--Advertisement--

जेल ड्यूटी जा रहे होमगार्ड के जवान को मारी गोली, मौत के बाद मचा बवाल

जैसे ही गोली लगने की सूचना परिवार के लोगों को मिली, सभी आनन फानन में उन्हें लेकर सदर अस्पताल में पहुंच गए।

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 06:58 AM IST

सीवान/हुसैनगंज. सीवान जिले के हुसैनगंज थाना क्षेत्र के रसीदचक गयादाश हाईस्कूल के पास मुख्य मार्ग पर अज्ञात अपराधियों ने सीवान मंडलकारा के होमगार्ड के जवान की गोली मारकर हत्या कर दी। वहीं मौत की सूचना आम होते ही सदर अस्पताल में शव को लेकर पहुंचे मृतक के परिजनों ने जमकर हंगामा मचाया। 50 वर्षीय होमगार्ड जवान मड़कन निवासी वशिंद्रदत्त नाथ पांडेय साइकिल से थे और अपने घर मड़कन से 6 से 9 की नाइट ड्यूटी करने के लिए मंडलकारा जा रहे थे।

जेल अधीक्षक राकेश कुमार ने कहा कि वह जेल में प्रतिनियुक्त थे और सुबह 6 से 12 बजे की ड्यूटी खत्म कर सीवान जेल से मंगलवार को अपने घर मड़कन गए थे। एसपी कार्तिकेय कुमार शर्मा ने बताया कि प्रथम दृष्टया हत्या का कारण आपसी रंजिश प्रतीत हो रहा है। बता दें कि इस हफ्ते जिले में हत्या की यह दूसरी घटना है।

मृतक के बेटे ने पुलिस पर लगाया आरोप

मृतक के बेटा ने हुसैनगंज थाने की पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाया। सदर अस्पातल में राेते हुए मृतक के पुत्र ने कहा कि जहां पर हत्या हुई वहीं पर पास ही पुलिस खड़ी थी, लेकिन पुलिस गोली मारने वाले अपराधियाें को पकड़ने का काम नहीं की। मृतक के पुत्र ने सदर अस्पातल में एक पुलिस अफसर का चेहरा देखकर चिल्लाने लगा कि वही खड़ा था, लेकिन कुछ भी नहीं किया। सदर अस्प्ताल में मृतक के परिजन मोके पर डीएम के आने की मांग कर रहे थे। इस मौके पर एएसपी कार्तिकेय कुमार शर्मा और डीएसपी होमगार्ड रीतेश कुमार पांडेय ने आश्वासन दिया कि मृतक के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी तथा 4 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी। आश्वासन के बाद शव के पोस्टमार्टम की कार्रवाई शुरू हो सकी।

सदर हॉस्पिटल में फैमिली ने किया हंगामा

उधर, जैसे ही गोली लगने की सूचना परिवार के लोगों को मिली, सभी आनन फानन में उन्हें लेकर सदर अस्पताल में पहुंच गए। वहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मौत की सूचना आम होते ही सदर अस्पताल में शव को लेकर पहुंचे मृतक के परिजनों ने जमकर हंगामा मचाया। परिजनों के आक्रोश को देखते हुए पुलिस की भीड़ भी मौके से खिसक गई। मृतक के पुत्र अविनाश पांडेय का साफ कहना था कि उसके पिता की हत्या मो. शहाबुद्दीन ने करवा दी है। मौके पर पहुंचे एएसपी कार्तिकेय कुमार शर्मा ने कहा कि प्राप्त तहरीर के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। हत्या के कारणों का पता लगाया जा रहा है।

सदर अस्पताल में मृतक के बेटा ने राेते व चिल्लाते हुए कहा कि इस हत्याकांड का अंजाम शहाबुद्दीन के इशारे पर दिया गया है। चुनाव के दौरान उसके पिता को धमकी दी गई थी। घटना की सूचना मिलते ही सदर अस्पताल में पुलिस उपाधीक्षक कार्तिकेय कुमार शर्मा, होमगार्ड विभाग के डीएसपी रीतेश कुमार पांडेय, टाउन थाने के इंस्पेक्टर सुबोध कुमार, एसआई अफशां परवीन, रविकांत दुबे, महादेवा ओपी प्रभारी मो. फेराज पहुंच गए।

क्या कहते हैं जेल अधीक्षक

सीवान के जेल अधीक्षक राकेश कुमार ने बताया कि हत्या का कारण कुछ निजी हो सकता है। सीवान जेल के अंदर होमगार्ड वशिंद्रदत्त नाथ पांडेय का व्यवहार बहुत ही अच्छा था। जेल के विवाद से उनका दूर दूर तक कोई वास्ता नहीं था।