700 मी. लंबी सड़क से सिटी में जाम होगा कम

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अशाेक राजपथ पर जाम से जूझते पटना सिटी के लाेगाें की समस्या जल्द दूर हाेगी। इसके लिए अशाेक राजपथ के समानांतर गंगा के किनारे कंगन घाट से खाजेकलां घाट के बीच सड़क बनाई जा रही है। इसके बन जाने के बाद जाम की समस्या से निजात ताे मिलेगी ही, अशाेक राजपथ पर भी वाहनाें का दबाव घटेगा। अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार इस सड़क की लंबाई 700 मीटर व चौड़ाई 7 मीटर हाेगी। इसमें सड़क के दोनों किनारे डेढ़ फुट का फुटपाथ भी बनाया जा रहा है। करीब छह करोड़ की लागत इसमें अाएगी। सितंबर तक निर्माण पूरा करने का लक्ष्य है।

अभी अशाेक राजपथ पर खाजेकलां, मच्छरहट्‌टा, सिटी चौक अाैर आगे चौक थाना मोड़ तक व्यावसायिक क्षेत्र होने से हर दिन सुबह से लेकर देर शाम तक वाहनों का दबाव रहता है। जिस कारण लोगों को घंटों जाम का सामना करना पड़ता है। खास कर स्कूल की छुट्‌टी के वक्त मुसीबत अाैर बढ़ जाती है। छाेटे-बड़े वाहन एक साथ सड़क पर अा जाते हैं। इस समस्या से निजात के लिए पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव के निर्देश पर कंगन घाट से खाजेकलां घाट के बीच सड़क का काम शुरू हुआ है। एक एजेंसी यह काम कर रही है।

संगत काे भी हाेगी सुविधा : दाेनाें घाटाें के बीच सड़क बनने से सिटी अानेवाले सिख श्रद्धालुअाें काे भी सुविधा हाेगी। बड़ी संख्या में संगत तख्त साहिब दर्शन के लिए अाती है। श्रद्धालु गुरुद्वारा गायघाट, सोनार टोली गुरुद्वारा भी जाते हैं। अभी अशाेक राजपथ ही जरिया हाेने के कारण उन्हें भी जाम की समस्या झेलनी पड़ती है।

अशोक राजपथ पर घट जाएगा वाहनों का दबाव

एेसा हाेगा रूट
अशाेक राजपथ पर हाजीगंज की अाेर से अानेवाले वाहन झाउगंज में चाैक थाना माेड़ से हाेकर कंगन घाट हाेते हुए खाजेकलां घाट, खाजेकलां सब्जी मंडी हाेते हुए पुन: अशाेक राजपथ पर जाएंगे। पश्चिम दरवाजा से अानेवाले वाहन इसी तरह खाजेकलां सब्जी मंडी हाेकर चाैक थाना माेड़ झाउगंज तक अाएंगे।

गांधी सेतु पर जाम से नहीं मिल रही राहत
हाजीपुर की तरफ सरक रहे वाहन, एनएच पर भी असर

पटना सिटी|गायघाट पीपापुल बंद होने के बाद से महात्मा गांधी सेतु पर जाम का सिलसिला जारी है। सुबह से शाम तक यह समस्या यात्री झेल रहे हैं। वाहनों के दबाव के आगे ट्रैफिक पुलिस की जाम से निपटने की रणनीति विफल साबित हो रही है। मार्ग में किसी वाहन के खराब होने के बाद स्थिति और भी गंभीर बन जाती है। जीरो माइल के पास से वाहनों को कतारबद्ध कर निकाला जा रहा है। इसके बाद भी दोनों लेन पर जाम की समस्या बनी हुई है। सुबह में पाया संख्या-17 हाजीपुर की ओर एक कार के खराब होने से वाहन फंस गए। क्रेन की मदद से वाहन को हटाया गया। इसके बाद थोड़ी राहत मिली। दरअसल उत्तर बिहार की लाइफ लाइन महात्मा गांधी सेतु पर वाहनों का दबाव गायघाट पीपापुल खुलने के बाद बढ़ गया है। अब दोबारा पीपापुल के चालू होने के बाद ही जाम से मुक्ति के आसार हैं। ट्रैफिक डीएसपी मो. अली अंसारी ने बताया कि सेतु पर ओवरटेक करनेवाले वाहनों पर लगातार निगरानी की जा रही है। वैवाहिक लग्न होने की स्थिति में वाहनों का दबाव अधिक है।

खबरें और भी हैं...