--Advertisement--

50 फीट ऊंचे पेड़ पर 10 घंटे से फंसा था पक्षी, शख्स ने ऐसे बचाई उसकी जान

पेड़ से उतरते ही वहां के युवाओं ने उसे ईनाम के तौर पर 150 रुपए दिये।

Dainik Bhaskar

Jan 03, 2018, 06:07 AM IST
मंगलवार की शाम ताड़ की पेड़ में फंसे कौए को बचाता हरिचंद्र चौहान। मंगलवार की शाम ताड़ की पेड़ में फंसे कौए को बचाता हरिचंद्र चौहान।

नवादा (बिहार). सदर अस्पताल, नवादा के मुख्य गेट पर रहे 50 फीट ऊंचे ताड़ के पेड़ में फंसे एक कौआ को सुरक्षित बचाया गया। वाकया मंगलवार दोपहर बाद चार बजे का है। इस ऊंचे ताड़ के पेड़ पर सुबह छह बजे से एक कौआ फंसा हुआ था। पेड़ से पतंग की डोर उलझी थी। उसी डोर से कौआ भी उड़ते हुए जा फंसा। काफी मशक्कत के बाद भी वह वहां से नहीं उड़ सका। करीब 10 घंटे के बाद उस कौआ को बचाया जा सका। इसमें भेलवा निवासी हरिचंद्र चौहान ने अपनी मानवीयता दिखाते हुए उस तार के पेड़ पर चढ़कर कौआ को सुरक्षित बचाया। घंटों से पतंग की डोर में फंसे उस छटपटाते हुए कौआ को आसमान में उड़ा दिया।

आसान नहीं था कौए को बचाना हरिचंद्र के लिए

हरिचंद्र चौहान बगैर किसी सहारे तार की पेड़ पर चढ़ा लेकिन यह इतना आसान भी नहीं था। कौआ के पास पहुंचता इससे पहले अनेक दूसरे कौओं ने उसे झपट्टा मारना शुरू कर दिया। सभी कौआ उसे ठोलिया रहे थे। उसके सिर पर वार हो रहा था। लेकिन वह इस दर्द को सहते हुए भी कौआ को पतंग की डोर से आजादी दिलाने में सफल रहा।

ईनाम में मिले 150 रुपए

खतरनाक हाल में रहे मंझा धागा से जैसे ही कौआ को मुक्त कराया गया सड़क पर जुटी भीड़ ने खुशी में तालियां बजायी। पेड़ से उतरते ही वहां के युवाओं ने उसे ईनाम के तौर पर 150 रुपए दिये। स्थानीय दुकानदारों ने बताया कि एक दिन पहले ही इसी पेड़ पर फंसकर एक कौआ की जान चली ।

X
मंगलवार की शाम ताड़ की पेड़ में फंसे कौए को बचाता हरिचंद्र चौहान।मंगलवार की शाम ताड़ की पेड़ में फंसे कौए को बचाता हरिचंद्र चौहान।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..