--Advertisement--

मकर संक्रांति को भाई लेकर जाने वाला था सौगात, मिली बहन की मौत की खबर

नालंदा के रतनपुर की रहने वाली चंदा रानी के पिता पटना में प्राइवेट नौकरी करते हैं। दो छोटे भाइयों की इकलौती बहन थी।

Danik Bhaskar | Jan 14, 2018, 11:25 PM IST
रोते बिलखते मृतका के भाई और इनसेट में उसकी डेडबॉडी। रोते बिलखते मृतका के भाई और इनसेट में उसकी डेडबॉडी।

मुजफ्फरपुर. यहां के पुलिस लाइन बैरक में शनिवार को संदिग्ध परिस्थिति में लेडी कॉन्स्टेबल चंदा रानी का शव खिड़की में दुपट्टा के फंदे से लटका मिला। बताया जा रहा है कि मृतका का भाई मकर संक्रांति को नवादा से सौगात लेकर आने वाला था। एक दिन पहले ही उसे उसकी बहन के मौत की खबर मिली। मृतका चंदा अपने दोनों छोटे भाईयों की पढ़ाई का खर्च उठाती थी। उधर, लेडी सिपाही की मौत के बाद उसके भाईयों ने कहा कि आत्महत्या के लिए उकसाना भी हत्या है।

पिता पटना में करते हैं प्राइवेट जॉब

- नालंदा के रतनपुर की रहने वाली चंदा रानी के पिता पटना में प्राइवेट नौकरी करते हैं। दो छोटे भाइयों की इकलौती बहन थी। दोनों भाइयों को पढ़ाने की जिम्मेदारी भी संभाल रखी थी।
- महिला पुलिस में नियुक्ति के बाद से दोनों भाइयों को उच्च शिक्षा के लिए लगातार प्रेरित भी कर रही थीं। अभी शादी भी नहीं की थीं।
- चंदा रानी के भाई को जानने वाली एक महिला सिपाही के मोबाइल पर बार-बार मृतका के भाई की कॉल आ रही थी।
- मृतका के भाई से बातचीत करने की महिला सिपाही को हिम्मत नहीं हो रही थी। 15 जनवरी को मकर संक्रांति की सौगात घर से लेकर भाई आनेवाला था। इसी बीच यह हादसा हो गया।

फर्श से टच था पैर

- 12 बजे जब मुन्नी कुमारी नाम की सिपाही बैरक पहुंची तो अंदर से कमरा बंद था। मुन्नी के बार-बार आवाज लगाने पर दूसरी महिला सिपाही भी पहुंच गई।
- दरवाजा नहीं खुलने पर डीएसपी पूर्वी के कार्यालय से सिपाहियों को आवाज दी गई। दरवाजा तोड़ने पर चंदा खिड़की से झूल रही थीं। उसका पैर फर्श को टच कर रहा था।
- मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में शव का पंचनामा बनाया गया। एफएसएल टीम ने भी पड़ताल की। पुलिस ने प्रारंभिक छानबीन में आत्महत्या का मामला बताते हुए अन्य बिंदुओं पर भी जांच करने की बात कही है।

साथी सिपाही ने बताई ये बात

- शव मिलने के कुछ ही देर पहले चंदा ने कहा था- अमृता तुम ड्यूटी पर निकलो। नीचे चलने के लिए कहने पर बोलीं- मैं बाद में जाऊंगी।
- पता नहीं कुछ ही देर में क्या हो गया कि उसने ऐसा कर लिया? साथी सिपाहियों को यह कहते हुए महिला सिपाही अमृता रो रही थीं।
- अन्य महिला सिपाहियों की आंख से भी आंसू टपक रहे थे। सबकी एक ही बात- चंदा तो काफी खुशमिजाज और फ्रैंक थी।
- फिर किस परेशानी ने उसे मजबूर किया। बैरक में जूठी थाली दिखाते हुए साथी महिला सिपाहियों ने कहा कि इस तरह से कोई आत्महत्या करता है?
- जो भी हुआ बहुत बुरा हुआ। 21 नवंबर को ट्रेनिंग पूरी करने के बाद बाकी साथी महिला सिपाहियों के साथ परेड में शामिल हुई थी।
- सुबह साढ़े 10 बजे तक बहुत ही नॉर्मल थीं। सबकी जुबान पर एक ही सवाल-आखिर यह सब कैसे हो गया?

घटना के बारे में जानकारी देती चंदा रानी की साथी कर्मी। घटना के बारे में जानकारी देती चंदा रानी की साथी कर्मी।
खिड़की से लटकी चंदा रानी की डेडबॉडी। खिड़की से लटकी चंदा रानी की डेडबॉडी।
मौके पर पहुंचे पुलिस कर्मी। मौके पर पहुंचे पुलिस कर्मी।