--Advertisement--

सीएम ने की घोषणा : मैट्रिक-इंटर के टॉपरों को अब मिलेगी डॉक्टर राजेंद्र मेधा छात्रवृत्ति

सीएम ने कहा कि 2010 से ही मेधावी छात्र-छात्राओं को पुरस्कार दिया जा रहा है। लेकिन इस वर्ष राशि अधिक बढ़ायी गई है।

Danik Bhaskar | Dec 04, 2017, 06:50 AM IST

पटना. मैट्रिक और इंटरमीडिएट परीक्षा के टाॅपर्स को अगले साल से छात्रवृत्ति मिलेगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मैट्रिक व इंटरमीडिएट के टापर्स छात्र-छात्राओं को सम्मानित करते हुए ज्ञान भवन में रविवार को यह घोषणा की। यह छात्रवृत्ति डॉ. राजेंद्र मेधा छात्रवृत्ति के नाम से जानी जाएगी। सीएम ने केंद्र से आग्रह किया कि डॉ. राजेंद्र प्रसाद के जन्मदिन को पूरे देश में मेधा दिवस के रूप में मनाया जाए।


सीएम ने माना कि राज्य के स्कूलों की व्यवस्था संतोषजनक नहीं है। उन्होंने कहा कि शिक्षा व्यवस्था में सुधार के लिए कई कार्य किए गए। इससे बच्चों का ड्रापआउट 12.5% से घटकर 1% रह गया है। लेकिन स्कूलों की व्यवस्था संतोषजनक नहीं है। शिक्षा की गुणवत्ता पर हमेशा चर्चा होती है। गुणवत्ता की कोई सीमा नहीं है। शिक्षा विभाग में पूरे बजट का 20 प्रतिशत राशि खर्च होती है, फिर भी कम पड़ रहा है। साइकिल और पोशाक योजना लागू करने से जहां पहले 9 वीं कक्षा में 1.70 लाख छात्राएं थीं, आज बढ़कर 9 लाख से अधिक हो गई हैं। वहीं शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने कहा-अब परीक्षा कदाचार मुक्त हो रही है।

नीतीश बोले- इस साल बढ़ाई गई है पुरस्कार राशि


सीएम ने कहा कि 2010 से ही मेधावी छात्र-छात्राओं को पुरस्कार दिया जा रहा है। लेकिन इस वर्ष राशि अधिक बढ़ायी गई है। बोले- हर व्यक्ति में खासियत होती है। मधुबनी के पुराने विद्वान अयाची मिश्र थे, जो राजा की मदद ठुकरा कर बिना गुरु दक्षिणा लिए छात्रों को पढ़ाते थे। गुरुदक्षिणा के रूप मे वे इन छात्रों को कम से कम 10 छात्रों को पढ़ाने के लिए कहते थे।

मेधा दिवस के रूप में मने राजेंद्र बाबू का जन्मदिन


नीतीश ने कहा कि अबुल कलाम आजाद के जन्म दिन 11 नवंबर को बिहार में शिक्षा दिवस के रूप में मनाना शुरू किया। अब तो देश में भी शिक्षा दिवस के रूप में इस दिन को मनाया जाने लगा है। राजेंद्र बाबू की मेधा के बारे में हमलोग बचपन से पढ़ते आए हैं। इसलिए उनके जन्मदिन को पूरे देश में मेधा दिवस के रूप में मनाया जाना चाहिए।

इस साल के टॉपरों को किया सम्मानित

- प्रथम स्थान वाले को एक लाख रुपए के साथ लैपटॉप और किंडल-ई-रीडर

- द्वितीय स्थान वाले को 75 हजार रुपए के साथ लैपटॉप व किंडल-ई-रीडर

- तृतीय स्थान वाले को 50 हजार रुपए के साथ लैपटॉप व किंडल-ई-रीडर