--Advertisement--

दारोगा ने महिला से कहा- 10 हजार दीजिए, महिला बोली- 5 हजार ले लीजिए...

फोन पर बातचीत का यह अंश, अारा मुफस्सिल थाना के एक दारोगा व एक महिला के बीच का है।

Dainik Bhaskar

Jan 09, 2018, 02:45 AM IST
सोशल मीडिया पर वायलर मैसेज। सोशल मीडिया पर वायलर मैसेज।

आरा. दारोगा बोला, हजार-दो हजार रुपए दिखाने से काम नहीं चलेगा दस हजार रुपए दीजिए। महिला बोली, मैं गरीब परिवार से हूं पांच हजार रुपए लेकर पिता जी को छोड़ दीजिए। फोन पर बातचीत का यह अंश, अारा मुफस्सिल थाना के एक दारोगा व एक महिला के बीच का है। यह आॅडियो क्लिप सोमवार को सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। मामला आरा के एक गांव में मारपीट मामले में गिरफ्तारी से जुड़ा है।

इधर, रिकॉर्डिंग में एक दारोगा अपना नाम मोहन जी बता रहा है। वह अपने को केस का अनुसंधानकर्ता बताते हुए पकड़े गए आरोपी ललन चौधरी की बेटी और बहू से फोन पर रिश्वत की मांग कर रहा है।

थाने से बेल देने के नाम पर मांगे जा रहे थे पैसे, सरपंच को बोल रहे थे “दलाल’

मोबाइल फोन पर बातचीत का जो ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ हैं उसमें अनुसंधानकर्ता दारोगा से महिला बोल रही हैं कि सरपंच साहब को भेजे हैं। सरपंच का नाम सुनते ही दारोगा बिदक जाता है। दारोगा फोन पर ही महिला से कहता हैं कि सरपंच बड़का दलाल है। किसी दूसरे आदमी को भेजिए। महिला बोल रही है कि बुढ़ी एवं उनके भाई भी गए हैं। दारोगा कहता हैं कि बुढ़ी हजार-दो हजार रुपए दिखा रही है,उससे नहीं होगा। दस हजार रूपए देना होगा। तीनों को बेल दे देंगे। इस पर महिला बोलती हैं कि मैं गरीब परिवार से हूं, पांच हजार रुपए लेकर छोड़ दीजिए। पति विदेश गए हैं। पैसा का दिक्कत है। यह सुनकर दारोगा मान जाता है। भेंट करने के लिए बोलता है।

थाने में दर्ज हुआ था साल का पहला केस, उसमें भी उगाही का खेल

इस मामले को लेकर सोशल मीडिया पर वाॅयस रिकार्डिंग एवं मैसेज दोनों वायरल है। बताया जा रहा है कि दारोगा माेहन लाल प्रसाद एवं पुलिस इंस्पेटर ने चंदा गांव के 65 वर्षीय ललन चौधरी को 3 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था। उसे 24 घंटे से अधिक समय तक थाने में बंद कर चार जनवरी को उनके घर पर फोन कर छोड़ने के एवज में दस हजार रुपए की डिमांड की गई थी। बताते चलें कि 31 दिसंबर 2017 को गांव में जमीन बंटवारे के विवाद में दो गुटों के बीच मारपीट में ललन चौधरी की गिरफ्तारी हुई थी।

RJD MLA बोले, DGP एवं IG के पास कर चुका हूं शिकायत

इधर, बड़हरा के राजद विधायक सरोज यादव ने कहा कि आरा मुफस्सिल थाना के केस में आरोपी को छोड़ने के एवज में दस हजार रूपये की मांग किए जाने की शिकायत प्रदेश के डीजीपी से लेकर पटना के जोनल आईजी के पास की है। ऑडियो क्लिप भी भेज दिए है। अगर विभागीय कार्रवाई नहीं हुई तो पार्टी आंदोलन करेगी। 13 जनवरी को सीएम नीतीश कुमार के भोजपुर आगमन के दौरान मामले को उठाया जाएगा।

बोले एसपी- डीएसपी को जांच के लिए कहा, दोषी पाए जाने पर हाेगी कार्रवाई

इधर, भोजपुर एसपी अवकाश कुमार ने कहा कि मामले में आरा के सदर एसडीपीओ संजय कुमार को जांच का आदेश दिया गया है। मंगलवार तक जांच रिपोर्ट समर्पित किए जाने का निर्देश दिया गया है। जांच में दोषी पाए जाने पर संबंधित दाराेगा के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

वायरल ऑडियो। वायरल ऑडियो।
X
सोशल मीडिया पर वायलर मैसेज।सोशल मीडिया पर वायलर मैसेज।
वायरल ऑडियो।वायरल ऑडियो।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..