बड़ा हादसा : चीख-पुकार से मचा कोहराम, तेज रफ्तार ट्रेन के चपेट में आए कई यात्री, पांच की मौके पर ही थम गई सांसे / बड़ा हादसा : चीख-पुकार से मचा कोहराम, तेज रफ्तार ट्रेन के चपेट में आए कई यात्री, पांच की मौके पर ही थम गई सांसे

dainikbhaskar.com

Oct 12, 2018, 09:46 PM IST

फुटओवर ब्रिज की बजाए यात्री प्लेटफॉर्म से उतरकर कर रहे थे रेलवे ट्रैक पार, कैमूर जिले के भभुआ रोड स्टेशन की घटना

5 killed & 5 injured after being hit by train at kaimur.

कैमूर । बिहार के कैमूर जिले के भभुआ रोड स्टेशन पर शुक्रवार शाम को हुए एक दर्दनाक हादसे में पांच लोगों की मौत हो गई। इस हादसे में पांच लोग गंभीर रूप से घायल भी हुए हैं। हादसे की सूचना पाकर घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल में पहुंचाया। कई घायलों की हालत गंभीर बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि घटना के वक्त सभी लोग वाराणसी-रांची इंटरसिटी एक्सप्रेस से उतर कर भभुआ रोड स्टेशन पर रेलवे ट्रैक पार करने की कोशिश कर रहे थे।

घटना शाम के करीब 5:45 बजे की

मुगलसराय के डिवीजनल रेलवे मैनेजर पंकज सक्सेना ने बताया कि घटना शाम के करीब 5:45 बजे की है। हादसे का शिकार हुए लोग ट्रैक को पैदल और दौड़ कर पार करने की कोशिश कर रहे थे। उस ट्रैक पर लालकुआं एक्सप्रेस तेजी से आ रही थी, जिसे वो देख नहीं पाए और हादसे का शिकार हो गए। मृतकों की पहचान नहीं हो पाई है। इस हादसे का शिकार हुए मृतकों में से चार महिलाएं और एक पुरुष हैं। मृतकों के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भभुआ सदर अस्पताल भेजा गया है।

रॉन्ग साइड उतरे थे लोग

स्टेशन मास्टर सरोज सिंह ने कहा कि हादसे का शिकार हुए लोग वाराणसी से रांची जाने वाली इंटरसिटी एक्सप्रेस से भभुआ रोड स्टेशन आए थे। भभुआ में ट्रेन का समय 4:45 बजे है। ट्रेन एक घंटा लेट आई। प्लेटफॉर्म नं. तीन पर बड़ी संख्या में लोग ट्रेन में सवार होने के लिए खड़े थे। इसी दौरान कुछ लोग दूसरी तरफ से ट्रेन से उतर गए।रॉन्ग साइड उतरे लोग स्टेशन से बाहर जाने के लिए प्लेटफॉर्म पर मौजूद ओवरब्रिज की इस्तेमाल करने की जगह जल्दबाजी में पैदल पटरी पार करने लगे। वो पटरी पार कर रहे थे तभी अप लाइन से 18612 हावड़ा लालकुंआ एक्सप्रेस आ गई। इस ट्रेन का ठहराव भभुआ में नहीं था। तेज रफ्तार ट्रेन पटरी पार कर रहे आठ लोगों को कुचलते हुए चली गई।

X
5 killed & 5 injured after being hit by train at kaimur.
COMMENT