Hindi News »Bihar »Patna» Condition Of Schools In Bihar

भ्रम न पालें, ये पशुओं का चारा घर नहीं, ये बिहार में एक प्राइमरी स्कूल है...

ऊपर दिख रही फोटो किसी चारा घर की नहीं बल्कि बिहार के मुंगेर में एक प्राइमरी स्कूल की है।

Bhaskar News | Last Modified - Feb 06, 2018, 05:41 AM IST

  • भ्रम न पालें, ये पशुओं का चारा घर नहीं, ये बिहार में एक प्राइमरी स्कूल है...
    मुंगेर के तारापुर गांव में सरकारी स्कूल की हालत ये फोटो बयां कर रही है।

    पटना.बिहार के कई जिलों की कुछ अलग तस्वीरें अक्सर मीडिया के जरिए हमारे समाने आ जाती हैं। देखकर लगात है कि क्या वाकई में बिहार इतना पिछड़ा है। फिर एक सवाल की आखिर इनकी जिंदगी कैसी होगी, इनका फ्यूचर कैसा होगा? खैर, ऊपर दिख रही फोटो किसी चारा घर की नहीं बल्कि बिहार के मुंगेर में एक प्राइमरी स्कूल की है।

    दरअसल, ये फोटो मुंगेर की है। यहां के एक ब्लॉक में साक्षरता कार्यालय से सटे सरकारी स्कूल का भवन इन दिनों अतिक्रमणकारियों के कब्जे में है। स्कूल रूम की छत पर अतिक्रमणकारियों ने पुआल का ढेर लगा दिया है। इसे लेकर गांव के लोग तो बोलते हैं लेकिन जिम्मेदार फिलहाल चुप हैं। यहां के एक सीनियर वकील ने बताया कि अधिकारियों की नाक के नीचे सरकारी भवन का अतिक्रमण किया गया है। लेकिन इसको हटाने में कोई रूचि नहीं दिखा रहे हैं।

    ब्लॉक के लोगों की मानें तो बच्चे इसी स्कूल में पढ़ते हैं। उन्होंने बताया कि बरसात के दिनों में उन्हें अपने बच्चों की चिंता सताने लगती है। उनका कहना है कि ऐसी जगहों पर बरसात के दिनों में सांप-बिच्छू रहते हैं। उन्हें डर रहता है कि कही उनके बच्चे शिकार न हो जाएं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×