--Advertisement--

हॉस्टल के चार मंजिला भवन के नीचे कीचड़ में मिला स्टूडेंट का शव, हत्या का आरोप

परिजन बच्चे का शव गोद में लेकर थाना पहुंच गए। जिसके बाद पुलिस महकमें को घटना की भनक लगी।

Dainik Bhaskar

Dec 18, 2017, 06:27 AM IST
dead body of Student  found in under building of hostel

बिहारशरीफ. यहां के प्राइवेट स्कूल हॉस्टल के 4 मंजिला भवन के नीचे रविवार की सुबह नर्सरी क्लास के स्टूडेंट का शव कीचड़ में पड़ा मिला। घटना की सूचना मिलने पर मृतक के परिजन स्कूल पहुंच गए। घटना के खुलासे के बाद स्कूल डायरेक्टर मौके से फरार हो गया। स्कूल मैनेजमेंट स्टूडेंट द्वारा खुदकुशी किए जाने की बात कह रहा था, जबकि मृतक के पिता हत्या कर शव को चार मंजिला छत से नीचे फेंकने का आरोप लगा रहे थे।

स्टूडेंट के शरीर की एक भी हड्डी टूटी नहीं थी, जिससे पिता के आरोपों को बल मिल रहा था। मृतक सोहसराय थाना क्षेत्र के कृष्णा नगर मोहल्ला के रहने वाले वीरेश कुमार यादव का 7 वर्षीय पुत्र अमर कुमार है। घटना की सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंचकर छानबीन में जुट गई। पिता ने निदेशक को आरोपित कर हत्या की प्राथमिकी का आवेदन थाने में दिया है।


परिजन शव लेकर पहुंचे थाना

परिजन बच्चे का शव गोद में लेकर थाना पहुंच गए। जिसके बाद पुलिस महकमें को घटना की भनक लगी। बच्चे के माता-पिता हॉस्टल में हत्या किए जाने का आरोप लगा रहे थे। शिकायत के बाद पुलिस हरकत में आ गई। सदर डीएसपी निशित प्रिया टिकुलीपर स्थित सर्वांगीण बाल विकास आवासीय विद्यालय पहुंची। मौके से निदेशक सूर्यमणि प्रसाद फरार हो चुका था।

संचालक की पत्नी बोली- बच्चे ने की खुदकुशी

पुलिस ने घटना के सभी बिंदुओं पर गहराई से जांच की। संचालक की पत्नी शीला देवी ने पुलिस को बच्चे द्वारा स्कूल की छत से छलांग लगाकर खुदकुशी की बात कही। खुदकुशी का कारण शनिवार को बच्चे के परिजनों का मिलने नहीं आना बताया गया। जिस पर डीएसपी ने कहा कि ऐसा कैसे हो सकता है चार मंजिला छत से कोई बच्चे गिरे और उसके शरीर की हड्डियां नहीं टूटे। पुलिस परिजन के हत्या के आरोप की भी जांच कर रही है। हत्या का ठोस कारण सामने नहीं आ सका। हॉस्टल की व्यवस्था देख डीएसपी बिफर पड़ीं। चारों ओर गंदगी का अंबार था। हॉस्टल में व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं थी। हॉस्टल में 40 बच्चे थे।

एक नजर पूरे मामले पर

वीरेश यादव ने 22 नवंबर को अमर का एडमिशन कराया था। रविवार की सुबह में स्कूल से फोन कर परिजन को सूचना दी गई कि बच्चे ने स्कूल की छत से छलांग लगाकर खुदकुशी कर ली है। जिसके बाद परिजन स्कूल पहुंचे और कलेजा पीटने लगें। परिजनों को बच्चे का शव स्कूल में मिला। थानाध्यक्ष केशव कुमार मजूमदार ने बताया कि स्कूल निदेशक को आरोपित कर बच्चे के हत्या की प्राथमिकी का आवेदन दिया गया है। स्कूल प्रबंधन खुदकुशी की बात कह रहा है। प्रारंभिक जांच में पुलिस को मामला संदिग्ध प्रतीत हो रहा है। पदाधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं। पोस्टमार्टम सदर अस्पताल में कराया गया।

सवाल : चार मंजिला छत से गिरा तो एक भी हड्‌डी कैसे नहीं टूटी

पिता को नहीं, चाचा को दी गई मौत की सूचना छात्र की मौत के बाद स्कूल प्रबंधन ने उसके पिता के बजाय चाचा इंद्रदेव प्रसाद को घटना की सूचना दी। चाचा देवघर गए थे। जिसके बाद उन्होंने फोन कर भाई को घटना की सूचना दी।

सुबह 3-4 बजे की घटना, कैसे खुला छत का गेट : स्कूल प्रबंधन ने बताया कि सुबह करीब 3 से 4 बजे बच्चे ने छलांग लगाई। परिजन आरोप लगा रहे हैं कि रात में छत का गेट लॉक रहता है। यही नहीं, चार मंजिला छत से कोई बच्चा गिरेगा तो तरबूज की तरह फट जाएगा। एक भी हड्डी नहीं टूटी है।

बड़े बेटे की मौत से परिवार बदहवास : किसान वीरेश को दो बेटे और दो बेटी है। मृतक अमर उनका बड़ा बेटा है। उसकी मौत की खबर सुन परिवार के सदस्य बदहवास हो गए। स्कूल से बच्चे का शव लेकर माता-पिता शहर के निजी क्लीनिकों का चक्कर लगा रहे थे। कुछ क्लीनिक तो सुबह में बंद मिला, कुछ चिकित्सक मिलें, जिन्होंने बच्चे को मृत घोषित किया। तब परिजन थाना पहुंचे।

नियम विरुद्ध चल रहा छात्रावास

शहर में नियमों को ताक पर रखकर सैकड़ों की संख्या में छात्रावास का संचालन हो रहा है। शिक्षा विभाग के पास छात्रावास का आंकड़ा तक मौजूद नहीं है। आए दिन छात्रावास में घटनाएं हो रही है।

dead body of Student  found in under building of hostel
dead body of Student  found in under building of hostel
X
dead body of Student  found in under building of hostel
dead body of Student  found in under building of hostel
dead body of Student  found in under building of hostel
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..