--Advertisement--

चार और पांच जनवरी को बिहार में शीतलहर की चेतावनी, 10 तक राहत नहीं

मौसम विज्ञान केंद्र के डिप्टी डायरेक्टर आनंद शंकर ने बताया कि 4 और 5 जनवरी को सूबे में शीतलहर का अलर्ट जारी किया गया है।

Danik Bhaskar | Jan 03, 2018, 03:50 AM IST
एयरपोर्ट पर रेलवे स्टेशन-सा नजारा। एयरपोर्ट पर रेलवे स्टेशन-सा नजारा।

पटना. राजधानी सहित राज्य में पछुआ और उत्तरी हवा से ठंड का कहर जारी है। कोहरे की मार भी बढ़ती जा रही है। पिछले पांच दिन से रोज तापमान एक से दो डिग्री नीचे जा रहा है। नमी 80 फीसदी से अधिक होने और पछुआ हवा की रफ्तार 8 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच जाने से ही हाड़ कंपाने वाली ठंड पड़ रही है। मंगलवार को पटना में सीजन का सबसे ठंडा दिन रहा। अधिकतम पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचे और न्यूनतम दो डिग्री नीचे रहा।

मौसम विज्ञान केंद्र के डिप्टी डायरेक्टर आनंद शंकर ने बताया कि 4 और 5 जनवरी को सूबे में शीतलहर का अलर्ट जारी किया गया है। 10 तक ठंड से राहत की कोई उम्मीद नहीं है। घने कोहरे का कहर भी जारी रहेगा।

शहर अधिकतम न्यूनतम
पटना 16.5 7.1
गया 18.8 8.8
भागलपुर 18.5 7.3
पूर्णिया 18.5 9.9

पार्किंग फुल होने से विमानों को उतरने से पहले आधा घंटा तक लगाना पड़ा चक्कर

पटना एयरपोर्ट रनवे की विजिबिलिटी सामान्य होने पर मंगलवार को 26 में से 23 विमान उतरे और यहां से उड़ान भरी। तीन विमान रद्द रहे। इंडिगो के दो और गो एयर के एक विमान को रद्द किया गया था। पहला विमान दोपहर 12.43 बजे गो एयर का जी8- 272 करीब एक घंटे विलंब से उतरा। अधिकतर विमान आधे घंटे से लेकर तीन घंटे तक लेट रहे। विमानों के विलंब से उतरने के कारण पटना एयरपोर्ट की पार्किंग फुल हो गई और कुछ विमानों को उतरने के लिए करीब 20 से 30 मिनट तक आसमान में चक्कर लगाना पड़ा। जब पार्किंग खाली हुई तो विमान की लैंडिंग हुई।

पटना एयरपोर्ट पर विमानों के लिए चार पार्किंग स्टैंड हैं, लेकिन एक निश्चित समय में अधिक विमान होने के कारण विमान को उतरने के लिए इंतजार करना पड़ा। इंडिगो 6 ई 485 विमान से बेंगलुरु से आ रहे अयाज अहमद ने बताया कि पटना एयरपोर्ट पर उतरने से पहले करीब आधे घंटे तक आसमान में चक्कर लगाने के बाद दोपहर 3.10 बजे विमान ने लैंड किया।


टर्मिनल बिल्डिंग के बाहर बढ़ाई गई सुविधा


एयरपोर्ट टर्मिनल बिल्डिंग के बाहर यात्रियों की सुविधा बढ़ाई गई है। एनाउंसमेंट सिस्टम को मजबूत किया गया है। हर फ्लाइट के विलंब होने की जानकारी यात्रियों को एनाउंसमेंट कर दी जा रही है। डिपार्चर गेट के पास व टेंट के पास से एनाउंसमेंट किया जा रहा है। टेंट के बाहर दो साउंड बॉक्स लगाए गए हैं। वहीं बोर्ड पर भी फ्लाइट के डिपार्चर की जानकारी दी जा रही है। परिसर में टेंट के पीछे चलंत शौचालय और पानी की भी व्यवस्था कर दी गई है।

ये विमान रहे रद्द


- इंडिगो 6 ई 415 508 दिल्ली-पटना-दिल्ली
- इंडिगो 6 ई 897 902 बेंगलुरु-पटना-बेंगलुरु
- गो एयर जी8- 149 150 दिल्ली-पटना-दिल्ली

एयरपोर्ट पर रेलवे स्टेशन-सा नजारा

कोहरे के कारण विमानों की लेटलतीफी ने पटना एयरपोर्ट के नजारे को बिल्कुल बदल दिया है। टर्मिनल के बाहर एयरपोर्ट का नजारा रेलवे स्टेशन-सा दिखने लगा है। एक तरफ दो टेंट। टेंट के बाहर प्लास्टिक की कुर्सी पर बैठ कर विमान के आने का इंतजार कर रहे यात्री। कुछ थके तो कुछ परेशान कुर्सी पर बैठ कर धूप में चाय की चुस्की लेते। डिपार्चर गेट से एनाउंसमेंट हो रहा है गो एयर के यात्री ध्यान दें...। बाहर टेंट के पास बड़े साउंड बाक्स से विमान के उड़ान भरने से संबंधित घोषणा की आवाज आती है। यह सुन ग्रुप में बैठे कुछ यात्री कहने लगते हैं यह तो बस स्टैंड हो गया है।

ये विमान आए लेट

- कोलकाता से आने वाला स्पाइस जेट का एसजी 876 : 2 घंटा 29 मिनट विलंब से दोपहर 1.19 बजे पहुंचा
- हैदराबाद से आने वाला स्पाइस जेट का एसजी 831 : 3 घंटा 3 मिनट विलंब से दोपहर 2.03 बजे उतरा
- बेंगलुरु से आने वाला गो एयर का जी8-272 : 58 मिनट विलंब से दोपहर 12.43 बजे उतरा
- दिल्ली से आने वाला एयर इंडिया का विमान 409 : 1 घंटा 51 मिनट विलंब से दोपहर 1.51 बजे पहुंचा
- दिल्ली से आने वाला गो एयर का विमान जी8-140 : 40 मिनट विलंब से दोपहर 12.50 बजे पहुंचा
- दिल्ली से आने वाला जेट एयरवेज का विमान 333 : 2 घंटा 23 मिनट विलंब से 2.53 बजे उतरा
- दिल्ली से आने वाला जेट एयरवेज का विमान 727 : 1 घंटा 49 मिनट विलंब से दोपहर 2.39 बजे पहुंचा
- दिल्ली से आने वाला इंडिगो का 6 ई 5126 : 1 घंटा 17 मिनट विलंब से दोपहर 3.17 बजे पहुंचा

राजधानी कैंसिल, 14 घंटे लेट चल रही संपूर्ण क्रांति

कोहरे के बीच ट्रेनों की रफ्तार कम हो गई है। मंगलवार को राजेंद्रनगर-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस कैंसिल हो गई। इस ट्रेन के लेटलतीफी का आलम यह है कि सोमवार की शाम दिल्ली के लिए रवाना होने वाली राजधानी एक्सप्रेस मंगलवार को दोपहर बाद 1.25 बजे पटना जंक्शन से रवाना हुई। जबकि मंगलवार को पटना पहुंचने वाली राजधानी एक्सप्रेस शाम सवा पांच बजे तक कानपुर भी नहीं पहुंची थी। यह ट्रेन करीब 23 घंटे की देरी से चल रही है। संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस अप में तो राइट टाइम रही लेकिन डाउन में 14 घंटे की देरी से चल रही है। ट्रेनों की लेटलतीफी से आम लोग परेशान रहे। इस बीच बिक्रमशिला एक्सप्रेस डाउन में 17 घंटे व अप में 6 घंटे, मगध एक्सप्रेस डाउन में 14 घंटे व अप में 12 घंटे, श्रमजीवी एक्सप्रेस डाउन में 4 घंटे, ब्रह्मपुत्र मेल डाउन में 11 घंटे व अप में 26 घंटे, गरीब रथ अप में 15 घंटे व अप में 7 घंटे और कोटा-पटना एक्सप्रेस अप में 8 घंटे व डाउन में 10 घंटे लेट चल रही है।