--Advertisement--

पड़ोस में शादी के दौरान बच्ची को किया था किडनैप, हत्या कर शव को खेत में फेंका

छह मार्च को लिलारी गांव निवासी प्रेमचंद साह के घर पीरो प्रखंड के अगिआंव से बारात आई थी।

Danik Bhaskar | Mar 13, 2018, 06:14 AM IST

आरा/चरपोखरी. भोजपुर जिले के चरपोखरी थाना अन्तर्गत लिलारी गांव में शादी समारोह के दौरान अगवा पांच साल की एक बच्ची की हत्या कर दी गयी। गांव के पूरब जई के खेत से सोमवार की सुबह क्षत-विक्षत हालत में गायब बच्ची का शव बरामद किया गया। कपड़ा, धागा एवं चुड़ी से उसकी शिनाख्त संभव हो सकी। मृतका प्रीति कुमारी (5 साल) चरपोखरी थाना के लिलारी गांव निवासी विपिन साह की पुत्री थी। आशंका जतायी जा रही कि बच्ची की हत्या करने के बाद साक्ष्य मिटाने की नीयत से शव को खेत में छिपा दिया गया था। परिजन किसी से दुश्मनी होने की बात से इनकार कर रहे हैं। इसलिए गंदी नीयत से बच्ची को अगवा करने के बाद हत्या करने की आशंका जतायी जा रही है।


6 मार्च को पड़ोस में आई थी बारात, उसी रात गायब थी प्रीति


छह मार्च को लिलारी गांव निवासी प्रेमचंद साह के घर पीरो प्रखंड के अगिआंव से बारात आई थी। प्रीति भी शादी में भाग लेने परिजनों के साथ पड़ोस में गई थी। शाम सात बजे के बाद वह गायब हो गई थी। पिता ने थाना में अपहरण की आशंका जताते हुए आवेदन दिया था। पुलिस ने 9 मार्च को केस िकया था।

शव देखकर डॉक्टर ने भी पोस्टमॉर्टम करने से कर दिया इनकार

लिलारी गांव के किसान सोमवार की सुबह खेत में गए थे। इस बीच प्रह्लाद सिंह के जई के खेत में बच्ची का क्षत-विक्षत शव देखा। बाद में सूचना मिलने पर चरपोखरी थाना के एएसआई हैदर अली समेत अन्य अफसर वहां पहुंच गए। इसके बाद पंचनामा बनाकर शव को सदर अस्पताल लाया गया। लेकिन, शव पूरी तरह सड़ी-गली हालत में था। इसलिए डॉक्टरों की टीम ने पोस्टमॉर्टम करने में असमर्थता जताते हुए पीएमसीएच रेफर कर दिया है।

गर्दन में बंधे दागे, चुड़ी एवं कपड़े से हो सकी पहचान, होगा डीएनए टेस्ट


सात रोज से गायब बच्ची का शव इस कदर सड़-गल गया था कि पहचान कर पाना संभव नहीं था। आवारा जानवरों ने भी शव को नोच डाला था। बच्ची के परिजनों ने कपड़े, हाथ का बाला एवं गर्दन में बांधे लाल रंग के धागा से उसकी शिनाख्त की। इधर, दारोगा राजेन्द्र प्रसाद सिंह ने सदर अस्पताल प्रशासन को पत्र लिखकर प्रीति का डीएनए टेस्ट करने के लिए शरीर के किसी भाग का नमूना प्रिजर्व करने का आग्रह किया है।

पिता ने कहा, किसी से दुश्मनी नहीं, तीन संतानों में इकलौती थी बेटी


विपिन साह को दो बेटा व इकलौती बेटी थी। विपिन दिल्ली में प्राइवेट जॉब करता है। होली में घर आया था। उसने बताया कि उसकी किसी से कोई दुश्मनी नहीं है। घर में केवल एक दिन भैया एवं भाभी में वाद-विवाद हुआ था। इधर, बेटी के वियोग में मां बसंती देवी का रो-रोकर बुरा हाल है।