पटना

--Advertisement--

मुंबई से जुड़ा बोधगया में मिले बम का कनेक्शन, पुलिस ने FIR में किया उल्लेख

विस्फोट वाले स्थान पर बरामद सामग्री में सोलर इंडस्ट्रीज चकदह नागपुर लिखा है।

Danik Bhaskar

Jan 22, 2018, 03:54 AM IST

बोधगया (बिहार). बोधगया में मिले बम के तार अब मुंबई से भी जुड़ गए हैं। पुलिस के दर्ज एफआईआर में इसका उल्लेख भी किया गया है। बताया गया है कि 19 जनवरी की रात को कालचक्र मैदान के दक्षिणी प्रवेश द्वार के समीप संदिग्ध वस्तु की सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची थी। एक डिब्बे में संदिग्ध वस्तु को देख सतर्कता के दृष्टि से सुरक्षा घेरा बनाया गया। इसी बीच उक्त वस्तु आवाज के साथ फट गई।

आंशिक विस्फोट के कारण कोई क्षति नहीं हुई। इसके बाद एसएसपी के निर्देश पर सघन जांच अभियान चलाया गया। इस क्रम में महाबोधि सोसायटी ऑफ इंडिया और बोधगया महाबोधि मंदिर के उतरी चहारदीवारी के गेट नंबर चार के समीप संदिग्ध वस्तु को पाया गया। कालचक्र के समीप हुई जांच में उच्च शक्ति का विस्फोटक यंत्र जो आंशिक रूप से विस्फोट हुआ था, ऐसा पाया गया।

मुंबई के चकदह नागपुर का लिखा है नाम


विस्फोट वाले स्थान पर बरामद सामग्री में सोलर इंडस्ट्रीज चकदह नागपुर लिखा है। इसके बाद दो और बम बरामद किए गए। इसमें संलिप्त आतंकी संगठन की योजना जान माल की क्षति पहुंचाने की थी। फिलहाल इस मामले को लेकर देशद्रोह का केस दर्ज किया गया है, जिसमें अज्ञात आतंकी आरोपित बनाए गए हैं।

विष्णुपद और मंगलागौरी की सुरक्षा अब भी लचर

बोधगया में बम मिलने की घटना के बाद भी गया पुलिस ने सबक नहीं लिया है। गया के पुलिस अधिकारी बोधगया को लेकर सतर्कता बरतते हुए हर महत्वपूर्ण स्थलों की सुरक्षा मजबूत करने और जांच करने के दावे तो कर रहे। किंतु जमीन पर ऐसा कुछ भी नहीं दिख रहा। विष्णुपद में मुख्य द्वार पर अब भी डोर लाई डिटेक्टर खराब था तो पश्चिमी दरवाजे पर लगा डोर लाई डिटेक्टर के ठीक रहने के बाद भी गार्ड लापरवाह दिखा। लोग आराम से लाई डिटेक्टर के बजाए इसके बगल से निकल जा रहे थे। वहीं मंगलागौरी मंदिर में प्रतिदिन श्रद्धालुओं यहां आते है, लेकिन इस घटना के बाद एक भी पुलिस नहीं दिखी।

Click to listen..