--Advertisement--

दुकान में सोए भाई को जगाने आया, अंदर से आवाज नहीं आई तो तोड़ा ताला, मिली लाश

घटनास्थल पर मृतक की मां रेणू देवी बार-बार तीन लड़कों का नाम लेकर एक ही बात कह रही थी कि वह तीनों को छोड़ेंगी नहीं।

Dainik Bhaskar

Dec 28, 2017, 04:36 AM IST
Dead body inside the shop

मधेपुरा. बाजार के धन्यबाद चौक के समीप मंगलवार की रात सोये अवस्था में एक फोटोस्टेट और मोबाइल की दुकान में दुकानदार की गला रेतकर निर्मम हत्या कर दी गई। घटना की जानकारी लोगों को बुधवार की सुबह हुई। दुकानदार कृष्ण कृष्णा मंडल पास के ही लालपुर वार्ड 14 का निवासी है, लेकिन उसके पिता अपनी ससुराल गौरीपुर वार्ड 14 में बस गए हैं।

बताया गया कि हमलावर दुकान के पीछे से सेंध काटकर दुकान में घुसे होंगे। घटना के कारणों का फिलहाल खुलासा नहीं किया गया है, लेकिन दुकानदार की मां तीन लड़कों का नाम बार-बार ले रही थी। हत्या के बाद दुकान में चोरी नहीं हुई है। जिससे संभावना जतायी जा रही है कि हत्या किसी रंजिश को लेकर की गई। लाेगों की मांग पर शाम को पुलिस ने सहरसा से डॉग स्क्वायड को भी बुलाया।


कृष्णा प्रतिदिन दुकान में ही सोता था। मंगलवार काे भी वह दुकान में ही सोया हुआ था। सुबह में कृष्णा घर नहीं पहुंचा था। जिसके बाद लगभग साढ़े नौ बजे उसका छोटा भाई कन्हैया दुकान पर पहुंचा। दुकान बंद रहने पर उसे लगा कि भाई अंदर सोया हुआ है। काफी देर तक आवाज लगाने के बाद भी जब काेई जवाब नहीं मिला तब उसने दुकान का ताला तोड़ दिया। दुकान खुलते ही अंदर उसके भाई की लाश पड़ी थी। भाई के गले से खून बहता देख वह शोर करने लगने। इसके बाद जमा हुए लोगों ने शव को दुकान से बाहर निकाला। सूचना पाकर पहुंचे थानाध्यक्ष राजेश कुमार ने घटनास्थल का मुआयना किया। दुकान में पीछे सेंध काटी गई थी।

मृतक की मां ले रही थी 3 लड़कों का नाम


घटनास्थल पर पहुंची कृष्ण की मां रेणू देवी बार-बार तीन लड़कों का नाम लेकर एक ही बात कह रही थी कि वह तीनों को छोड़ेंगी नहीं। अगर यहां इंसाफ नहीं मिला, तो कोर्ट में जाएंगी। उन्होंने बताया कि कृष्ण की शादी तय हो गयी थी। फरवरी-मार्च में उसकी शादी होनी थी। इससे पहले ही साजिश कर उसकी हत्या कर दी गई। हालांकि मां ने उन लड़कों के नाम का खुलासा नहीं किया। पिता बेचन मंडल ने दुकान में कृष्णा के साथ किसी के सोने की बात कही।

छह माह पहले हुई थी दुकान में चोरी


जानकारी के अनुसार छह माह पूर्व कृष्णा की दुकान में चोरी हो गई थी। चोर उसकी दुकान से अन्य सामान के साथ लैपटॉप और प्रिंटर ले गए थे। उस घटना के बाद से वह दुकान में ही सोने लगा था। उसका बड़ा भाई कन्हैया मंडल भी उसी दुकान के आगे ठेला लगा कर नाश्ता की दुकान चलाता है। आसपास के दुकानदारों ने बताया कि कृष्णा काफी मिलनसार स्वभाव का था। वहां उसका किसी से विवाद नहीं था। ऐसे में कोई उसकी हत्या क्यों करेगा पुलिस के सामने यह बड़ा सवाल है। हत्या को लेकर लोगों में आक्रोश है। उधर हत्याकांड की जांच के लिए एसपी ने एसआईटी का गठन कर दिया है।

लोगों ने ढाई घंटे तक किया एनएच 106 को जाम


घटना से आक्रोशित लोग लगभग साढ़े ग्यारह बजे दुकान के आगे से शव को उठाकर बाजार के शर्मा चौक पर ले आए और एनएच 106 पर जाम लगा दिया। आसपास में सिंहेश्वर और गौरीपुर के सभी छोटे-बड़े रास्ते को बंद कर दिया गया। शर्मा चौक, पुल के पास जाम, ठाकुरबाड़ी वाले रास्ते पर, दुर्गा चौक, महावीर चौक और धनबाद चौक पर जाम कर आवागमन को पूरी तरह ठप कर दिया। कुछ ही देर में माहौल नाकेबंदी जैसा हो गया। ढाई घंटे के बाद जाम समाप्त हुआ।

X
Dead body inside the shop
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..