Hindi News »Bihar »Patna» Bombs Found In Bodh Gaya Were Defused

यहां आतंकियों की थी सीरियल ब्लास्ट की तैयारी, बरामद बम को ऐसे किया डिफ्यूज

बिहार में हुए अब तक के आतंकी हमलों में अब तक इतना शक्तिशाली बम नहीं मिला था।

रत्नेश कुमार | Last Modified - Jan 22, 2018, 03:53 AM IST

  • यहां आतंकियों की थी सीरियल ब्लास्ट की तैयारी, बरामद बम को ऐसे किया डिफ्यूज
    +5और स्लाइड देखें
    बमों को निरंजना नदी में बालू के अंदर दबाकर ब्लास्ट कराया गया।

    गया (बिहार). महाबोधि मंदिर के समीप से शुक्रवार की रात जब्त शक्तिशाली बम को रविवार को डिफ्यूज कर दिया गया। इसके धमाके की गूंज बोधगया के करीब चार से पांच किलोमीटर के दायरे में सुनाई दी। बमों को यहां के निरंजना नदी में बालू के अंदर दबाकर ब्लास्ट कराया गया। बालू के कण करीब 700 मीटर के दायरे तक उड़े। एनआईए-एनएसजी की मौजूदगी में सीआरपीएफ, कोबरा, एसएसबी के बम निरोधक दस्ते ने बम को डिफ्यूज किया गया।

    आईएम नहीं, दूसरे आतंकी संगठन पर शक

    - अब यह भी पुष्टि हो गई है कि कालचक्र मैदान के पास 19 जनवरी की रात को हुआ पहला विस्फोट लाइट बम का था।

    - इधर, एक अधिकारी ने बताया कि बिहार में अब तक हुए आतंकी हमले में इस तरह के विस्फोट का इस्तेमाल नहीं किया गया था।

    - इसलिए आईएमए के अलावा अन्य आतंकी संगठन पर शक है। डिफ्यूज हुए बम टाइमर थे।

    - नदी में दो बमों के विस्फोट कराने के बाद एनआईए ने इसका सैंपल लिया। 2013 के विस्फोट से इसका मिलान किया जाएगा।

    - बम डिफ्यूज के लिए करीब साढ़े चार घंटे तक ऑपरेशन चला। इस दौरान करीब एक किलोमीटर के दायरे को ब्लाक रखा गया। बम को रविवार की शाम 6ः05 में विस्फोट करवाया गया।

    बोधगया में थी सीरियल ब्लास्ट की पूरी तैयारी

    - बोधगया में सीरियल ब्लास्ट की आतंकी योजना थी। आतंकियों ने इसके लिए टाइमर बम लगाए थे। तीनों टाइमर बम काफी शक्तिशाली थे। सभी की टाइमिंग फिक्स थी।

    - योजना के अनुसार तीन महत्वपूर्ण स्थानों को आतंकियों ने बम प्लांट करने को चुना था। महाबोधि मंदिर के गेट नंबर नंबर चार के पास एक टाइमर रखा गया था।

    - यहां पर तो आतंकियों की यह भी कोशिश थी कि बम को मंदिर के अंदर फेंका जाए। दूसरा बम दलाईलामा के आवासन स्थान महाबोधि सोसायटी के समीप रखा गया था। वहीं तीसरा टाइमर बम कालचक्र मैदान के दक्षिणी द्वार पर रखी गई थी।

    कालचक्र मैदान के पास चार लेयर का था बम, एक लेयर में हुआ था विस्फोट

    - 19 जनवरी की शाम आतंकियों द्वारा कालचक्र मैदान के समीप बम रखने की हड़बड़ी में यह ब्लास्ट हुआ।

    - तीनों टाइमर बम में से एक रहा यह बम चार लेयर का था, जिसमें एक लेयर का विस्फोट आतंकी की हड़बड़ी के कारण रखने के क्रम में हो गया।

    - इस टाइमर बम को निश्चित समय पर आतंकियों द्वारा विस्फोट किया जाना था। किंतु इसे प्लांट करने की हड़बड़ी में यह ब्लास्ट कर गया।

    - कालचक्र मैदान के समीप से तार समेत कई सामग्रियां बरामद की गई हैं। बरामद पावर जेल 90 का उपयोग पत्थरों को तोड़ने के लिए किया जाता है।

    चाइना पर शक, एनएसजी-एनआईए कर रहे जांच

    - दहलाने की साजिश को लेकर कई आतंकी की ओर शक की सूई है। चीन, पाकिस्तान के अलावे रोहिंग्या आतंकी गुट पर आशंका जताया जा रहा।

    - वैसे बम के चाइना निर्मित होने की बात बताई जा रही है, जिससे चीन पर सीधा शक जा रहा। चीन समर्थित सुगडेन आतंकी संगठन से खतरा था।

    -

    बिहार में हुए आतंकी हमलों में नहीं मिला था इतना शक्तिशाली बम

    - बिहार में हुए अब तक के आतंकी हमलों में अब तक इतना शक्तिशाली बम नहीं मिला था। एटीएस के एक अधिकारी की मानें तो आतंकियों द्वारा प्लांट किया गया बम अब तक बिहार में नहीं मिला है।

    - गांधी मैदान पटना में हुए आतंकी ब्लास्ट में भी इतना हाई सिक्युएंसी का बम नहीं था। बोधगया में 2013 में हुए बम धमाके में भी मारक क्षमता कम थी।

  • यहां आतंकियों की थी सीरियल ब्लास्ट की तैयारी, बरामद बम को ऐसे किया डिफ्यूज
    +5और स्लाइड देखें
    महाबोधि मंदिर के पास से बरामद दो बमों को डिफ्यूज करती एनआईए की टीम।
  • यहां आतंकियों की थी सीरियल ब्लास्ट की तैयारी, बरामद बम को ऐसे किया डिफ्यूज
    +5और स्लाइड देखें
    ब्लास्ट के दौरान मौजूद अधिकारी।
  • यहां आतंकियों की थी सीरियल ब्लास्ट की तैयारी, बरामद बम को ऐसे किया डिफ्यूज
    +5और स्लाइड देखें
    एनआईए के अधिकारी बम के सेंपल की जांच करते हुए
  • यहां आतंकियों की थी सीरियल ब्लास्ट की तैयारी, बरामद बम को ऐसे किया डिफ्यूज
    +5और स्लाइड देखें
    एनएसजी के जवान भी पहुंचे बोधगया।
  • यहां आतंकियों की थी सीरियल ब्लास्ट की तैयारी, बरामद बम को ऐसे किया डिफ्यूज
    +5और स्लाइड देखें
    एंटी लैंड माइंस वैन के साथ सुरक्षा में तैनात जवान।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Patna News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Bombs Found In Bodh Gaya Were Defused
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×