--Advertisement--

3 बाइक पर 8 बदमाश पहुंचे, 3 बाहर दे रहे थे पहरा, 5 ने अंदर से लूटे 9 लाख

गोपालगंज के एसपी रवि रंजन ने बताया कि बैंक में पांच अपराधियों ने लूट की घटना को अंजाम दिया है।

Dainik Bhaskar

Dec 31, 2017, 04:49 AM IST
Bank robbery in Gopalganj

गोपालगंज. यहां के पंजाब नेशनल बैंक में शनिवार को 8 हथियार बंद अपराधियों ने लूट की घटना को अंजाम दिया। अपराधी तीन बाइक पर आए थे। जिसमें से पांच लोग अंदर गए और तीन बाइक की ड्राइविंग सीट पर पहरा दे रहे थे। कड़के की ठंड होने के कारण उस समय बैंक में दो-तीन ही कस्टमर थे। अपराधी सीधे कैशियर के पास गए और उसे बंधक बना कर लाकर रुम में ले गए। ताला खुलवाया और बैग में 8 लाख 62 हजार रुपए भरे और आसानी से बाहर निकल गए। बाहर खड़े तीन बाइकों पर साथी उनकी इंतजार कर रहे थे। बाइक फिर बैठे और कोहरा के कारण वे जल्दी गायब भी हो गए।

20 मिनट में आए बाहर

बताया जा रहा है कि बदमाश 12.30 बजे वे अंदर गए थे और 20 मिनट बाद वे बाहर आ। अपराधियों ने फायरिंग कर पहले बैंक में इंट्री की और एक के बाद पूरे बैंक के कर्मियों को हथियार का भय दिखाया और बैंक को अपने कब्जे में ले लिया। वहां मौजूद लोगों के अनुसार के अनुसार अपराधियों ने बैंक के अंदर और बैंक के बाहर कई राउंड फायरिंग की। इसके बाद अपराधी एनएच-28 के रास्ते फरार हो गए।

ब्रांच मैनेजर बोले- कई राउंड की फायरिंग

ब्रांच मैनेजर पप्पू सिंह ने बताया कि अपराधियों ने बैंक के अंदर घुसते ही कई राउंड फायरिंग की। जिससे बैंक कर्मी और उपभोक्ता सभी लोग दहशत में आ गए और जो जहां था वहीं छुप गया। अपराधियों ने बैंक में लगे कंप्यूटर के साथ तोड़फोड़ भी की।

बजा इमरजेंसी सायरन नहीं दिया ध्यान

घटना के बाद से इलाके में दहशत फैली हुई है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया जब बैंक में फायरिंग की घटना सामने आई तो सायरन बजा लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया। घटना के बाद से बैंक के पास बड़ी तादाद में भीड़ इकट्ठा हो गई। अगर सायरन की आवाज सुनकर पुलिस चौकन्ना होती तो शायद अपराधी पुलिस की गिरफ्त में होते ।

बैंक में नहीं थी सुरक्षा की व्यवस्था

पुलिस के अनुसार जिस वक्त यह घटना हुई उस समय बैंक में सुरक्षा की कोई व्यवस्था नहीं थी। घटना के बाद सासामुसा बाजार में अफरातफरी और भय का माहौल कायम हो गया है।

2000 में सासामुसा स्टेट बैंक में भी हुई थी लूट
2000 में सासामुसा भारतीय स्टेट बैंक की शाखा से सात लाख की लूट हुई थी। जिसमे एक गार्ड की हत्या गोली मार कर दी गई थी। उसी बीच सेन्ट्रल बैंक खजुरहा सहित अन्य जगहों पर भी लूट की घटना को अंजाम दिया गया था। वहीं उसके बाद वर्ष 2011 में बैकुंठपुर के राजा पट्टी ब्रांच में लूट की घटना हुई थी। लेकिन बहुत दिनों से शांत जिले के पुलिस को एक बार फिर अपराधियों ने बड़ी चुनौती दे दी।

एसआईटी और यूपी क्राइम ब्रांच भी जांच में जुटी

लूट की घटना के बाद ही जिले में हाई अलर्ट कर दिया गया। चारों तरफ वाहनों की सघन जांच होने लगी। जिले के मोहम्दपुर से लेकर विजयीपुर और कटेया थानों ने उत्तरप्रदेश की सीमा पर पूरी तरह से नाकाबंदी कर रखा था। लेकिन फिर भी अपराधी बड़ी आराम से भाग निकले। मौके पर पहुंचे जिले के एसपी रविरंजन ने बताया कि कई अहम सुराग लूट कांड से जुड़े हुए मिले हैं। उसकी जांच की जा रही है।

सीसीटीवी का डीवीआर पहले दी तोड़ दी थी
अपराधियों ने लूट कांड की घटना को अंजाम देने के बाद बैंक में लगे सीसीटीवी का डीवीआर पटक कर तोड़ दिया था। ताकि उनका कोई सुराग नहीं मिल सके। लेकिन मुजफ्फरपुर से आये सीसीटीवी के टेक्नीशियन द्वारा उसे पुन री स्टोर कर लिया गया। जिसके आधार पर पुलिस को कई अहम सुराग हाथ लग गई है। घटना के बाद जहां जिले के आधा दर्जन थानेदार अपराधियों के फ़िराक मे लग गए वहीं उतरप्रदेश से आई क्राइम ब्रांच की टीम भी अपराधियों की धर पकड में लग गई.। एसपी ने दावा किया है जल्द ही मामले का खुलासा कर लिया जायेगा। साथ ही क्राइम ब्रांच के साथ-साथ जिला पुलिस की टीम भी लगी हुई है।यूपी क्राइम ब्रांच अलग से लगा दी गई है।

गोपालगंज के एसपी रवि रंजन ने बताया कि बैंक में पांच अपराधियों ने लूट की घटना को अंजाम दिया है। आठ की संख्या में अपराधी थे। बैंक से 8 लाख 62 हजार रुपये की लूट हुई है। शाखा प्रबंधक से भी पूछताछ की गई है। सीसीटीवी फुटेज में सारी गतिविधियों के डिटेल्स मिले हैं। छापेमारी की जा रही है। जल्द ही गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

X
Bank robbery in Gopalganj
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..