--Advertisement--

कारोबारी की अपराधियों ने मारी मारकर की हत्या, सूद पर देता था लोगों को रुपए

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि ताबड़तोड़ तीन गोलियां चलने की आवाज आई। जब घटनास्थल पर पहुंचे तो व्यवसायी युवक मृत पड़ा था।

Danik Bhaskar | Jan 22, 2018, 07:43 AM IST

बक्सर. धनसोईं में रविवार की अहले सुबह एक युवा व्यवसायी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। हत्या उस वक्त हुई जब वह शौच के लिए बाहर निकला था। अपराधियों ने व्यवसायी के कनपट्टी में सटाकर एक गोली उसके खोपड़ी में उतार दी। गोली लगने से पूर्व अपराधियों के साथ उसका विवाद भी हुआ। जिसमें चिल्लाने की आवाज कुछ लोगों ने सुनी। लेकिन, घना कोहरा रहने के कारण कोई दिखाई नहीं दिया।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि ताबड़तोड़ तीन गोलियां चलने की आवाज आई। जब घटनास्थल पर पहुंचे तो व्यवसायी युवक मृत पड़ा था। हत्या की सूचना मिलते ही इलाके में सनसनी फैल गई । सूचना पाकर पहुंची धनसोईं थाना की पुलिस ने शव को अपने में कब्जे में लेने का प्रयास किया। लेकिन, मौके पर जुटे स्थानीय लोगों ने पुलिस को शव उठाने नहीं दिया। इधर मानव शृंखला की तैयारियों में जुटे अधिकारियों को जैसे ही हत्या की सूचना मिली। भागे-भागे घटनास्थल पर पहुंचे। हत्या का कारण रुपये के लेनदेन का विवाद बताया जा रहा है। अभी तक घटना को लेकर गांव में स्थिति सामान्य नहीं हो पाई है।


इधर मृतक की पत्नी कहे जा रही थी की अब बबुअन के परिवरिश कैसे होई हो बाबू, कहते-कहते मृतक की पत्नी बेहोश हो जा रही थी। वहीं मृतक की पुत्रियां सोलह वर्षीय गुड्डी कुमारी, चौदह वर्षीय खुशी, खुशबू व छोटे बेटे दस वर्षीय सत्यम को पिता के दूर हो जाने से रो-रोकर बुरा हाल है।

खरवनिया पुल के पास घटना


मुन्ना घर से शौच के लिए रोज की तरह ही घर से निकला था। कुहासे के कारण बीस फुट के दूरी पर भी कुछ नहीं दिख रहा था। मुन्ना के घर से निकलने के बाद इटाढ़ी थाना के चमिली गांव निवासी होमियोपैथिक डॉक्टर विजय सिंह भी मॉर्निंग वाक के लिये साथ ही निकले। विजय सिंह ने बताया कि मैं और मुन्ना सुबह 7 बजे एक ही साथ घर से निकले। मैं खरवनिया पुल के पास बैठ गया व मुन्ना पुलिया के किनारे शौच के लिए चला गया। थोड़ी देर बाद मुन्ना के चिल्लाने की आवाज सुनाई दी। आहट पर जब उधर दौड़ा तो तीन राउंड फायरिंग की आवाज सुनाई दी।

अपराधियों को 24 घंटे में पकड़ने की मांग


हत्या से उग्र हुए लोगों ने धनसोईं बाजार में तीन-चार जगहों पर आगजनी कर बक्सर-दिनारा पथ को जाम कर दिया। सुबह आठ बजे से ही बक्सर-दिनारा मार्ग पर वाहनों का आवागमन पूरी तरह से ठप हो गया। मौके पर मौजूद डीसीएलआर, सदर डीएसपी, राजपुर बीडीओ व धनसोईं पुलिस ने समझाने का काफी प्रयास किया। हालांकि लोग समझने को तैयार नहीं हुए। मारे गए मुन्ना प्रसाद के परिजनों को सरकारी नौकरी देने, अपराधियों को 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार करने, मृतक के परिजनों को मुआवजा राशि देने, बाजार के व्यवसायियों को सुरक्षा की गारंटी देने की मांग पर लोग अड़े हुए थे। एहतियात के तौर पर सदर एसडीपीओ ने मुख्यालय से अतिरिक्त पुलिस बल मंगा लिया था।

जानकारी मिलते ही आरा से भागा-भागा आया बेटा

पिता के हत्या की खबर जैसे ही बड़े बेटा कृष्ण कुमार को मिली। वह भागा-भागा धनसोई पहुंचा। कृष्ण कुमार इंटरमीडिएट का छात्र है जो आरा में रहकर अपनी पढ़ाई करता है। धनसोईं वार्ड संख्या छह की आंगनबाड़ी सेविका देवंती देवी पति की हत्या की सूचना मिलते ही रो-रोकर बार-बार बेहोश हो जा रही थी।

सूद पर पैसे का करता था कारोबार

मृतक मुन्ना प्रसाद के पिता भागवत प्रसाद के मुताबिक उनकी किसी से दुश्मनी नहीं थी। हालांकि धनसोईं बाजार में कई जगहों पर चर्चा है कि मुन्ना ने महीनों पहले गांव के ही कुछ कारोबारियों को लगभग पांच लाख रुपए कर्ज दे रखा था। जो कई बार तगादे के बावजूद रुपये लौटा नहीं रहे थे। इससे झंझट भी होता रहा है। उसी विवाद से हत्या की इस वारदात को जोड़कर देखा जा रहा है। बहरहाल पुलिस कुछ भी बताने से परहेज कर रही है।

अांगनबाड़ी सेविका है मृतक की पत्नी| मारा गया युवा व्यवसायी आंगनबाड़ी सेविका का पति है और उसके पिता भागवत प्रसाद पूर्व में पीडीएस दुकानदार रह चुके है। घटना रविवार की सुबह साढ़े सात बजे की है। बताया जा रहा है कि मुन्ना प्रसाद रविवार को सुबह शौच के लिए गांव ही के होमियोपैथिक चिकित्सक विजय सिंह के साथ निकला था कि धनसोईं-चचरिया पथ में खरवनिया पुल के समीप अपराधियों ने देसी पिस्टल से कनपट्टी में सटाकर गोली मार दी।