--Advertisement--

सुबह मासूम को ले राशन कार्ड बनवाने पहुंची महिला, 11 बजे बच्चे की ठंड से मौत

भीड़ अधिक होने की वजह से उसे पता ही नहीं चला कि उसके बच्चे की तबीयत कब बिगड़नी शुरू हुई।

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 07:36 AM IST

उजियारपुर (समस्तीपुर). आरटीपीएस केंद्र पर खाद्य सुरक्षा योजना की सूची में नाम दर्ज कराने को कतार में खड़ी एक महिला के चार माह के बेटे की मौत मंगलवार को ठंड लगने से हो गई। सुबह 7 बजे वह मासूम को गोद में लेकर आरटीपीएस केंद्र पर पहुंची थी। भीड़ अधिक होने की वजह से उसे पता ही नहीं चला कि उसके बच्चे की तबीयत कब बिगड़नी शुरू हुई। हालत जब खराब होने लगी तो 11 बजे केंद्र पर मौजूद लोग उसे पीएचसी लेकर गए। लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी।


घटना की सूचना पर जुटे लोगों ने आरटीपीएस केंद्र पर अव्यवस्था का आरोप लगाकर हंगामा कर कामकाज को ठप कर दिया। आक्रोशित लोगों ने बीडीओ का घेराव कर मुआवजे की मांग की। बाद में बीडीओ ने मुआवजा देने की घोषणा की तब जाकर लोग शांत हुए और फिर कामकाज शुरू हुआ। घटना को लेकर थाने में यूडी केस दर्ज किया गया है। महिसारी गांव के सुजीत कुमार राय की पत्नी प्रियंका देवी चार माह के बेटे कीर्ति सुमन को गोद में लेकर आरटीपीएस केंद्र के काउंटर पर नाम जुड़वाने के लिए आवेदन लेकर सुबह सात बजे ही कतार में लग गई। दिन के 11 बजे तक उसका नंबर नहीं आया। लोगों का कहना है कि अचानक उसके बेटे की तबीयत बिगड़ने लगी।

महिला के चीखने-चिल्लाने पर वहां मौजूद लोग बच्चे को पीएचसी ले गए, लेकिन डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद आक्रोशित लोगों ने बीडीओ के पास पहुंच कर नारेबाजी शुरू कर दी। इस दौरान बीडीओ व हंगामा कर रहे लोगों के बीच नोकझोंक भी हुई। आक्रोशित लोग महिला को मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। बाद में बीडीओ संजीव कुमार ने आपदा प्रबंधन के प्रावधान के अनुसार मुआवजा देने की घोषणा की तब लोग शांत हुए।

अलाव की होगी व्यवस्था : डीएम

डीएम प्रणव कुमार ने बताया कि इस घटना का अव्यवस्था से कोई संबंध नहीं है। मंगलवार को इस केंद्र पर 144 आवेदन ही आए थे। ठंड अधिक होने के कारण बच्चे की मौत हुई है। कल से सभी केंद्रों पर अलाव की व्यवस्था की जाएगी। खाद्य सुरक्षा योजना के तहत यह कार्ड महिला के नाम पर ही बनता है और इस कार्ड के लिए आवेदन देने के समय महिला की उपस्थिति अनिवार्य है। उजियारपुर के सीओ संतोष कुमार ने बताया कि लाइन में खड़ी महिला के बच्चे की तबीयत खराब होने पर आरटीपीएस कर्मी बच्चे को अस्पताल ले गए, लेकिन तब तक बच्चा दम तोड़ चुका था।