50 आंगनबाड़ी केंद्रों का नहीं है अपना भवन

Patna News - दराैंदा प्रखंड के बाल विकास परियोजना द्वारा संचालित आंगनबाड़ी केन्द्र कई समस्याओं से जूझ रहा है। इस प्रखंड...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:16 AM IST
Drunda News - 50 anganwadi centers do not have their own building
दराैंदा प्रखंड के बाल विकास परियोजना द्वारा संचालित आंगनबाड़ी केन्द्र कई समस्याओं से जूझ रहा है। इस प्रखंड क्षेत्र में लगभग 206 आंगनबाड़ी केन्द्र संचालित हैं। जहां 5 वर्ष तक के बच्चे को स्कूल पूर्व शिक्षा दी जाती हैं। ये बच्चे केन्द्रों पर शिक्षा लेने के बाद विद्यालय पहुंचते हैं। जहां उसकी पहली कक्षा में नामांकन होता हैं। इन आंगनबाड़ी केन्द्रों पर 40 बच्चों का नामांकन हैं। जिसके लिए सेविकाओं को राशन की राशि दी जाती है। इसके अलावा कुपोषित अति कुपोषित, गर्भवती, धातृ और किशोरी के लिए भी राशि मिलती हैं। इन केंद्रों में से कुछ ऐसे केन्द्र हैं जो सेविकाओं की मनमानी का शिकार हैं। इन केन्द्रों पर टीएचआर वितरण से लेकर बच्चों को खाना देने तक में भी भारी गड़बड़ी की जाती है। लगभग 50 केंद्र ऐसे हैं जहां सेविकाएं अपने मकान या दलान पर ही संचालित करती हैं, और इसका किराया विभाग से लेती हैं। पोषक क्षेत्र के कुछ लोगों का कहना हैं कि कई केंद्र ऐसे हैं जहां सेविकाओं के घर होने से लोग जाना नहीं चाहते हैं जिससे लोगों को कई सुविधाओं का लाभ नही मिल पाता है और इसका वह पूरा फायदा उठाती हैं। प्रखंड के अधिकांश केन्द्रों को अपना भवन नहीं हैं। इस कारण सेविका द्वारा लोगों का घर भाड़े पर लेकर केन्द्र चलाया जाता हैं। जानकारी के अनुसार भवन बनाने हेतु राशि उपलब्ध हैं। लेकिन जमीन ही नहीं मिल रही हैं। सीडीपीओ प्रीति कुमारी के द्वारा हर बैठक में इस मुद्दे को उठाकर जनप्रतिनिधियों से अपील की जाती है। लेकिन, कोई सफलता नहीं मिल रही है। हालात यह है कि कुछ केन्द्र के बच्चे खुले आसमान के नीचे पढ़ने को विवश हैं।

सेविका का मकान।

X
Drunda News - 50 anganwadi centers do not have their own building
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना