--Advertisement--

मोदी सरकार के खिलाफ चलेगा जन अभियान, 23 मई को प्रतिरोध सभा

कन्वेंशन में केंद्र की मोदी और बिहार की नीतीश सरकार को बताया विफल।

Dainik Bhaskar

May 13, 2018, 06:30 PM IST

पटना. केंद्र की मोदी सरकार के 4 साल की जनविरोधी फैसलों के खिलाफ अभियान चलेगा। 23 मई को पटना में प्रतिरोध सभा होगी। इसके पहले 16 से 22 मई तक मोदी सरकार के खिलाफ पोल खोल हल्ला बोल कार्यक्रम होगा। ट्रेड यूनियनों, जनसंगठनों, सामाजिक संगठनों और मुद्दा विशेष को लेकर आंदोलनरत सामाजिक समूहों ने जन एकता जन अधिकार आंदोलन (जेजा) का गठन किया है। रविवार को अभियान की सफलता के लिए कन्वेंशन हुआ। इसमें भाकपा माले सहित विभिन्न संगठनों के नेताओं ने चर्चा की।

वक्ताओं ने कहा कि बिहार में नीतीश सरकार भी आम लोगों के हित में काम नहीं कर रही है। गरीबों को बेघर किया जा रहा है। आधार कार्ड के नाम पर राशन, केरोसिन, पेंशन और मनरेगा पर रोक लगायी जा रही है। जदयू-भाजपा सरकार जनविरोधी काम कर रही है। न्यायालय के आदेश के बाद भी शिक्षकों को समान काम के लिए समान वेतन नहीं दिया जा रहा है। भ्रष्टाचार संस्थाबद्ध हो चुकी है।

ऐपवा की महासचिव मीना तिवारी, रामाधार सिंह, ललन चैधरी, नृपेन कृष्ण महतो और सूर्यंकर जितेन्द्र ने कन्वेंशन की अध्यक्षता की। संचालन खेग्रामस के महासचिव धीरेन्द्र झा व सीटू के गणेश प्रसाद सिंह ने किया। राजाराम सिंह्र, अशोक प्रसाद सिंह, शशि यादव, रणविजय कुमार, मनोज कुमार चंद्रवंशी, नवीन कुमार, अनिल कुमार चांद, रौशन कुमार, विश्वनाथ सिंह, भोला प्रसाद, के नारायण पूर्वे, मेख्तार, अनामिका, सुशील कुमार, निकोलोई शर्मा, दीपक भट्‌टाचार्य, गीता सागर, नृपेंद्र कृष्ण महतो, शिवप्रकाश रंजन, संतोष सहर, संतोष झा, रवींद्र नाथ राय, मो. दानिश, रामजी यादव, रवींद्र यादव, रामाधार सिंह, विशेश्वर प्रसाद यादव व रणविजय कुमार मौजूद थे।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..