचा पीढ़ा मिला था । इनकी दूरदर्शिता और वाक्पटुता से विरादराना संगठन ही नहीं विरोधी विचारधारा वाले भी प्रभावित हुए बिना नहीं रहते थे। दिनेश कु अकेला ने कहा नई पीढ़ी की संवेदनाओं से जुड़कर वैचारिकक्रांति लाना उनके लेखन का मुख्य उद्देश्य रहा है। प्रलेस के साथी शंभू विश्वकर्मा ने खगेन्द्र दा के साथ बिताये पलों का स्मरण करते हुए उनके विराट व्यक्तित्व का दर्शन कराया । प्रलेस के छोटे बड़े कार्यकर्मो में उनकी उपस्थिति युवा लेखकों के लिए प्रेरणा होती थी। साहित्य साधक अवधेश कुमार ने कहा कि 83 वर्ष की लंबी आयु के बाद उनका जाना दुःख के साथ दिलासा भी देता है कि अंत तक वे साहित्य में सक्रिय रहे । आज गौरव के साथ कह सकते हैं कि वे जाने से पहले नई पीढ़ी के हाथ में वह पतवार थमा दिए हैं जिसके बल पर प्रगतिशील विचारधारा वर्तमान गिर्दाब को झेलते हुए भी मंजिल पा सकती है। दशरथ प्रसाद जो उनके शिष्य भी रह चुके हैं ने उनके शिक्षक स्वरूप से रूबरू कराया । प्रो. नकुल लाल ने सर्वहारा का सेनानायक घोषित करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की । अंत में दो मिनट का मौन रखकर उनके व्यक्तित्व और कृतित्व को याद कर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। उपस्थित साहित्यकारों बुद्धिजीवियों में पवन कुमार, संजय कुमार, मनोज कुमार आदि ने भी अपने विचार प्रकट करते हुए खगेन्द्र दा को श्रद्धांजलि दी ।

X
Nawada News - there was a shake up on the funding of litterateur khagendra thakur people said proletarian men of literature were
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना