Hindi News »Bihar »Patna» CM Nitesh Kumar Public Meetings In Eastern Champaran

सीएम नीतीश बोले- दहेज के खिलाफ चंपारण अगुवाई करे तो इसका जड़ से खात्मा

पूर्वी-पश्चिमी चंपारण के अफसरों के साथ समीक्षा बैठक में योजनाओं को सफल बनाने के लिए सीएम ने डीएम व एसपी को निर्देश दिए।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 14, 2017, 04:57 AM IST

  • सीएम नीतीश बोले- दहेज के खिलाफ चंपारण अगुवाई करे तो इसका जड़ से खात्मा

    मोतिहारी.सीएम नीतीश कुमार ने कहा है कि चंपारण सत्याग्रह की भूमि है। बापू ने सत्याग्रह कर चंपारण के किसानों को नीलहों के अत्याचार से मुक्ति दिलाई। अंग्रेजों को कानून तक बदलना पड़ गया। चंपारण सत्याग्रह के शताब्दी वर्ष में यहां के लोग दहेज के खिलाफ अगुवाई करें तो इस कुप्रथा का जड़ से खात्मा हो जाएगा।

    मुख्यमंत्री ने बुधवार को समीक्षा यात्रा के क्रम में पूर्वी चंपारण के परशुरामपुर व बलवा कोठी में सभा की। कहा कि समाज बदलने के लिए कुरीतियां मिटानी होंगी। उन्होंने 229 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास व 67 करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण भी किया। सीएम ने कहा कि 21 जनवरी को मानव शृंखला से कुरीतियों के खिलाफ शुरू मुहिम को बल मिलेगा। दहेज लेने वाले अलग-थलग पड़ जाएंगे।

    शराब तस्करों पर कार्रवाई करें, उनको काम भी दिलाएं

    पूर्वी और पश्चिमी चंपारण के अफसरों के साथ समीक्षा बैठक में योजनाओं को सफल बनाने के लिए मुख्यमंत्री ने डीएम व एसपी को दिशा निर्देश दिए। लोक सेवा के अधिकार अधिनियम में गड़बड़ी दूर करने के लिए डीएम को खुद प्रखंडों में जाकर जांच करने को कहा। जमीन विवाद के हल के लिए डीएम-एसपी हर मंगलवार व सीओ-थानेदार हर शनिवार को बैठक करें। शराब तस्करों के खिलाफ एक्शन के साथ उनको वैकल्पिक रोजगार दिलाने की भी कोशिश हो।

    स्टेडियम का किया उद्‌घाटन


    इससे पहले मुख्यमंत्री ने बलवा कोठी में दारोगा पांडेय और रामरती देवी से मुलाकात की। उनसे वे 2009 की विकास यात्रा के दौरान भी मिले थे। उन्होंने परशुरामपुर में स्टेडियम के उद्‌घाटन के बाद छात्र-छात्राओं को स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड का चेक दिया।

    खुले में शौच की आदत बदलें


    मुख्यमंत्री ने कहा कि खुले में शौच से मुक्ति की आदत डालनी होगी। लोग खुले में शौच जाना छोड़ देंगे तो करीब 90 फीसदी बीमारियों से मुक्ति मिल जाएगी। अगर हर घर तक नल के माध्यम से जल, पक्की गली, बिजली उपलब्ध रहे तो और क्या चाहिए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×