--Advertisement--

पांच साल पहले मुश्किल से मिला था खून, अब शादी से पहले करेंगे ब्लड डोनेट

सात फेरे लेने से पहले वह ब्लड डोनेट कर यूथ्स को मैसेज देंगे कि ब्लड डोनेशन सबसे बड़ा सोशल वर्क है।

Dainik Bhaskar

Feb 07, 2018, 08:16 AM IST
सात फेरे लेने से पहले देववर्द्धन ब्लड डोनेट कर यूथ्स को मैसेज देंगे कि ब्लड डोनेशन सबसे बड़ा सोशल वर्क है। सात फेरे लेने से पहले देववर्द्धन ब्लड डोनेट कर यूथ्स को मैसेज देंगे कि ब्लड डोनेशन सबसे बड़ा सोशल वर्क है।

पूर्णिया. यहां के रहने वाले देववर्द्धन एक अनोखी पहल करने जा रहे हैं। 7 फरवरी यानी आज उनकी शादी है, लेकिन सात फेरे लेने से पहले वह ब्लड डोनेट कर यूथ्स को मैसेज देंगे कि ब्लड डोनेशन सबसे बड़ा सोशल वर्क है। आपकी खून से किसी जरुरतमंद की जान बच सकती है। पांच साल पहले अपने चाचा के लिए खून की जरूरत और इसके लिए कड़ी मशक्कत के समय ही देववर्द्धन ने ठानी थी कि वे ब्लड डोनेशन को हमेशा बढ़ावा देंगे।

देववर्द्धन ने बताई ये स्टोरी

- देववर्द्धन ने बताया कि 2013 में उनके चाचा पीजीआई लखनऊ में एडमिट थे। उनके ऑपरेशन में 15 यूनिट ब्लड के लिए उन्हें काफी परेशानी हुई थी।
- तभी से वह लोगों को ब्लड डोनेट करने के लिए अवेयर करने और खुद ब्लड डोनेट करने का संकल्प लिया।
- छत्तीसगढ़ में प्राइवेट स्कूल चला रहे देववर्द्धन के शादी से पहले इस सामाजिक सोच की उसके दोस्त, परिवार और अन्य लोग न केवल सराहना कर रहे हैं बल्कि वे उसका हौसला बढ़ाने के लिए खुद भी ब्लड डोनेट करेंगे।

वैवाहिक जीवन की शुरुआत से पहले लोगों की दुआएं मिले, इससे अच्छा मेरे लिए और क्या होगा: देववर्द्धन

- देववर्द्धन को ये प्रेरणा कहां से मिली, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि शादी जैसे शुभ मुहूर्त, जहां से हम एक नई जिंदगी की शुरुआत करने जा रहे हैं, ऐसे में यदि हम किसी के काम आ सके तो इससे बड़ी बात और क्या हो सकती है।
- उन्होंने कहा कि लोगों की दुआएं मिले, यही मेरे लिए बड़ी बात है। देववर्द्धन ने कहा कि यही सोच कर मैंने शादी के सात फेरे लेने से पहले रक्तदान करने की सोची और परिवार के सभी सदस्यों ने इसमें मेरा हौसला बढ़ाया। मेरे परिवार के अन्य सदस्य भी 10 यूनिट ब्लड डोनेट करेंगे।

पांच साल पहले अपने चाचा के लिए खून की जरूरत और इसके लिए कड़ी मशक्कत के समय ही देववर्द्धन ने ठानी थी कि वे ब्लड डोनेशन को हमेशा बढ़ावा देंगे। पांच साल पहले अपने चाचा के लिए खून की जरूरत और इसके लिए कड़ी मशक्कत के समय ही देववर्द्धन ने ठानी थी कि वे ब्लड डोनेशन को हमेशा बढ़ावा देंगे।
देववर्द्धन ने बताया कि 2013 में उनके चाचा पीजीआई लखनऊ में एडमिट थे। देववर्द्धन ने बताया कि 2013 में उनके चाचा पीजीआई लखनऊ में एडमिट थे।
चाचा के ऑपरेशन में 15 यूनिट ब्लड के लिए उन्हें काफी परेशानी हुई थी। चाचा के ऑपरेशन में 15 यूनिट ब्लड के लिए उन्हें काफी परेशानी हुई थी।
तभी से वह लोगों को ब्लड डोनेट करने के लिए अवेयर करने और खुद ब्लड डोनेट करने का संकल्प लिया। तभी से वह लोगों को ब्लड डोनेट करने के लिए अवेयर करने और खुद ब्लड डोनेट करने का संकल्प लिया।
छत्तीसगढ़ में प्राइवेट स्कूल चला रहे देववर्द्धन के शादी से पहले इस सामाजिक सोच की उसके दोस्त, परिवार और अन्य लोग न केवल सराहना कर रहे हैं बल्कि वे उसका हौसला बढ़ाने के लिए खुद भी ब्लड डोनेट करेंगे। छत्तीसगढ़ में प्राइवेट स्कूल चला रहे देववर्द्धन के शादी से पहले इस सामाजिक सोच की उसके दोस्त, परिवार और अन्य लोग न केवल सराहना कर रहे हैं बल्कि वे उसका हौसला बढ़ाने के लिए खुद भी ब्लड डोनेट करेंगे।
देववर्धन की होने वाली वाइफ। देववर्धन की होने वाली वाइफ।
X
सात फेरे लेने से पहले देववर्द्धन ब्लड डोनेट कर यूथ्स को मैसेज देंगे कि ब्लड डोनेशन सबसे बड़ा सोशल वर्क है।सात फेरे लेने से पहले देववर्द्धन ब्लड डोनेट कर यूथ्स को मैसेज देंगे कि ब्लड डोनेशन सबसे बड़ा सोशल वर्क है।
पांच साल पहले अपने चाचा के लिए खून की जरूरत और इसके लिए कड़ी मशक्कत के समय ही देववर्द्धन ने ठानी थी कि वे ब्लड डोनेशन को हमेशा बढ़ावा देंगे।पांच साल पहले अपने चाचा के लिए खून की जरूरत और इसके लिए कड़ी मशक्कत के समय ही देववर्द्धन ने ठानी थी कि वे ब्लड डोनेशन को हमेशा बढ़ावा देंगे।
देववर्द्धन ने बताया कि 2013 में उनके चाचा पीजीआई लखनऊ में एडमिट थे।देववर्द्धन ने बताया कि 2013 में उनके चाचा पीजीआई लखनऊ में एडमिट थे।
चाचा के ऑपरेशन में 15 यूनिट ब्लड के लिए उन्हें काफी परेशानी हुई थी।चाचा के ऑपरेशन में 15 यूनिट ब्लड के लिए उन्हें काफी परेशानी हुई थी।
तभी से वह लोगों को ब्लड डोनेट करने के लिए अवेयर करने और खुद ब्लड डोनेट करने का संकल्प लिया।तभी से वह लोगों को ब्लड डोनेट करने के लिए अवेयर करने और खुद ब्लड डोनेट करने का संकल्प लिया।
छत्तीसगढ़ में प्राइवेट स्कूल चला रहे देववर्द्धन के शादी से पहले इस सामाजिक सोच की उसके दोस्त, परिवार और अन्य लोग न केवल सराहना कर रहे हैं बल्कि वे उसका हौसला बढ़ाने के लिए खुद भी ब्लड डोनेट करेंगे।छत्तीसगढ़ में प्राइवेट स्कूल चला रहे देववर्द्धन के शादी से पहले इस सामाजिक सोच की उसके दोस्त, परिवार और अन्य लोग न केवल सराहना कर रहे हैं बल्कि वे उसका हौसला बढ़ाने के लिए खुद भी ब्लड डोनेट करेंगे।
देववर्धन की होने वाली वाइफ।देववर्धन की होने वाली वाइफ।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..