--Advertisement--

मासूम को लगी थी ठंड तो किडनैपर्स ने खरीदकर दिया था जैकेट, बच्चे ने बताई ये बातें

डीआईजी राजेश कुमार ने बताया कि अपहरण करने वाले सौरव के पिता संतोष के परिचित हैं।

Dainik Bhaskar

Jan 31, 2018, 04:23 AM IST
जानकारी देता सौरभ। जानकारी देता सौरभ।

पटना. प्रॉपर्टी डीलर के बेटे को सोमवार को बदमाशों ने स्कूल से लौटते वक्त किडनैप कर लिया था। पुलिस ने सात घंटे बाद बच्चे को सुरक्षित बरामद कर लिया था। घर लौटने के बाद मासूम सौरव ने बताया कि अपहरण करने के बाद उन लोगों ने कुरकुरे और डेरी मिल्क खाने को दिया। उसने बताया कि दोनों बदमाशों ने टाई, आईकार्ड और स्कूल बैग ले लिया और अपने बैग में रख लिया। ठंड लगने लगी तो पुल पार करने के बाद एक नया जैकेट खरीदकर दिया।

बच्चे को ये कहकर छोड़ गए बदमाश

- बच्चे ने बताया कि बदमाशों ने उससे कहा कि तुम कही जाना मत, हम ट्रेन से किसी को लाने जा रहे हैं पर वे नहीं आए। पुलिस के मुताबिक, इसका मतलब दोनों अपहर्ता ट्रेन से भाग गए। पुलिस को वह बाइक नहीं मिली है।

- अब अपहरण के पीछे पुरानी रंजिश की बात सामने आ रही है। पुलिस इस एंगल के साथ ही संतोष के कारोबार, हाल में उसके तरक्की करने, पूर्व में कुछ लोगाें से हुई मारपीट, घरेलू और व्यक्तिगत विवाद की भी टोह में लगी है।

- पुलिस को इस बात का शक ज्यादा है कि अपहर्ता सोनपुर या उसी इलाके या आसपास जिले के हैं, जहां सौरव को छोड़ा गया। पुलिस ने संतोष से कई बार कारण के बारे में पूछा लेकिन वे कुछ नहीं बता पाए पर कुछ बात जरूर है जो संतोष को पता है पर वे किसी वजह से बताने से परहेज कर रहे हैं।

- अपहरण के बाद सीसीटीवी फुटेज में स्पलेंडर बाइक दिखी थी, जिससे सौरव को अपहर्ता ले गए थे। हालांकि, फुटेज में गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नंबर पूरा नहीं आया है। अंतिम चार डिजिट में तीन 547 साफ दिखा है।

- अंतिम नंबर 3 या 8 है, इसी पर पुलिस की जांच अटक गई। पुलिस की एक टीम ने राजधानी के पांच से अधिक शोरूम में खंगाला। इस दौरान 5 हजार स्पलेंडर बाइक का नंबर खंगाला गया। बाइक खरीदने वाले का नाम पता लगाया गया। जहां-जहां के गाड़ी के नंबर मिले वहां की पुलिस को फुटेज भेजा गया।

कोई खबर दे रहा था अपहर्ताओं को, डंप डेटा से होगा खुलासा

घटना के बाद कोई ऐसा शख्स सौरव के घर और इसके आसपास था, जो अपहर्ताओं को पुलिस की दबिश की पलपल जानकारी दे रहा था। पुलिस को ऐसे कई मोबाइल नंबर भी मिले हैं। इन्हीं नंबर से हुई बातचीत का लाेेकेशन सोनपुर व आसपास इलाके के टावर से पुलिस ने निकाला है। जांच में जुटे सूत्रों का कहना है कि पुलिस डंप डेटा पर काम करने में जुटी है, इसी से मामला खुलेगा।

अपहरण करने वाले संतोष के परिचित

पुलिस यह मान चुकी है कि अपहरण करने वाले संतोष के परिचित हैं। उसने सौरव का घर का नाम कल्लू कहकर उसे बुलाया था। दोनों अपहर्ताओं ने किंडर ज्वॉय डबल ट्रांसफार्मर के पास स्थित एक दुकान से खरीदा था, जिसका लालच देकर सौरव का अपहरण किया गया। दुकान, घर और स्कूल से चंद मीटर दूर है। इसका मतलब अपहर्ता उसके स्कूल के पास पहले से मौजूद थे। यही बात उसकी बहन बॉबी ने भी कहा था कि स्कूल जाते वक्त सुबह में भी दोनों को देखे थे।

सीसीटीवी फुटेज जारी करने से मिली सफलता

सूत्रों का कहना है कि पुलिस ने एक रणनीति के तहत अपहरण के बाद सोमवार की शाम में करीब 7 बजे अपहर्ताओं का सीसीटीवी फुटेज जारी कर दिया ताकि अपहर्ताओं को इस बात की जानकारी मिल जाए कि पुलिस ने सब कुछ जान लिया है। पुलिस के वरीय अधिकारियों का मानना है कि किसी ने अपहर्ताओं को यह बता दिया कि पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज जारी कर दिया है। फिर इसके दो घंटे के बाद ही पुलिस को खबर मिल गई कि सौरव सोनपुर में है।

अपहर्ताओं को पकड़ने के लिए सोनपुर, हाजीपुर समेत कई जिलों में हो रही छापेमारी : डीआईजी

डीआईजी राजेश कुमार ने बताया कि अपहरण करने वाले सौरव के पिता संतोष के परिचित हैं। पुलिस की टीम सोनपुर, हाजीपुर, सीवान, छपरा समेत आसपास जिलों में छापेमारी करने में जुटी है। उन्होंने कहा कि पुलिस अपहर्ताओं को जल्द गिरफ्तार कर लेगी।

पिता के साथ सौरभ। पिता के साथ सौरभ।
सौरभ की मां को उसे सौंपते एसएसपी मनु महाराज और अन्य पुलिस कर्मी। सौरभ की मां को उसे सौंपते एसएसपी मनु महाराज और अन्य पुलिस कर्मी।
सौरभ की फाइल फोटो। सौरभ की फाइल फोटो।
सौरभ की बहन बॉबी। सौरभ की बहन बॉबी।
मां की गोद में सौरभ। मां की गोद में सौरभ।
किडनैपर्स के साथ बीच में बैठा सौरभ। किडनैपर्स के साथ बीच में बैठा सौरभ।
X
जानकारी देता सौरभ।जानकारी देता सौरभ।
पिता के साथ सौरभ।पिता के साथ सौरभ।
सौरभ की मां को उसे सौंपते एसएसपी मनु महाराज और अन्य पुलिस कर्मी।सौरभ की मां को उसे सौंपते एसएसपी मनु महाराज और अन्य पुलिस कर्मी।
सौरभ की फाइल फोटो।सौरभ की फाइल फोटो।
सौरभ की बहन बॉबी।सौरभ की बहन बॉबी।
मां की गोद में सौरभ।मां की गोद में सौरभ।
किडनैपर्स के साथ बीच में बैठा सौरभ।किडनैपर्स के साथ बीच में बैठा सौरभ।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..