--Advertisement--

नियोजित शिक्षकों को मार्च तक मिलता रहेगा नियमित वेतन, 2600 करोड़ जारी

छपरा और भागलपुर को छोड़ कर अन्य सभी विवि में शिक्षक-शिक्षकेतरकर्मियों के वेतन और पेंशन के लिए 769 करोड़ जारी किए हैं।

Danik Bhaskar | Jan 24, 2018, 06:51 AM IST

पटना. राज्य में नियोजित शिक्षकों के वेतन पर छाया ग्रहण टल गया है। सरकार ने वेतन भुगतान के लिए केंद्र सरकार के हिस्से के 2600 करोड़ रुपए फिलहाल अपने खजाने से जारी कर दिया है। मंगलवार को कैबिनेट ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। कैबिनेट ने छपरा और भागलपुर विवि को छोड़ कर अन्य सभी विश्वविद्यालयों में शिक्षक-शिक्षकेतरकर्मियों के वेतन और पेंशन के लिए 769 करोड़ जारी किए हैं। केंद्र से राशि नहीं आने की वजह से नियोजित शिक्षकों का वेतन अगस्त से अटका हुआ है।

आंगनबाड़ी पोषाहार राशि बढ़ी

आंगनबाड़ी केंद्रों के लिए पोषाहार राशि में इजाफा कर दिया गया है। अब 6-72 माह के बच्चों, गर्भवती-शिशुवती माता और 6-72 माह के अति कुपोषित बच्चों पर क्रमश: 6, 7 और 9 रु. प्रतिदिन की बजाए क्रमश: 8, 9.50 और 12 रु. रोजाना मिलेंगे। इसी तरह आंगनबाड़ी केंद्रों पर स्कूल नहीं जाने वाली 11-14 वर्ष की किशोरियों के पोषाहार पर प्रतिदिन 5 रु. की बजाए 9.50 रु. खर्च किए जाएंगे।

दो नहीं, 4 लाख तक आय वालों को मिलेगा अल्पसंख्यक रोजगार कर्ज

मुख्यमंत्री अल्पसंख्यक रोजगार कर्ज की गाइड लाइन बदल गई है। अब 2 लाख रुपए की बजाय सालाना 4 लाख रुपए आय वाले परिवार को भी कर्ज मिल सकेगा। चालू वित्तीय वर्ष में इस योजना के लिए 100 करोड़ रुपए जारी किए गए हैं।

बांध की मरम्मत व बाढ़ से बचाव के लिए 557 करोड़ जारी

राज्य में बांध की मरम्मत और बाढ़ से बचाव के लिए 557 करोड़ रुपए दिया गया है। इससे करीब एक दर्जन बांधों की मरम्मत और चेक डैम का निर्माण होगा। कैबिनेट ने मंगलवार को जल संसाधन विभाग के प्रस्ताव पर मुहर लगा दी है। बागमती बाढ़ प्रबंधन योजना फेज-3 और 5 के लिए फिर से टेंडर किया जाएगा।

कैबिनेट विभाग के विशेष सचिव उपेंद्र नाथ पांडेय ने बताया कि मुंगेर में बागरा-गोरहिया नदी व ताजपुर में मुहाने नदी पर चेकडैम बनाने और नहर प्रणाली को दुरुस्त करने के लिए 36.59 करोड़ रुपए दिए गए हैं। दरधा नदी के दाएं-बाएं तटबंधों की ऊंचाई बढ़ाने के लिए 51.41 करोड़, कटिहार में महानंदा बायां तटबंध की ऊंचाई बढ़ाने के लिए 87.31 करोड़, कटिहार में गंगा नदी के बाएं किनारे काटाकोश से गौवागाछी में तटबंध निर्माण के लिए 78.92 करोड़, कमला बलान बायां तटबंध की ऊंचाई बढ़ाने के लिए 61 करोड़, नगरपाड़ा तटबंध की ऊंचाई बढ़ाने के लिए 52.64 करोड़, पीपी तटबंध और चंद्रपुर रिटायर लाइन पर कटाव निरोधक कार्य के लिए 49.15 करोड़, पूर्वी बाह्योत्थान बांध पर कटाव निरोधक कार्य और सड़क निर्माण के लिए 15.59 करोड़, बंधौली-फैजुल्लाहपुर जमींदारी बांध के ऊंचाई बढ़ाने के लिए 32.85 करोड़, गंडक बांध पर रजवटिया गांव में नए तटबंध और गाइड बांध के लिए 60 लाख, सिकरहट्‌टा मंझारी निम्न बांध के लिए 44 करोड़ और कमलाबलान बायां तटबंध की मरम्मत के लिए 47.21 करोड़ रुपए दिए गए हैं।