--Advertisement--

एम्स के डॉक्टर के 10वीं में पढ़ रहे बेटे ने देसी पिस्टल से कनपट्टी में गोली मार की खुदकुशी

- दर्दनाक: आवासीय परिसर में हुई घटना, 7 घंटे इलाज के बाद तोड़ा दम

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2018, 05:21 AM IST
घटनास्थल पर जांच करती पुलिस। - घटनास्थल पर जांच करती पुलिस। -

पटना/फुलवारीशरीफ. पटना एम्स के फिजियोलॉजी विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. त्रिभुवन सिंह के बड़े बेटे अक्षत कुमार ने देसी पिस्टल से कनपट्टी में गोली मारकर कर खुदकुशी कर ली। घटना बुधवार की सुबह करीब 6 बजे एम्स आवासीय परिसर में हुई। खून से लथपथ 16 साल के अक्षत को डॉ. त्रिभुवन व अन्य लोग पारस अस्पताल ले गए लेकिन 7 घंटे तक इलाज के बाद उसकी मौत हो गई। सूचना मिलने के बाद फुलवारीशरीफ के डीएसपी रामाकांत प्रसाद व थानेदार अजीत कुमार मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने अक्षत के बेडरूम से उसका मोबाइल, लैपटॉप और एक कॉपी जब्त की है। साथ ही देसी पिस्टल के साथ ही 7.65 एमएम का एक खोखा और दो जिंदा कारतूस भी बरामद किया। पुलिस को सुसाइड नोट नहीं मिला है।

- घटनास्थल पर एफएसएल की टीम को भी बुलाया गया। टीम ने वहां से कई नमूने इकट्ठे किए। घटना के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। कॉपी में तीन दोस्तों का नाम लिखा है। सूत्रों के अनुसार उस कॉपी में ड्रग्स और हथियार की बात लिखी हुई है।

- पुलिस फिलहाल इसी एंगल पर जांच करने में जुटी है। अक्षत दानापुर स्थित रेडिएंट स्कूल में 10वीं कक्षा का छात्र था। डॉ त्रिभुवन मूल रूप से सासाराम के रहने वाले हैं। उनकी पत्नी डॉ. नीलू स्त्री रोग विशेषज्ञ हैं। खगौल में डॉ. नीलू निजी प्रैक्टिस करती हैं। डॉक्टर दंपती को दो बेटे हैं।

रात 1 बजे तक पढ़ रहा था अक्षत, सुबह 6 बजे आई गोली चलने की आवाज
- एम्स के आवासीय परिसर में डॉ. त्रिभुवन परिवार के साथ रहते हैं। मंगलवार की रात डॉ. त्रिभुवन, उनकी पत्नी डॉ. नीलू और छोटा बेटा एक रूम में सोए हुए थे। दूसरे बेडरूम में अक्षत अकेले सोया हुआ था। अक्षत रात एक बजे तक पढ़ रहा था।

- पढ़ने के बाद उसने आरओ से पानी भी पिया। सुबह करीब छह बजे गोली चलने की आवाज सुनाई दी। गोली की आवाज सुनकर मां उठी तो देखा कि अक्षत खून से लथपथ है। इसी बीच डॉक्टर त्रिभुवन भी जग गए। साथ ही आसपास में रहने वाले डॉक्टर भी वहां पहुंच गए।

- अक्षत के बेडरूम में चारों तरफ खून पसरा था। आवासीय परिसर में कोहराम मच गया। किसी तरह अक्षत को पारस ले जाया गया लेकिन सात घंटे तक आईसीयू में चले इलाज के बाद उसने दम तोड़ दिया। गुरुवार को उसके शव का पोस्टमार्टम होगा।

काॅपी में छुपा है राज
- पुलिस ने अंग्रेजी में लिखी एक काॅपी को जब्त किया है। काॅपी में क्या लिखा है यह बताने में पुलिस परहेज कर रही है। वैसे सूत्र बताते हैं कि काॅपी में ड्रग्स, हथियार के साथ तीन दोस्तों का नाम और फाेन नंबर है। उस काॅपी में यह भी लिखा है कि पुलिस करप्ट है। काॅपी में लिखे दोस्तों और उसके नंबर के बारे में पुलिस नहीं बता रही है।

पिस्टल कहां से लाई
- इधर, डीएसपी रामाकांत प्रसाद ने बताया कि प्रथमदृष्टया आत्महत्या प्रतीत होती है। अक्षत के पास पिस्टल कहां से आई, इसकी जांच करने में पुलिस जुटी है। उसके तीन दोस्तों से पुलिस पूछताछ करेगी।
घटनास्थल पर कमरे की जांच पड़ताल करती पुलिस। कमरे से पिस्टल भी बरामद किया गया।

इन बिंदुओं पर जांच
1. अक्षत क्या किसी बात को लेकर डिप्रेशन में था?
2.क्या वह गलत लड़कों के साथ जुड़ा हुआ था?
3.आखिर उसने कॉपी में ड्रग और हथियार की बात क्यों लिखी?
4.उसके पास पिस्टल कहां से आई?
5.पिस्टल बेडरूम में रखने का क्या मकसद था?
6.पिस्टल खुदकुशी करने के लिए लाई या कोई और बात है‌?
7.किसी लड़की से प्रेम संबंध तो नहीं था?
8.मोबाइल और लैपटॉप में क्या कोई राज है?
9.उसने आखिरी बार किससे मोबाइल से बात की?

X
घटनास्थल पर जांच करती पुलिस। -घटनास्थल पर जांच करती पुलिस। -
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..