--Advertisement--

5 विकेट लेकर रातोंरात स्टार बना ये क्रिकेटर, मां हाउसवाइफ तो पिता हैं एडवोकेट

अनुकूल राय साल 2012 में जमशेदपुर आए थे और यहां के सोनारी स्थित झारखंड क्रिकेट एकेडमी से जुड़े।

Dainik Bhaskar

Jan 17, 2018, 12:21 AM IST
अनुकूल अंडर-19 वर्ल्ड कप क्रिकेट में पापुआ न्यू गिनी के खिलाफ 14 रन देकर पांच विकेट लिया। अनुकूल अंडर-19 वर्ल्ड कप क्रिकेट में पापुआ न्यू गिनी के खिलाफ 14 रन देकर पांच विकेट लिया।

पटना. बिहार के समस्तीपुर के रहने वाले अनुकूल राय रातोंरात स्टार बन गए हैं। उन्होंने मंगलवार को अंडर-19 वर्ल्ड कप क्रिकेट में पापुआ न्यू गिनी के खिलाफ 14 रन देकर पांच विकेट लिया। बता दें कि अनुकूल बायें हाथ के स्पिनर हैं। इसके साथ ही वे अच्छी बल्लेबाजी भी कर लेते हैं।

ऐसा है अनुकूल का बैकग्राउंड

- अनुकूल राय साल 2012 में जमशेदपुर आए थे और यहां के सोनारी स्थित झारखंड क्रिकेट एकेडमी से जुड़े।
- अनुकूल को घर के लोग छन्नू नाम से भी बुलाते हैं। अनुकूल के पिता का नाम सुधाकर राय है जो पेशे से एडवोकेट हैं।
- सुधाकर राय समस्तीपुर में लोअर कोर्ट में हैं जबकि अनुकूल की मां हाउस वाइफ हैं।
- समस्तीपुर की गलियों और पटेल मैदान में क्रिकेट के गुर सीखने वाले अनुकूल मिडिल क्लास फैमिली से हैं।

गांव में जश्न का माहौल, बांटी गई मिठाई

- पांच विकेट लेने की खबर के बाद अनुकूल के गांव में जश्न का माहौल है। उनकी मां का कहना है कि वह क्रिकेट के प्रति बहुत दीवाना था।
- जब स्कूल में था तब गांव या फिर जिले में कहीं भी क्रिकेट मैच होता था तो वह घर से चोरी छुपे वहां पहुंचकर खेलता था।
- उन्होंने बताया कि अनुकूल के पिता ने कई बार खेल का विरोध भी किया लेकिन उसका क्रिकेट के प्रति लगाव कम नहीं हुआ।
- अब टीम इंडिया में सिलेक्शन के बाद बेटे को खेलता देख अनुकूल के मम्मी-पापा दोनों खुश हैं।

कोच ने अनुकूल के बारे में बताई ये बातें

- अनुकूल के कोच ब्रजेश कुमार झा का कहना है कि वह हार्ड हिटर के साथ-साथ स्लो लेफ्ट आर्म स्पिनर है।
- बता दें कि अनुकूल ने वर्ष 2005 से क्रिकेट खेलना शुरु किया था। समस्तीपुर जिले से क्रिकेट खेलते-खेलते वह झारखंड अंडर 19 टीम में खेलने लगा।
- वहीं, झारखंड में खेलने के बाद पिता ने अनुकूल का एडमिशन इंडियन क्रिकेट टीम के पूर्व गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद के क्लब में करवा दिया था।
- बता दें कि अनुकूल झारखंड अंडर-19 क्रिकेट टीम के कैप्टन भी रह चुके हैं।

अनुकूल बायें हाथ के स्पिनर हैं। इसके साथ ही वे अच्छी बल्लेबाजी भी कर लेते हैं। अनुकूल बायें हाथ के स्पिनर हैं। इसके साथ ही वे अच्छी बल्लेबाजी भी कर लेते हैं।
अनुकूल राय साल 2012 में जमशेदपुर आए थे और यहां के सोनारी स्थित झारखंड क्रिकेट एकेडमी से जुड़े। अनुकूल राय साल 2012 में जमशेदपुर आए थे और यहां के सोनारी स्थित झारखंड क्रिकेट एकेडमी से जुड़े।
अनुकूल को घर के लोग छन्नू नाम से भी बुलाते हैं। अनुकूल के पिता का नाम सुधाकर राय है जो पेशे से एडवोकेट हैं। अनुकूल को घर के लोग छन्नू नाम से भी बुलाते हैं। अनुकूल के पिता का नाम सुधाकर राय है जो पेशे से एडवोकेट हैं।
सुधाकर राय समस्तीपुर में लोअर कोर्ट में हैं जबकि अनुकूल की मां हाउस वाइफ हैं। सुधाकर राय समस्तीपुर में लोअर कोर्ट में हैं जबकि अनुकूल की मां हाउस वाइफ हैं।
समस्तीपुर की गलियों और पटेल मैदान में क्रिकेट के गुर सीखने वाले अनुकूल मिडिल क्लास फैमिली से हैं। समस्तीपुर की गलियों और पटेल मैदान में क्रिकेट के गुर सीखने वाले अनुकूल मिडिल क्लास फैमिली से हैं।
पांच विकेट लेने की खबर के बाद अनुकूल के गांव में जश्न का माहौल है। पांच विकेट लेने की खबर के बाद अनुकूल के गांव में जश्न का माहौल है।
उनकी मां का कहना है कि वह क्रिकेट के प्रति बहुत दीवाना था। उनकी मां का कहना है कि वह क्रिकेट के प्रति बहुत दीवाना था।
जब स्कूल में था तब गांव या फिर जिले में कहीं भी क्रिकेट मैच होता था तो वह घर से चोरी छुपे वहां पहुंचकर खेलता था। जब स्कूल में था तब गांव या फिर जिले में कहीं भी क्रिकेट मैच होता था तो वह घर से चोरी छुपे वहां पहुंचकर खेलता था।
अनुकूल के कोच ब्रजेश कुमार झा का कहना है कि वह हार्ड हिटर के साथ-साथ स्लो लेफ्ट आर्म स्पिनर है। अनुकूल के कोच ब्रजेश कुमार झा का कहना है कि वह हार्ड हिटर के साथ-साथ स्लो लेफ्ट आर्म स्पिनर है।
अनुकूल ने वर्ष 2005 से क्रिकेट खेलना शुरु किया था। समस्तीपुर जिले से क्रिकेट खेलते-खेलते वह झारखंड अंडर 19 टीम में खेलने लगा। अनुकूल ने वर्ष 2005 से क्रिकेट खेलना शुरु किया था। समस्तीपुर जिले से क्रिकेट खेलते-खेलते वह झारखंड अंडर 19 टीम में खेलने लगा।
झारखंड में खेलने के बाद पिता ने अनुकूल का एडमिशन इंडियन क्रिकेट टीम के पूर्व गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद के क्लब में करवा दिया था। झारखंड में खेलने के बाद पिता ने अनुकूल का एडमिशन इंडियन क्रिकेट टीम के पूर्व गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद के क्लब में करवा दिया था।
अनुकूल झारखंड अंडर-19 क्रिकेट टीम के कैप्टन भी रह चुके हैं। अनुकूल झारखंड अंडर-19 क्रिकेट टीम के कैप्टन भी रह चुके हैं।
X
अनुकूल अंडर-19 वर्ल्ड कप क्रिकेट में पापुआ न्यू गिनी के खिलाफ 14 रन देकर पांच विकेट लिया।अनुकूल अंडर-19 वर्ल्ड कप क्रिकेट में पापुआ न्यू गिनी के खिलाफ 14 रन देकर पांच विकेट लिया।
अनुकूल बायें हाथ के स्पिनर हैं। इसके साथ ही वे अच्छी बल्लेबाजी भी कर लेते हैं।अनुकूल बायें हाथ के स्पिनर हैं। इसके साथ ही वे अच्छी बल्लेबाजी भी कर लेते हैं।
अनुकूल राय साल 2012 में जमशेदपुर आए थे और यहां के सोनारी स्थित झारखंड क्रिकेट एकेडमी से जुड़े।अनुकूल राय साल 2012 में जमशेदपुर आए थे और यहां के सोनारी स्थित झारखंड क्रिकेट एकेडमी से जुड़े।
अनुकूल को घर के लोग छन्नू नाम से भी बुलाते हैं। अनुकूल के पिता का नाम सुधाकर राय है जो पेशे से एडवोकेट हैं।अनुकूल को घर के लोग छन्नू नाम से भी बुलाते हैं। अनुकूल के पिता का नाम सुधाकर राय है जो पेशे से एडवोकेट हैं।
सुधाकर राय समस्तीपुर में लोअर कोर्ट में हैं जबकि अनुकूल की मां हाउस वाइफ हैं।सुधाकर राय समस्तीपुर में लोअर कोर्ट में हैं जबकि अनुकूल की मां हाउस वाइफ हैं।
समस्तीपुर की गलियों और पटेल मैदान में क्रिकेट के गुर सीखने वाले अनुकूल मिडिल क्लास फैमिली से हैं।समस्तीपुर की गलियों और पटेल मैदान में क्रिकेट के गुर सीखने वाले अनुकूल मिडिल क्लास फैमिली से हैं।
पांच विकेट लेने की खबर के बाद अनुकूल के गांव में जश्न का माहौल है।पांच विकेट लेने की खबर के बाद अनुकूल के गांव में जश्न का माहौल है।
उनकी मां का कहना है कि वह क्रिकेट के प्रति बहुत दीवाना था।उनकी मां का कहना है कि वह क्रिकेट के प्रति बहुत दीवाना था।
जब स्कूल में था तब गांव या फिर जिले में कहीं भी क्रिकेट मैच होता था तो वह घर से चोरी छुपे वहां पहुंचकर खेलता था।जब स्कूल में था तब गांव या फिर जिले में कहीं भी क्रिकेट मैच होता था तो वह घर से चोरी छुपे वहां पहुंचकर खेलता था।
अनुकूल के कोच ब्रजेश कुमार झा का कहना है कि वह हार्ड हिटर के साथ-साथ स्लो लेफ्ट आर्म स्पिनर है।अनुकूल के कोच ब्रजेश कुमार झा का कहना है कि वह हार्ड हिटर के साथ-साथ स्लो लेफ्ट आर्म स्पिनर है।
अनुकूल ने वर्ष 2005 से क्रिकेट खेलना शुरु किया था। समस्तीपुर जिले से क्रिकेट खेलते-खेलते वह झारखंड अंडर 19 टीम में खेलने लगा।अनुकूल ने वर्ष 2005 से क्रिकेट खेलना शुरु किया था। समस्तीपुर जिले से क्रिकेट खेलते-खेलते वह झारखंड अंडर 19 टीम में खेलने लगा।
झारखंड में खेलने के बाद पिता ने अनुकूल का एडमिशन इंडियन क्रिकेट टीम के पूर्व गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद के क्लब में करवा दिया था।झारखंड में खेलने के बाद पिता ने अनुकूल का एडमिशन इंडियन क्रिकेट टीम के पूर्व गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद के क्लब में करवा दिया था।
अनुकूल झारखंड अंडर-19 क्रिकेट टीम के कैप्टन भी रह चुके हैं।अनुकूल झारखंड अंडर-19 क्रिकेट टीम के कैप्टन भी रह चुके हैं।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..