--Advertisement--

कश्मीर पुलवामा में तैनात BSF के जवान की मौत, पत्नी से कही थी ये बात

वर्ष 1984 में बीएसफ में भर्ती हुए। उनकी पहली पोस्टिंग शिलांग में हुई थी।

Danik Bhaskar | Dec 09, 2017, 07:32 AM IST

जगदीशपुर (आरा). सरहद की रक्षा के दौरान तबीयत बिगड़ने के बाद भोजपुर जिले के एक सपूत ने अपने प्राण की आहूति दी है। जगदीशपुर प्रखंड के बभनियाव पंचायत के पीलापुर गांव के बीएसएफ जवान इकराम राम की कश्मीर में मौत की सूचना मिलने के बाद शुक्रवार को इलाके में शोक है। जवान का शव शनिवार को आने की संभावना है। 50 वर्षीय बीएसएफ जवान इकराम राम जम्मू-कश्मीर में पुलवामा में तैनात थे। बताया जा रहा है कि डयूटी के दौरान उनकी तबीयत बिगड़ गयी। इलाज के दौरान गुरुवार की सुबह उनकी मौत हो गयी।

दिवंगत जवान इकराम के पिता स्व. यमुना राम भी फौज में थे। अपने पिता के देश प्रेम को देखकर इकराम में भी देश की रक्षा करने का जज्बा था। वर्ष 1984 में बीएसफ में भर्ती हुए। उनकी पहली पोस्टिंग शिलांग में हुई थी। वे कश्मीर में 3 साल से तैनात थे। दिवंगत जवान के साले के पुत्र जगदीशपुर के कहेन गांव के शिवशंकर राम ने बताया कि पिछले 5 दिसम्बर को उन्हें श्रीनगर से सूचना दी गयी कि कमर के नीचे घाव होने के कारण शरीर में इन्फेक्शन हो गया है। उनकी तबीयत खराब है। श्रीनगर में उनका इलाज चल रहा है। उनके तबीयत खराब होने की सूचना मिलने के बाद उनकी पत्नी सुदामो देवी और एकलौता पुत्र प्रेमचंद राम सकते मे पड़ गये। चिंता में मां-बेटे की भी तबियत खराब हो गयी है। शिवशंकर ने बताया कि गुरुवार की शाम श्रीनगर से उनके निधन की सूचना मिली। लेकिन, उनके पत्नी व बेटे की खराब तबीयत को देखते हुए दोनों को उनके मौत की अभी जानकारी नहीं दी गयी है। पत्नी सुदामो देवी को सिर्फ़ इतना पता है कि उनके पति की तबियत खराब है और इसी को लेकर उनका रो-रोककर बुरा हाल है।

बर्फबारी में कमर पर बर्फ गिरने की चर्चा

चर्चा है कि डयूटी के दौरान कमर पर बर्फ गिरने से उनकी तबीयत बिगड़ गयी। इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी।

अधूरा रह गया इकलौते बेटे की धूमधाम से शादी का सपना
दिवंगत जवान इकराम राम का इकलौते पुत्र प्रेमचंद राम के शादी का सपना अधूरा रह गया। दिवंगत जवान के बेटे प्रेमचंद राम बभनियाव पंचायत के बीडीसी हैं। उनकी शादी पटना जिले के मसौढी के सुखटिया गांव में तय है। अगले साल 18 अप्रैल को तिलक और 24 अप्रैल को बारात है। इकराम शादी में आने के लिए अभी से आवेदन दे चुके थे।

पत्नी के कान का इलाज कराने को कहा था
5 दिसम्बर को इकराम राम ने अपनी पत्नी से बात किया था। उनकी पत्नी सुदामो देवी का कान में समस्या है। जवान ने अपने पत्नी से कहा था कि वे अपने कान का इलाज कराए। इसके बाद जवान से परिजनों को बात नहीं हुई। बेचारी पत्नी को अभी पता भी नहीं है कि उनके पति अब इस दुनिया में नहीं रहे। उन्हें जानबूझकर बताया नहीं गया है।