पटना

--Advertisement--

कोल्ड डे और शीतलहर के बाद अब पाला की शुरुआत, उत्तर बिहार में ठंड से 20 मरे

मुजफ्फरपुर और मधुबनी का न्यूनतम तापमान मंगलवार को 4 डिग्री पर पहुंच गया।

Danik Bhaskar

Jan 10, 2018, 06:41 AM IST

पटना. कोल्ड डे और शीतलहर के बाद प्रदेश में पाले की शुरुआत हो गई है। पिछले दो हफ्ते से पड़ रही कड़ाके की ठंड के कारण धरती इतनी ठंडी हो गई है कि पाला जमने लगा है। पानी की ऊपरी लेयर और छोटे पौधों पर बर्फ जम रही है। मौसम विज्ञान विभाग ने 13 जनवरी तक ठंड जारी रहने का अलर्ट जारी किया है। प्रदेश के अधिकतर इलाकों में दिन में खिल रही धूप से अधिकतम पारा दो से तीन डिग्री ऊपर चढ़ा है। पर, न्यूनतम पारा एक से 8 डिग्री नीचे चल रहा है। इससे ठिठुरन के साथ घने कोहरे का सामना करना पड़ रहा है।

विजिबिलिटी 50 मीटर रही


घने कोहरे के कारण पटना, भागलपुर, गया, फारबिसगंज व छपरा की विजिबिलिटी 50 मीटर तक पहुंच जा रही है। मंगलवार को पटना में न्यूनतम तापमान आंशिक (सोमवार को 5.6 डिग्री था)गिरकर 5.5 डिग्री रिकॉर्ड किया गया है। लेकिन अधिकतम 17.6 पर बना हुआ है। 4 डिग्री न्यूनतम तापमान के साथ भागलपुर प्रदेश में सबसे ठंडा शहर रिकॉर्ड हुआ है।

शहर अधिकतम न्यूनतम
पटना 17.6 5.5
गया 20.5 7.1
भागलपुर 17.0 4.0
पूर्णिया 19.4 5.1
सुपौल 15.4 5.6

दिन में आसमान साफ होने से शाम में तेजी से गिर रहा तापमान

घने कोहरे के कारण ही पटना सहित गया, भागलपुर और पूर्णिया का न्यूनतम तापमान ऊपर चढ़ा है। सुबह से चल रही पछुआ और उत्तरी हवा देर रात तक बनी हुई है। इस कारण दिन में धूप खिलने के बाद भी कनकनी से राहत नहीं मिल रही है। दिन में आसमान साफ होने के कारण ही शाम में तेजी से तापमान नीचे लुढ़क रहा है। पटना में न्यूनतम तापमान आंशिक रूप से नीचे गिरकर 5.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है। वहीं अधिकतम सामान्य से चार डिग्री नीचे 17.6 पर बना हुआ है। चार डिग्री न्यूनतम तापमान के साथ भागलपुर प्रदेश में सबसे ठंडा शहर रिकॉर्ड हुआ है।

मौसम पर असर, कहां क्या हालात : दरभंगा और पूर्णिया की विजिबिलिटी 25 मीटर पर पहुंच गई है। पटना, भागलपुर, गया, छपरा और फारबिसगंज की विजिबिलिटी 50 मीटर तक पहुंच जा रही है।

तीन विमान लेट उड़े

मौसम साफ रहने की वजह से मंगलवार को कोई विमान डायवर्ट नहीं हुआ और न ही रद्द हुआ। हालांकि एयर इंडिया का विमान 410 करीब एक घंटा देर से पटना से दिल्ली के लिए रवाना हुआ। इसी तरह स्पाइस जेट की कोलकाता-पटना-कोलकाता विमान एक घंटा और इसी एयरलाइंस की दिल्ली विमान करीब दो घंटे देर से गई। एयरपोर्ट प्रशासन ने बताया कि कोई भी विमान रद्द नहीं हुआ है। विमानों का परिचालन ठीक रहा।

14 घंटे लेट रही बिक्रमशिला

कोहरे से ट्रेनों की रफ्तार धीमी हो गई है। मंगलवार को पटना जंक्शन होकर गुजरने वाली एक दर्जन से अधिक प्रमुख ट्रेनें लेट रहीं। डाउन में बिक्रमशिला एक्सप्रेस 14 घंटे और अप में 1.40 घंटे लेट रही। हालांकि राजधानी एक्सप्रेस डाउन में 5.30 घंटे लेट पटना पहुंची और अप में राइट टाइम दिल्ली के लिए खुली। इसके अलावा मगध एक्सप्रेस डाउन में 9 घंटे, पटना एर्नाकुलम एक्सप्रेस 4 घंटे, डाउन में कुंभ एक्सप्रेस 3.20 घंटे, डाउन में ही ब्रह्मपुत्र एक्सप्रेस 7 घंटे, अप में पूर्वा एक्सप्रेस 6.30 घंटे, कोटा-पटना एक्सप्रेस 6 घंटे और अप में पटना-कोटा एक्सप्रेस 12.05 घंटे और अप में डेहरी ऑन सोन इंटरसिटी 45 मिनट लेट रही।

सरकारी और निजी स्कूलों में कक्षा 9 तक की पढ़ाई 13 जनवरी तक बंद

भागलपुर कोल्ड डे और शीतलहर के बाद अब पाला की शुरुआत हो गई है। पिछले दो हफ्ते से पड़ रही कड़ाके की ठंड के कारण धरती इतनी ठंडी हो गई है कि पाला जमने लगा है। लगातार बढ़ती ठंड के कारण जिला प्रशासन ने अब 13 जनवरी तक सभी सरकारी और निजी स्कूलों में कक्षा नौ तक की पढ़ाई बंद रखने का निर्देश दिया है।


मंगलवार को डीएम आदेश तितरमारे ने यह निर्देश जारी किया है। कक्षा नौ से ऊपर के सभी क्लास सुबह 10 बजे के बाद शुरू होंगे। यह निर्देश सभी प्राथमिक एवं मध्य विद्यालयों के अलावा गैर सरकारी शैक्षणिक संस्थानों पर लागू होगा। आंगनबाड़ी केंद्रों के संचालन की अवधि दोपहर 12 बजे से 2 बजे तक रहेगी। बता दें कि 14 जनवरी को रविवार है और 15 जनवरी को मकर संक्रांति है, इसलिए स्कूल अब 16 जनवरी से ही खुल पाएंगे। ठंड के कारण तीसरी बार स्कूलों में छुट्‌टी बढ़ाने का निर्देश दिया गया है।

15 वर्ष बाद मुजफ्फरपुर का अधिकतम पारा 11.3 डिग्री पहुंचा

उत्तर बिहार में चल रही शीतलहर से पिछले 24 घंटों के दौरान 20 लोगों की मौत हो गई। मुजफ्फरपुर और मधुबनी का न्यूनतम तापमान मंगलवार को 4 डिग्री पर पहुंच गया। वर्ष 2003 के बाद मुजफ्फरपुर जिले का अधिकतम तापमान सबसे कम 11.3 डिग्री रहा। ठंड से जिले के विभिन्न प्रखंडों के 11 लोगों की मौत हो गई है, जबकि बेतिया में 3 और मोतिहारी में 4, सीतामढ़ी और मधुबनी में एक-एक व्यक्ति की जान गई है। 14 जनवरी तक शीतलहर से राहत नहीं मिलेगी। शहर के केजरीवाल अस्पताल में निमोनिया कोल्ड डायरिया से मंगलवार को तीन बच्चों की मौत हो गई तथा 15 की स्थिति गंभीर बनी हुई है।

Click to listen..