• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Patna News 45 Year Old Digha Rajivnagar Freed 6 Acres Of Government Land From Occupation Fire And Stones In Protest 12 Policemen Injured

दीघा-राजीवनगर में 45 साल बाद 6 एकड़ सरकारी जमीन को कब्जे से मुक्त कराया, विरोध में आगजनी व पथराव,12 पुलिसकर्मी जख्मी

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दीघा और राजीवनगर में आवास बोर्ड द्वारा आवंटित 6 एकड़ जमीन पर प्रशासन ने शनिवार को कब्जा जमा लिया। पिछले 45 साल से राजीवनगर थाने के पोलसन रोड में साढ़े तीन एकड़ और दीघा थाना क्षेत्र में ढाई एकड़ जमीन पर भू-माफियाओं ने कब्जा कर रखा था। प्रशासन की कार्रवाई के विरोध में सैकड़ों लोगों ने गांधी मैदान-दानापुर रोड को पोलसन रोड मोड़ के पास जाम कर दिया। भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया। पुलिस की तीन बाइक को भी आग के हवाले कर दिया। तीन घंटे तक जाम रहने के बाद जब हालात बेकाबू हो गए तो पुलिस ने आंसू के 12 गोले दागे। फिर भी उपद्रवी नहीं हटे तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर खदेड़ दिया। पथराव में एक एएसआई समेत 12 पुलिसकर्मी घायल हो गए। प्रशासन द्वारा मुक्त कराने के बाद एसएसबी ने जमीन की तार से घेराबंदी कर अपने कब्जे में ले लिया।

सुबह तीन बजे से ऑपरेशन : पूरा इलाका सील, अफसरों ने 500 जवानों के साथ संभाली कमान
पुलिस पर पथराव, सरकारी काम में बाधा व राेड जाम करने पर 300 अज्ञात पर मुकदमा, 9 गिरफ्तार।

6 एकड़ भूमि में ढाई-ढाई एसएसबी व सीबीएसई को, 1 एकड़ राजीवनगर थाने के लिए सरकार ने दी थी।

1974 में आवास बोर्ड ने इस छह एकड़ के साथ 400 एकड़ भूमि अधिग्रहित की थी।

छह एकड़ जमीन को कब्जा में लेने के लिए प्रशासन व पुलिस ने पूरी प्लानिंग की थी। शनिवार की सुबह तीन बजे ही इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया था। सुबह से ही सिटी एसपी सेंट्रल डी. अमरकेश, एएसपी ऑपरेशन अनिल कुमार सिंह, एएसपी सदर सुशांत सरोज के साथ 15 थानेदार व 500 सुरक्षाकर्मियों को सड़क पर उतार दिया था। एसएसबी के जवान भी मश्तैद थे। पुलिस ने इन तीनों भू-खंडों को जाने वाले सभी छह इंट्री प्वाइंट की बैरिकेडिंग कर दी। जब तक इन जमीनों पर कब्जा जमाने वाले लोग कुछ समझ पाते तब तक पुलिस ने मोर्चा संभाल लिया था। भू-माफिया व जमीन को लेकर आंदोलन करने वाले लोग जब जगे तब एक-दूसरे को फोन व वाट्सएप करने लगे। फिर धीरे-धीरे लोगों की जुटान शुरू हुई। इसके बाद भीड़ ने हंगामा करने के साथ सड़क को जाम कर दिया।

16 माह पहले भी अतिक्रमण हटाने गई थी पुलिस पर भू-माफिया पड़ गए थे भारी

करीब 16 माह पहले 5 सितंबर 2017 को भी पुलिस व प्रशासन इसी 6 एकड़ जमीन को कब्जा करने गई थी पर भू-माफिया व स्थानीय लोग पुलिस पर भारी पड़ गए थे। उपद्रवियों ने उस बार तीन जेसीबी और पाटलिपुत्र थाने की जीप को फूंक दिया था। अफसरों और आम लोगों की गाड़ियों में तोड़फोड़ की थी। पथराव में दीघा थानेदार समेत 15 पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। पुलिस को 50 राउंड हवाई फायरिंग करनी पड़ी थी। फिर भी पुलिस को पीछे हटना पड़ा था। -पढ़िए पेज 2 भी

खबरें और भी हैं...