Hindi News »Bihar »Patna» Bypoll In Lok Sabha And Assembly Seats In Bihar

उपचुनाव : महागठबंधन में भभुआ और एनडीए में जहानाबाद सीट पर घमासान

हम सेक्युलर के अध्यक्ष व पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने सोमवार को फिर अपनी मांग दोहरायी।

Bhaskar News | Last Modified - Feb 13, 2018, 06:21 AM IST

  • उपचुनाव : महागठबंधन में भभुआ और एनडीए में जहानाबाद सीट पर घमासान

    पटना.विधानसभा की दो सीटों के लिए उपचुनाव की तारीखों की घोषणा के साथ ही एनडीए और महागठबंधन के घटक दलों के बीच घमासान जारी है। महागठबंधन में शामिल राजद और कांग्रेस के बीच भभुआ सीट पर दावेदारी को लेकर बयानबाजी जारी है। कांग्रेस आलाकमान ने इस मामले में चर्चा के लिए प्रभारी प्रदेश अध्यक्ष कौकब कादरी को दिल्ली तलब किया है।

    दूसरी ओर एनडीए के घटक दल हम सेक्युलर और रालोसपा ने जहानाबाद सीट पर दावेदारी पेश की है। पिछले विधानसभा चुनाव में यहां एनडीए से रालोसपा का उम्मीदवार ही मैदान में था। इसी आधार पर रालोसपा का दावा है जबकि जीतनराम मांझी इस क्षेत्र में पार्टी के प्रभाव के आधार पर अपना दावा ठोक रहे हैं। हालांकि, अररिया और भभुआ सीटों पर तो भाजपा की सहज दावेदारी है और उसपर सहयोगी दलों को आपत्ति भी नहीं है।

    राजद के साथ नहीं जाएगा हम सेक्युलर : मांझी


    हम सेक्युलर के अध्यक्ष व पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने सोमवार को फिर अपनी मांग दोहरायी। उन्होंने कहा कि जहानाबाद सीट पर पार्टी ने अपने मजबूत जनाधार को देखते हुए दावा किया है। इस सीट को लेकर एनडीए में कोई सहमति नहीं बनती है तो पार्टी बुधवार को अंतिम फैसला लेगी। मांझी ने कहा- उनके मजबूत होने से एनडीए मजबूत होगा। वे राजद के साथ नहीं जा रह हैं।

    कादरी बोले- भभुआ कांग्रेस की परंपरागत सीट


    इधर, कौकब कादरी ने कहा कि भभुआ से पिछले चुनाव में न तो राजद का प्रत्याशी था और न ही कांग्रेस का। यहां का सामाजिक समीकरण कांग्रेस के पक्ष में है, ऐसे में पार्टी का इसपर स्वभाविक दावा बनता है। वहीं सदानंद सिंह ने भी कहा कि भभुआ मीरा कुमार के लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा रहा है। अभी तक सात बार कांग्रेस व दो बार राजद यहां से जीती है। पिछले चुनाव में यह जदयू की सीट थी।

    नित्यानंद, सुशील मोदी और प्रेम कुमार करेंगे एनडीए उम्मीदवारों का चयन

    पटना|एनडीए आम सहमति से लोकसभा की एक और विधानसभा की दोनों सीटों पर चुनाव लड़ेगी। इसके लिए सभी सहयोगी दलों के साथ समन्वय बनाकर अंतिम निर्णय लिया जाएगा। सोमवार को प्रदेश भाजपा कोर कमेटी की बैठक में यह फैसला हुआ। प्रदेश प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने कहा कि भाजपा उम्मीदवारों का नाम केंद्रीय संसदीय बोर्ड तय करती है। कोर कमेटी ने सर्वसम्मति से पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, विधानमंडल दल के नेता सुशील कुमार मोदी और विधानसभा में पार्टी के नेता डॉ. प्रेम कुमार को उम्मीदवारों के नामों के चयन के लिए अधिकृत किया है। जदयू पहले ही उपचुनाव नहीं लड़ने की घोषणा कर चुका है। बैठक में नंदकिशोर यादव, डॉ. सीपी ठाकुर, मंगल पांडेय, रेणु देवी, नागेन्द्र जी, शिव नारायण महतो आदि भी मौजूद थे।

    मांझी से मिलने पहुंचे नित्यानंद

    भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय सोमवार को अचानक पूर्व सीएम जीतनराम मांझी से मिलने उनके आवास पर पहुंचे। इसके बाद राज्य का सियासी तापमान अचानक चढ़ गया। मांझी के बागी तेवरों के बीच इस मुलाकात को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। मांझी ने जहानाबाद विधानसभा सीट पर दावा ठोका है। साथ ही अपने पुराने निर्णयों को लागू न करने की स्थिति में 8 अप्रैल को गांधी मैदान में होने वाली रैली के बाद अलग राह चुनने की धमकी भी दी है। सोमवार को भाजपा कोर कमेटी की बैठक के बाद नित्यानंद राय मांझी से मिलने पहुंचे। कोर कमेटी में भाजपा ने तीनों सीटों अररिया लोकसभा के अलावा जहानाबाद और भभुआ विधानसभा सीटों पर सहयोगी दलों से सहमति बनाकर चुनाव लड़ने का निर्णय लिया। इसी परिप्रेक्ष्य में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मांझी को मनाने पहुंचे। बताया जाता है कि मांझी ने जहानाबाद विधानसभा सीट पर अपनी दावेदारी फिर से दोहराई है। दोनों ने इसे महज औपचारिक बैठक बताया है।

    अररिया से सरफराज व जहानाबाद से सुदय हो सकते हैं राजद प्रत्याशी

    राजद संसदीय बोर्ड की बैठक मंगलवार को 10 सर्कुलर रोड में होगी। इसकी अध्यक्षता पार्टी उपाध्यक्ष राबड़ी देवी करेंगी। बैठक में उपचुनाव की तीन सीटों के उम्मीदवारों पर अंतिम निर्णय होगा। भभुआ सीट पर कांग्रेस की दावेदारी पर भी इसमें चर्चा की जाएगी। बैठक में राजद उपाध्यक्ष जगदानंद, मंगनी लाल मंडल, मो. इलियास हुसैन, विधायक भोला यादव और तेजप्रताप यादव, तनवीर हसन भी शामिल होंगे। संविधान बचाओ न्याय यात्रा में शामिल होने के कारण विरोधी दल के नेता तेजस्वी यादव शामिल नहीं हो पाएंगे। पार्टी सूत्रों के अनुसार अररिया लोकसभा से पूर्व विधायक सरफराज आलम का लड़ना तय है। वे निवर्तमान राजद सांसद स्व. मो. तस्लीमुद्दीन के बेटे हैं। जहानाबाद से निवर्तमान राजद विधायक मुंद्रिका सिंह यादव के पुत्र सुदय यादव का लड़ना तय माना जा रहा है। भभुआ से वैसे राजद की तरफ से पूर्व विधायक रामचन्द्र यादव की मजबूत दावेदारी है, पर इस सीट पर महागठबंधन के सहयोगी कांग्रेस ने चुनाव लड़ने की बात कर पेच फंसा दिया है। इस संबंध में तेजस्वी यादव कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के संपर्क में हैं। तेजस्वी मंगलवार की देर रात पटना लौटेंगे तो इस पर अंतिम निर्णय हो सकेगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×