पटना

--Advertisement--

यहां बनना था 750 करोड़ की लागत वाला लालू का मॉल, ऐसे मिली थी जमीन

ईडी ने पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी से पूछताछ के हफ्ते भर बाद, शुक्रवार को उनकी 3 एकड़ जमीन जब्त कर ली।

Danik Bhaskar

Dec 09, 2017, 04:33 AM IST

पटना. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी से पूछताछ के हफ्ते भर बाद, शुक्रवार को उनकी 3 एकड़ जमीन जब्त कर ली। इसके मालिक उनके बेटे और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव भी हैं। सर्किल रेट के अनुसार इसकी कीमत 44.75 करोड़ रुपए है। बेली रोड की इसी जमीन पर बन रहे लालू परिवार का 750 करोड़ रुपए का मॉल बन रहा था। सीबीआई के अनुसार, यह जमीन, आईआरसीटीसी के रांची व पुरी के दो होटल को कोचर बंधुओं की निजी कंपनी (सुजाता होटल्स) को लीज पर सौंपने की एवज में लालू परिवार को मिली। यहीं की मिट्टी की बिक्री पर हुए विवाद से यह पूरा मामला खुला था।


IRCTC होटल घोटाला से जुड़ी है जमीन

ईडी ने कहा-यह जमीन, लालू के परिवार से जुड़ी कंपनी लारा प्रोजेक्ट एलएलपी की है। यह जब्त की गई। यह जमीन, आईआरसीटीसी होटल घोटाला मामले से जुड़ी है। यह जब्ती, प्रिवेंशन ऑफ मनी लाउंड्रिंग एक्ट के तहत हुई। ईडी इस मामले में सीबीआई द्वारा नामजद सभी 8 आरोपियों से पूछताछ कर चुकी है। लालू के बाद तेजस्वी से दो बार पूछताछ हुई। पटना में राबड़ी देवी से पूछताछ हुई। सीबीआई ने 5 जुलाई 2017 को केस किया था। 7 जुलाई को आयकर ने लालू व परिजनों के ठिकानों पर छापेमारी की। सीबीआई की एफआईआर के बाद ईडी ने 27 जुलाई को पीएमएलए के तहत मामला दर्ज किया। वह डॉ.मीसा भारती, दामाद शैलेश कुमार के खिलाफ भी जांच कर रही है।

लालू परिवार के पास ऐसे आई यह जमीन

सीबीआई के अनुसार, यह जमीन, आईआरसीटीसी के रांची व पुरी के दो होटल को कोचर बंधुओं की निजी कंपनी (सुजाता होटल्स) को लीज पर सौंपने की एवज में लालू परिवार को मिली। यह जमीन, पहले राजद सांसद प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सरला गुप्ता की कंपनी डिलाइट मार्केटिंग के पास आई। अंतत: इस पर लालू परिवार का मालिकाना हक हो गया। होटल का ठेका 2006 में हुआ। तब लालू रेल मंत्री थे।

अबतक लालू परिवार की 14 बेनामी संपत्ति हो चुकी है अटैच

आयकर विभाग ने लालू परिवार की 14 बेनामी संपत्तियां अटैच (जब्त) की हुई हैं। ये लालू की बेटी डॉ.मीसा भारती, दामाद शैलेश कुमार, बेटे तेजस्वी प्रसाद यादव, पत्नी राबड़ी देवी और दो बेटियों चंदा व रागिनी की बताई गई हैं। इनका मार्केट रेट करीब 175 करोड़ रुपए है। ये हैं-

1. फॉर्म नंबर 26, पालम फॉर्म्स, बिजवासन, दिल्ली : यह फॉर्म हाउस बेनामीदार मिशैल पैकर्स एंड प्रिंटर्स प्रा. लि. के नाम पर है। मीसा भारती और उनके पति शैलेश इसके लाभार्थी बताए गए हैं। प्रॉपर्टी का डीड रेट 1.4 करोड़ रुपए है, जबकि मार्केट वैल्यू करीब 40 करोड़ रुपए।
2. 1088, न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी : यह बंगला बेनामीदार एबी एक्सपोर्ट्स प्रा. लि. के नाम पर है। तेजस्वी यादव, चंदा और रागिनी यादव लाभार्थी बताए गए हैं। मार्केट वैल्यू तो 40 करोड़ रुपए है, लेकिन डीड वैल्यू महज 5 करोड़ रुपए है।
3. 3 प्लॉट, जलालपुर, पीएस दानापुर, पटना : इनके बेनामीदार में एके इन्फोसिस्टम का नाम है। इसके लाभार्थी भी राबड़ी देवी और तेजस्वी हैं। इसकी डीड वैल्यू 1.6 करोड़ रुपए है, जबकि मार्केट वैल्यू 20 करोड़ रुपए है।

तेजस्वी बोले-केंद्र ने जांच एजेंसी को बनाया हथियार

तेजस्वी यादव ने कहा-केंद्र ने जांच एजेंसियों को हथियार बनाकर हमारे परिवार के पीछे लगा दिया। जो जमीन ईडी ने जब्त की है, उसे आयकर विभाग पहले ही अटैच कर चुका है। आश्चर्य है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह के खिलाफ कहां कुछ हुआ। खैर, हम डरने वाले नहीं हैं। सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी।

ये हैं आरोपी
लालू प्रसाद, राबड़ी देवी, तेजस्वी प्रसाद यादव, मेसर्स लारा प्रोजेक्ट्स, विजय कोचर, विनय कोचर, सरला गुप्ता, पीके गोयल (आईआरसीटीसी के तत्कालीन एमडी)।

आगे की स्लाइड्स में देखें रिलेटेड फोटोज....

Click to listen..