--Advertisement--

बिहार में अब पुरुष व महिला की औसत उम्र बराबर

डायरिया से मरने वालों की संख्या हुई आधी, फिर भी सबसे अधिक

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2018, 05:22 AM IST
symbolic image symbolic image

पटना. बिहार में 1990 और 2016 के बीच औसत उम्र में वृद्धि हुई है। महिलाओं की औसत उम्र 57.9 वर्ष से बढ़कर 67.7 वर्ष, जबकि पुरुषों की 58.9 वर्ष से बढ़कर 67.7 वर्ष हो गई है। विश्व या देश के विभिन्न राज्यों में भी महिलाओं की औसत उम्र पुरुषों से अधिक होती है। लेकिन बिहार में बराबर हो गई है। यह जानकारी हेल्थ बर्डेन पर हुए शोध के आधार पर विश्व स्वास्थ्य संगठन के पूर्व क्षेत्रीय सलाहकार डॉ. धीरेंद्र नारायण सिंह ने बुधवार को प्रेस काॅन्फ्रेंस में दी।

- उन्होंने बताया कि अाज भी बिहार में सबसे अधिक मौतें डायरिया के कारण होती हैं। वैसे तो डायरिया से मौत का आंकड़ा 14.1 फीसदी से घटकर 7.1 फीसदी पर पहुंच गया है, फिर भी लगभग एक दहाई मौत इसी से हो रही है। लकवा की बीमारी में दो गुनी बढ़ोतरी हुई है।

- यह 2.7 फीसदी से बढ़कर 3.9 फीसदी हो गया है। हृदय रोग में करीब दो गुनी बढ़ोतरी हुई है। हृदय रोग 2.8 फीसदी से बढ़कर 6.6 फीसदी हो गया है। शिशु व माताओं के कुपोषण में कमी आई है। फिर भी कुल मौतों व बीमारियों का 22 फीसदी कुपोषण के कारण हो रहा है।

- बिहार में दो तिहाई से अधिक रोग व क्षति 10 खतरनाक तत्वों की वजह से होता है। जैसे कुपोषण, वायु प्रदूषण, असुरक्षित जल, भोजन, उच्च रक्तचाप, तंबाकू का सेवन, मधुमेह, कोलेस्ट्रॉल की अधिकता, शराब आदि शामिल है।

- डॉ. धीरेंद्र ने कहा कि छोटी-छोटी चीजों पर ध्यान दिया जाए तो बीमारी गंभीर रूप नहीं लेगी।

X
symbolic imagesymbolic image
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..