--Advertisement--

बंगाल में बिहार के मंत्री और सुरक्षा दस्ते पर हमला, ड्राइवर और बॉडीगार्ड घायल

स्थिति उस समय अजीबोगरीब हो गई जब रामपुर हाट थाने ने एफआईआर दर्ज करने से इनकार कर दिया।

Dainik Bhaskar

Jan 02, 2018, 05:06 AM IST
पूजा के बाद मंत्री सुरेश शर्मा। पूजा के बाद मंत्री सुरेश शर्मा।

पटना/भागलपुर. नए साल के पहले दिन पश्चिम बंगाल के तारापीठ में पूजा करने गए बिहार के नगर विकास और आवास मंत्री सुरेश शर्मा और उनके सुरक्षा दस्ते पर वीरभूम जिले के होटल सोनार बांग्ला में हमला किया गया। होटल में कमरा बुक करने को लेकर हुए विवाद में दोनों पक्षों के बीच तू-तू-मैं-मैं के बाद स्थिति बिगड़ी। होटल स्टाफ और अन्य लोगों ने मंत्री के साथ ही सुरक्षाकर्मियों और अन्य लोगों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। इस दौरान मंत्री बच गए पर उनके बॉडीगार्ड व ड्राइवर जख्मी हो गए।

भागकर पहुचे थाना

- हमले के बाद सभी किसी तरह भाग कर रामपुर हाट थाने पहुंचे। इसके बाद मंत्री और उनकी गाड़ियों के साथ कुछ स्टाफ और लोगों को भी होटल कर्मियों ने बंधक बना लिया।

- स्थिति उस समय अजीबोगरीब हो गई जब रामपुर हाट थाने ने एफआईआर दर्ज करने से इनकार कर दिया। बाद में उच्चस्तरीय दखल पर मामला दर्ज हुआ।

- घायल बॉडीगार्ड व ड्राइवर का इलाज स्थानीय अस्पताल में कराया गया। इस बीच मुख्यमंत्री ने मंत्री शर्मा से मोबाइल पर बात कर घटना की जानकारी ली।

तारापीठ में मंत्री पर हमले का मामला : रूम खोलने में विलंब पर हुअा था विवाद

- होटल में रूम खुलवाने के लिए सोमवार की शाम साढ़े 4 बजे उस समय विवाद हुआ जब मंत्री तारापीठ में दर्शन के बाद होटल पहुंचे थे।

- रिसेप्शन पर क्लर्क से कहा गया कि मंत्री जी दूर से आए हैं। थके हुए हैं, कमरा जल्दी खुलवा दो।

- इस पर क्लर्क ने बदतमीजी करते हुए कहा कि बिहार के लोग ऐसे ही मंत्री और सांसद की धौंस देते हैं। वेटिंग हॉल में बैठिए। कमरा तैयार होने पर सूचना देंगे।

- बार-बार बिहारी कहने और असभ्य भाषा देख मंत्री ने क्लर्क से बुकिंग के पैसे वापस करने को कहा। इस पर क्लर्क अभद्रता करने लगा। विवाद होने पर मंत्री काउंटर से हट गए।

- तभी होटल के मैनेजर ने रॉड और डंडा से लैस 50 लोगों के साथ हमला कर दिया। मंत्री को बचाने में रॉड के प्रहार से बॉडीगार्ड मनीष कुमार का हाथ टूट गया। ड्राइवर गणेश कुमार का सिर फट गया।

- शाम छह बजे तारापीठ थाने के एसएचओ मंत्री का बयान लेने होटल पहुंचे। इससे पहले बीते 29 दिसंबर को ही मंत्री के यात्रा की विधिवत जानकारी पश्चिम बंगाल सरकार को दे दी गई थी। फिर भी सुरक्षा का कोई इंतजाम नहीं था। कॉल करने पर भी डीएम व एसपी ने रिसीव नहीं किया।

(जैसा कि मंत्री के आप्त सचिव भाजपा नेता संजीव कुमार ने बताया)

बुकिंग और भुगतान को लेकर हुआ था विवाद

दर्शन के बाद मंत्री होटल सोनार बंगला पहुंचे थे। उनके नाम एसी रूम बुक था। ठंड का हवाला देकर प्रबंधन से बिना एसी रूम की मांग कर अतिरिक्त रकम लौटाने को कहा गया। पर होटल प्रबंधन एसी रूम का चार्ज लेने पर अड़ गया। इसी बात पर विवाद बढ़ गया और होटल कर्मी हिंसक हो गए।

हमले में घायल बॉडीगार्ड। हमले में घायल बॉडीगार्ड।
हमले में घायल ड्राइवर। हमले में घायल ड्राइवर।
X
पूजा के बाद मंत्री सुरेश शर्मा।पूजा के बाद मंत्री सुरेश शर्मा।
हमले में घायल बॉडीगार्ड।हमले में घायल बॉडीगार्ड।
हमले में घायल ड्राइवर।हमले में घायल ड्राइवर।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..