विज्ञापन

बिहार में इस घाट का पानी वाटर प्यूरीफायर से बेहतर, नहीं होती कोई बीमारी

Dainik Bhaskar

Jan 08, 2018, 05:16 AM IST

डब्ल्यूएचओ के अनुसार 100 से 200 टीडीएस स्तर वाले पानी को ठीक बताया है।

बरनार नदी के इस घाट के पानी को वाटर प्यूरीफायर से फी शुद्ध बताया जा रहा है। बरनार नदी के इस घाट के पानी को वाटर प्यूरीफायर से फी शुद्ध बताया जा रहा है।
  • comment

सोनो (बिहार). बरनार नदी के कोड़िया घाट का पानी आज भी फिल्टर वाले पानी से बेहतर है। यहां के पानी का टीडीएस स्तर 80 से 150 एमजी प्रति लीटर के बीच है, जो स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक है। दरअसल, अलग-अलग जगहों का पानी का टीडीएस (टोटल डिजाल्व सॉलिड) स्तर अलग-अलग होता है। डब्ल्यूएचओ के अनुसार 100 से 200 टीडीएस स्तर वाले पानी को ठीक बताया है। खैरा महाराज के पीने के लिए पानी यही से जाता था।

लाभदायक है यह पानी

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 100 से 200 MG प्रति लीटर टीडीएस वाले पानी को पीने के लिए लोगों को सलाह दी है। बरनार नदी के कोड़िया घाट के पानी का टीडीएस स्तर 80 से 100 के बीच है। यहां का पानी स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है तथा पीने में मीठा लगता है।

टीडीएस लेवल 80 से ऊपर

वाटर प्यूरीफायर लगाने वाले सर्विस इंजीनियर नवीन कुमार का कहना है कि प्यूरीफायर का टीडीएस स्तर 60 से ऊपर निर्धारित किया जाता है, जो अच्छा माना जाता है। कुड़िया घाट का पानी का टीडीएस लेवल 80 से अधिक आता है जो वाटर प्यूरीफायर के पानी से बेहतर है।

X
बरनार नदी के इस घाट के पानी को वाटर प्यूरीफायर से फी शुद्ध बताया जा रहा है।बरनार नदी के इस घाट के पानी को वाटर प्यूरीफायर से फी शुद्ध बताया जा रहा है।
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें