--Advertisement--

लूट के लिए 40 डकैतों ने फोड़े 24 बम, 40 गोली चलाई, फिर 11 जिंदा बम रख भागे

घर की महिलाओं को पूरी तीन मंजिला बिल्डिंग बम से उड़ाने की धमकी दी, जिसके बाद महिलाओं ने दरवाजा खोला।

Dainik Bhaskar

Jan 18, 2018, 07:05 AM IST
डकैतों ने बांस के सहारे सीढ़ी बनाकर घर में लूट की घटना को अंजाम दिया। डकैतों ने बांस के सहारे सीढ़ी बनाकर घर में लूट की घटना को अंजाम दिया।

किशनगंज (बिहार). यहां मंगलवार रात 12 बजे गोलियों और देसी बमों के धमाकों से इलाका गूंज उठा। करीब 40 डकैतों ने बाजार के ज्वेलर सह प्रॉपर्टी डीलर नंदू चौधरी के घर डाका डाला और डेढ़ लाख नगद सहित एक लाख के ज्वैलरी लूट लिए। ढाई लाख की इस डकैती के लिए डकैतों ने 24 बम फोड़ दिए, करीब 40 राउंड फायर भी किए और पुलिस पीछा न करे इसलिए रास्ते में 11 जिंदा बम बिछाकर वहां से फरार भी हो गए।

बांस को काटकर बनाई सीढ़ी, पहुंच गए थे छत पर

बताया जा रहा है कि बिल्डिंग की छत पर जाने के लिए डकैतों ने चार बांस काटे और उसकी दो सीढ़ी बनाई। घर के अंदर घुसने से पहले ही डकैत सीढ़ी की सहायता से छत और पहली मंजिल पर पहुंच चुके हैं। डकैतों तक कोई न पहुंच पाए इसलिए हथियार से लैस जो डकैत थे, उन्होंने बिल्डिंग को चारों ओर से घेर लिया था और ऊपर से गोली बरसा रहे थे। डकैत घर के सदस्यों से बार-बार मेन लॉकर की चॉबी मांग रहे थे। जब महिलाओं ने कहा कि उनके पास मेन लॉकर की चॉबी नहीं है तो उन्होंने उसे तोड़ने की भी कोशिश की, लेकिन जब सफल नहीं हुए तो मारपीट करने लगे। इस दौरान उन्होंने महिलाओं के गहने भी उतरवा लिए। बताया गया कि मेन लॉकर की चॉबी घर के बड़े बेटे के पास थी जो बाहर गया हुआ था।

धमकी के बाद महिलाओं ने खोला दरवाजा

डकैत गोलियों की आवाज और बम के धमाकों के साथ ही घर में घुसे। उन्होंने घर की महिलाओं को पूरी तीन मंजिला बिल्डिंग बम से उड़ाने की धमकी दी, जिसके बाद महिलाओं ने दरवाजा खोला। डकैती की इस घटना की सबसे पहले जानकारी एक किमी दूर पोठिया पुलिस के गश्ती वाहन को लगी, जिन्होंने मौके पर पहुंचकर कंट्रोल रूम में इसकी जानकारी दी। इस दौरान पुलिस और डकैतों के बीच 20 मिनिट तक फायरिंग हाेती रही। जिसके बाद डकैत फायरिंग करते हुए और रास्तों पर जिंदा देशी बम को बिछाकर वहां से फरार हो गए। पूरे मामले में संदेहास्पद यह लग रहा है कि करीब 30 से 40 हजार के गोली-बम फोड़ने के बाद 40 डकैत सिर्फ ढ़ाई लाख की लूट करके ले गए। घटना के बाद से ग्रामीणों में दहशत का माहौल है। उन्होंने पुलिस प्रशासन से क्षेत्र में चौकी खोलने की मांग की है।

कोहरे का फायदा उठाकर भाग गए डकैत

एक ओर डकैत दूसरी और तीसरी मंजिल से लगातार फायर कर किसी को भी बिल्डिंग के पास नहीं पहुंचने दे रहे थे तो दूसरी ओर आसपास के थानों का बल भी घटना स्थल पर पहुंचने लगा था। चारों ओर से घिरने की आशंका से डकैत पीछे की ओर गोलियां बरसाते हुए कोहरे की आड़ में आसानी से वहां से फरार हो गए।

यात्री निवास के पास मिला गोली का डब्बा

मकान मालिक के घर के पास स्थित बस स्टैंड के यात्री निवास के फर्श पर गोली का डब्बा बरामद हुआ है। यहीं पास में अपराधियों ने एक गड्‌ढा भी खोदा है जिसमें अपराधियों द्वारा कुछ छिपाए जाने की आशंका जाहिर की जा रही है। एसपी राजीव मिश्रा ने भी माना कि अपराधियों ने घर की पूर्व से ही रेकी की थी।

एसपी ने कहा - तार चोर गिरोह ने दिया घटना को अंजाम, सोनापुर की ओर भागे

एसपी राजीव मिश्रा के अनुसार बंगाल पुलिस को सूचना देकर वहां भी नाकेबंदी कराई गई। घटना के तुरंत बाद से छापेमारी जारी है। जिले के सभी प्रवेश और निकास द्वार पर सघन चेकिंग कराई गई। प्रारंभिक अनुसंधान में पुलिस को कुछ महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे हैं। कई आपराधिक किस्म के लोगों के घर रात ही जांच की गई जो घटना के समय अपने घरों में नहीं थे। घटना तार चोर गिरोह के द्वारा अंजाम दिया गया है। इसमें बंगाल, कटिहार के बलरामपुर सहित आसपास के अपराधी शामिल हैं। अपराधी घटना को अंजाम देकर सोनापुर बंगाल की ओर निकल भागे हैं।

घटनास्थल से 11 जिंदा बम व दर्जनों खोखे बरामद

घटनास्थल से पुलिस ने ग्यारह जिंदा देसी बम बरामद किये हैं। बमों को पानी में डालकर फिलहाल निष्क्रिय कर दिया गया है। यह बम अपराधी भागने के क्रम में रास्तों पर छोड़ गए थे ताकि किसी वाहन से पीछा न किया जा सके। इसके अलावा मौके से पुलिस ने दर्जनों खाली कारतूस, अपराधियों द्वारा प्रयुक्त हथौड़ा, सीढ़ी आदि बरामद किया है।

कोई पास न आए इसलिए लगातार कर रहे थे फायरिंग

तीन मंजिला इमारत में 10 कमरे हैं। हर कमरे में दो डकैत थे। इसके अलावा कुछ बिल्डिंग के पीछे तो कुछ छत पर मोर्चा संभाले हुए थे। ग्रामीण या पुलिस जैसे ही बिल्डिंग के पास जाने की कोशिश करती, डकैत जोर-जोर से गाली गलौंच करने लगते और जिनके पास हथियार थे वे गोलिया चलाते और बम फोड़ रहे थे।

किराएदारों के यहां भी की लूट, बनाया बंधक

डकैतों ने नंदू चौधरी के किरायेदार को भी अपना निशाना बनाया। किरायेदार सुबोध कुमार ने बताया कि अपराधियों ने उनके घर में रखे पचास हजार नकदी सहित उनकी पत्नी के गले का चेन, नाक का बेसर और उनकी बेटी के कान का झुमका भी लूट लिया। इस दौरान अपराधियों ने उनके बेटे पियूष सहित सभी लोगो को पिता और हाथ-पैर बांध दिया।

पुलिस का दावा फायरिंग में दो डकैतों को लगी है गोली

एसपी राजीव मिश्रा ने बताया कि घना कोहरा होने के कारण पुलिस को और खुद उन्हें भी पहुंचने में देर लगी। लेकिन आस पास के थाने पुलिस बल के साथ तुरंत मौके पर पहुंच चुकी थी। पुलिस की बढ़ती संख्या देख वो भागने पर मजबूर हो गए। उन्होंने दावा किया कि पुलिस की जवाबी कार्रवाई में दो डकैतों को गोली लगी है। घटना के बाद आठ थानों की टीम स्थल पर पहुंची।

रास्ते से बरामद जिंदा बम जिसे पानी में रखा गया। रास्ते से बरामद जिंदा बम जिसे पानी में रखा गया।
घटना की जानकारी के बारे में बताते हुए एक बुजुर्ग। घटना की जानकारी के बारे में बताते हुए एक बुजुर्ग।
X
डकैतों ने बांस के सहारे सीढ़ी बनाकर घर में लूट की घटना को अंजाम दिया।डकैतों ने बांस के सहारे सीढ़ी बनाकर घर में लूट की घटना को अंजाम दिया।
रास्ते से बरामद जिंदा बम जिसे पानी में रखा गया।रास्ते से बरामद जिंदा बम जिसे पानी में रखा गया।
घटना की जानकारी के बारे में बताते हुए एक बुजुर्ग।घटना की जानकारी के बारे में बताते हुए एक बुजुर्ग।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..