--Advertisement--

31st की नाइट लड़की से हुआ था गैंगरेप, पांच दिन तक इसलिए चुप रही पीड़िता

करीब बीस साल की पीड़िता ने बताया कि वो रात आठ बजे घर के बाहर निकली थी।

Danik Bhaskar | Jan 06, 2018, 04:07 AM IST
डेमो फोटो। डेमो फोटो।

बक्सर. साल 2017 के आखिरी दिन यानी 31 दिसंबर की रात करीब आठ बजे चार दरिंदों ने मिलकर एक लड़की के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। पीड़ित युवती पांच दिनों तक घर में चुप बैठी रही। बताया जा रहा है कि वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपियों ने लड़की को छोड़ दिया जिसके बाद वो किसी तरह घर पहुंचा। यहां उसने आपबीती तो लोक-लाज के चलते घरवाले चुप रहे और थाना न जाने की बात कही।

ऐसे थाना पहुंचा मामला

करीब बीस साल की पीड़िता ने बताया कि वो रात आठ बजे घर के बाहर निकली थी। इसी दौरान चार लड़कों ने उसे पकड़ लिया और फिर मुंह बंद कर नदी की ओर ले गए। यहां चारों ने बारी-बारी से उसके साथ रेप किया। लड़की बार-बार छोड़ देने की गुहार लगाती रही पर उसकी एक नहीं सुनी गई। गैंगरेप करने के बाद चारों ने उसे छोड़ दिया। घरवालों ने जब कोई कदम नहीं उठाया तो लड़की ने कोलकाता में रहने वाले भाई को आपबीती बताई। यह बात सुनते ही भाई गांव पहुंचा और उसे लेकर थाना पहुंचा। पीड़ित युवती ने आपबीती थानाध्यक्ष को बताई। थानाध्यक्ष ने बताया कि दिए गए आवेदन में पीड़ित युवती ने अपने ही गांव निवासी विजय पांडेय, मुन्नी पांडेय, श्याम बाबू पांडेय व मंटू पांडेय पर सामूहिक रेप का आरोप लगाकर एफआईआर दर्ज कराई है।

लड़की का हुआ मेडिकल जांच

डुमरांव के प्रभारी एसडीपीओ अरूण कुमार ने बताया कि पीड़िता ने गैंगरेप का मामला दर्ज कराया है। उसे मेडिकल जांच के लिए भेजा गया है। साथ ही आरोपितों की गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए संभावित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है।